menubar

breaking news

Friday, February 7, 2020

अयोध्या से बसखारी के बीच बनने वाले फोरलेन सड़क के दौरान बड़ी संख्या में पीडब्ल्यूडी की जमीन पर किए गए अतिक्रमण

अयोध्या-बसखारी फोरलेन की जद में आने वाले मकान ध्वस्त होंगे
अयोध्या से बसखारी के बीच बनने वाले फोरलेन सड़क के दौरान बड़ी संख्या में पीडब्ल्यूडी की जमीन पर किए गए अतिक्रमण हटेंगे। इसके लिए सर्वे और अतिक्रमण चिह्नीकरण का कार्य अंतिम चरण में है। पीडब्ल्यूडी के अधिकारियों का कहना है कि अकबरपुर शहर में फैजाबाद रोड पर से बैंक आफ बड़ौदा बैंक शाखा तक 10 मीटर चौड़ी सड़क बनेगी। रोडवेज से पर ओवरब्रिज से उतरते ही फोरलेन सड़क बनेगी। इस दौरान पीडब्ल्यूडी के जमीन पर किए अतिक्रमण और अवैध कब्जे ध्वस्त किए जाएंगे।अयोध्या से बसखारी तक फोरलेन सड़क बनाने को लेकर हरी झंडी हो चुकी है। पीडब्ल्यूडी की हाईपावर कमेटी ने कांस्ट्रक्शन कम्पनी छात्र शक्ति को ही इसे पुराने दर पर तारकोल से ही बनाने के लिए कहा है। बीच में आरसीसी से सड़क बनाने के बाबत मामला लटका हुआ था। अब जब सड़क बनने की कार्यवाही शुरू हो गई है तो सबसे ज्यादा चोट पीडब्ल्यूडी की जमीन पर अवैध अतिक्रमण करने वालों को पहुंचने वाली है। क्यों कि पीडब्ल्यूडी इस फोरलेन सड़क में कहीं पर भी बाईपास नहीं बनाएगी। इससे स्पष्ट है कि शहरों और बाजारों के बीच से ही होकर ही यह फोरलेन सड़क पीडब्ल्यूडी बनाने जा रही है। जनपद का हिस्सा गोशाईगंज नगर पंचायत के बाद यादवनगर से शुरू होता है। पीडब्ल्यूडी इस समय सड़क बनाने के लिए जमीन का सर्वे करने के साथ ही इसकी जद में आने वाले पेड़, मकान और अन्य चीजों की भी मार्किंग कर रही है। अकबरपुर नगर को छोड़कर हर जगह फोरलन ही सड़क बनेगी। पीडब्ल्यूडी के सहायक अभियंता अजीत यादव ने बताया कि सर्वे का कार्य अंतिम चरण में है। सर्वे के दौरान यह देखा जा रहा है कि कितने पेड़ सड़क निर्माण की जद में आएंगे। इसके लिए वन विभाग को पत्र भेजा जाएगा। वहां से अनापत्ति मिलने के बाद पेड़ों की कटाई की जाएगी। अकबरपुर नगर में नलकूप विभाग के कार्यालय के पास से बैंक आफ बड़ौदा की शाखा तक 10 मीटर चौड़ी सड़क बनेगी। अभी यहां पर सड़क साढ़े सात मीटर चौड़ी है। सबसे ज्यादा दिक्कत शीतला आश्रम से तहसील तिराहा तक रहेगी। यहां पर बड़ी संख्या में पीडब्ल्यूडी की जमीन पर अतिक्रमण किया गया है। यहां पर यदि दोनों तरफ से एक-एक मीटर भी सड़क बनी तो मकानों का आगे का हिस्सा टूटेगा। इसी तरह से मेहरोत्रा पेट्रोल पम्प के बाद ओवरब्रिज है। ओवरब्रिज से उतरते ही फोरलेन सड़क बननी शुरू हो जाएगी। वहां पर भी बड़ी संख्या में अतिक्रमण हटेंगे। हालांकि अधिकारियों का कहना है कि राडवेज के पास से पटेलनगर तक बीच का डिवाइडर ढाई मीटर से कम करके डेढ़ मीटर किया जा सकता है। इससे काफी हद तक लोगों को राहत हो जाएगी। कुर्की बाजार और बरियावन बाजार में भी पीडब्ल्यूडी की जमीन पर अतिक्रमण किया गया है। यहां पर भी सड़क बनने से पहले अतिक्रमण हटाया जाएगा। मसड़का बाजार में भी फोरलेन सड़क बनेगी। यहां पर भी अतिक्रमण हटने के आसार हैं। कटेहरी बाजार में सड़कों से सटाकर भवन निर्माण कराया गया है। इसलिए यहां पर भी अतिक्रमण हटेगा। अधिकारियों का कहना है कि क्यों कि किसी भी बाजार में अभी बाईपास की व्यवस्था नहीं बनाई गई है। इसलिए पीडब्ल्यूडी की जमीन पर अवैध अतिक्रमण करने वालों के खिलाफ कार्रवाई होगी।

No comments:

Post a Comment