menubar

breaking news

Wednesday, February 5, 2020

लोकायुक्त को रु० 354 करोड़ राप्ती मुख्य नहर परियोजना की शिकायत

एक्टिविस्ट डॉ नूतन ठाकुर ने रु० 354 करोड़ के राप्ती मुख्य नहर परियोजना, बहराइच के निर्माण में हो रही गंभीर अनियमितताओं तथा इनमें विभाग के अधिकारियों की मिलीभगत के संबंध में लोकायुक्त  को शिकायत भेजी है.शिकायत में कहा गया है कि अधीक्षण अभियंता, नवम वृत्त, सिंचाई विभाग, बहराइच ने यह काम मेसर्स एसईडब्ल्यू इंफ्रास्ट्रक्चर लिमिटेड, हैदराबाद को सौंपा किन्तु मेसर्स एसईडब्ल्यू द्वारा बिना सक्षम प्राधिकारी की अनुमति के इस कार्य को मेसर्स गोदावरी बिल्डकॉम नासिक, मेसर्स आदिनाथ इन्फ्रास्ट्रक्चर मुंबई तथा मेसर्स ए पी इंजीनियरिंग दिल्ली को मनमाने दरों पर अपने स्तर से सबलेट पुनः आवंटित किया गया, जो गैरकानूनी है.शिकायत के अनुसार मुख्य अभियंता, सरयू परियोजना, अयोध्या सहित सिंचाई विभाग, बहराइच के अधिकारीगण मेसर्स एसईडब्ल्यू के इस गैरकानूनी कार्य से परिचित हैं किन्तु उनके द्वारा जानबूझ कर इसे नज़रंदाज़ किया जा रहा है और कोई कार्यवाही नहीं की जा रही है.अतः नूतन ने इस मामले में मेसर्स एसईडब्ल्यू को दिए गए कार्य आवंटन को निरस्त करने, उसकी प्रतिभूति धनराशि जब्त करने तथा इस अवैध कार्य में सहयोग करने वाले अधिकारियों के खिलाफ कठोर कार्यवाही किये जाने की मांग की है.उन्होंने कहा कि उन्होंने पहले सिंचाई विभाग के प्रमुख सचिव तथा प्रमुख अभियंता को शिकायत की थी किन्तु इस पर कोई कार्यवाही नहीं की गयी.

No comments:

Post a Comment