menubar

breaking news

Thursday, July 19, 2018

भू-जल के संरक्षण एवं संवर्धन हेतु बैठक सम्पन्न

जौनपुर -ं आज सायं कलेक्ट्रेट सभागार मे जिलाधिकारी अरविंद मलप्पा बंगारी की अध्यक्षता में भू-जल के संरक्षण एवं संवर्धन हेतु जन जागरूकता लाने के उद्देश्य से भूजल सप्ताह का आयोजन 16 जुलाई से 22 जुलाई 2018 तक किया जा रहा है बैठक में नागेंद्र सिंह एवं रामजन्म सिंह भू-गर्भ जल विभाग वाराणसी ने ग्राउंड लेवल पर पानी को संरक्षित करने के लिए विस्तार से जानकारी देते हुए बताया कि जनसंख्या के बढ़ते दबाव व पानी की अत्यधिक मांग तथा जल संसाधनों की सीमित उपलब्धता के परिणाम स्वरुप जल आपूर्ति एवं उपलब्ध जल की मात्रा के बीच अंतर बढ़ता जा रहा है, विशेषकर भूगर्भ जल का अनियोजित व असीमित उपयोग किए जाने से एवं विगत कुछ वर्षों से वर्षा में आई कमी से कुछ स्थानों पर भूजल स्तर निरंतर नीचे गिरता जा रहा है, ऐसी दशा में दीर्घकालीन प्रबंधन व संरक्षण की आवश्यकता है। विशेष रूप से वर्षा जल संचयन की परंपरागत तकनीक को अपनाने तथा भूजल संपदा का अपव्यय न हो इस पर गहन विचार करके अपनाने की आवश्यकता एवं समय की मांग भी है। इसी उद्देश्य की पूर्ति हेतु अधिकाधिक जल सहभागिता बढ़ाने के उद्देश्य से भूजल सप्ताह मनाया जा रहा है। इस अवसर पर जिलाधिकारी ने कहा कि पानी को बचाने के लिए प्रत्येक नागरिक को सजग होना पड़ेगा। ज्यादा से ज्यादा बरगद, पाकड़, पीपल जैसे पेड़ लगाए जाएं तथा लोगों को पानी का दुरुपयोग न करने के लिए जागरुक किया जाए। सबसे ज्यादा भू-जल का उपयोग कृषि कार्य के लिए किया जाता है। उन्होंने कहा कि जिले में विभिन्न विभागों को पेड़ लगाने के लिए लक्ष्य दे दिया गया है और ज्यादा से ज्यादा पेड़ लगाए जाने पर ध्यान दिया जा रहा है। 
                              बैठक में जिले में संभावित सूखे की तैयारी की समीक्षा भी की गयी। इस अवसर पर मुख्य विकास अधिकारी आलोक सिंह, अपर जिलाधिकारी वित्त एवं राजस्व आरपी मिश्रा, जिला विकास अधिकारी दयाराम, डीसी मनरेगा कमलेश सोनी एवं संबंधित अधिकारी व कर्मचारीगण उपस्थित रहे।

No comments:

Post a Comment