menubar

breaking news

Thursday, June 7, 2018

एंटी करप्शन टीम के हत्थे चढ़ा बिजली विभाग के बाबू पुष्कर श्रीवास्तव और कम्प्यूटर ऑपरेटर विवेक श्रीवास्तव बीस हजार रूपये लेते रंगे हाथ गिरफ्तार

जौनपुर में आज विजिलेंस  विभाग  की टीम ने एक फौजी की शिकायत पर विद्युत विभाग में छापेमारी कर विद्युत विभाग के 2 कर्मचारियों को ₹20000 घूस लेते हुए गिरफ्तार कर लिया  गिरफ्तार बाबू जौनपुर बिजली विभाग  में बड़े बाबू पुष्कर श्रीवास्तव और कम्प्यूटर ऑपरेटर ,विवेक श्रीवास्तव कम्प्यूटर आपरेटर ने एक फौजी से डेढ़ लाख बिजली बिल को पैतालीस हजार में खत्म करने के लिए  सौदा ,किया था  आज उसी बिल को कम करने के लिए 20 हजार रुपये लेते रंगे हाथ एन्टी करप्शन ने  गिरफ्तार कर लिया। 
एंटी करप्शन टीम ने विद्युत वितरण खंड तृतीय में कार्यरत बाबू पुष्कर श्रीवास्तव व उसके सहयोगी संविदा कर्मी को  घूस लेते रंगे हाथ गिरफ़्तार किया!  पुष्कर श्रीवास्तव विद्युत बिल के बड़े बकाएदारो का विद्युत बिल संशोधन/समायोजन  करने के नाम पर उपभोक्ताओं से मोटी रकम वसूलते हैं जिसकी शिकायत पर कार्यवाही करते हुए एंटी करप्शन टीम ने उक्त बाबू को रिश्वत की रकम के साथ गिरफ़्तार कर थाना लाइन बाजार ले गये जहां आरोपी के विरुद्ध सुसंगत धारा में मुकदमा पंजीकृत किया गया है
इस संबंध में  बिजलेंस   इंस्पेक्टर ने बताया कि विनय कुमार सिंह द्वारा शिकायत किया गया था इनका जनवरी माह तक का बिल जमा है फरवरी में नया मीटर लगवा लिया है जब यह अपना बिल लेने गए तो इन्हें ₹22000  बताया गया उन्होंने बढ़े बिल के बाबत अधिकारियों से मुलाकात किया तो अधिकारियों ने पुष्कर श्रीवास्तव से बात करने की बात कही पुष्कर  श्रीवास्तव ने कहा 50000 के ऊपर का बिल है अपना जमा कर दीजिए यह काफी दौड़ते रहे पीड़ित ने कहा कि  बार-बार मैं दौड़कर आ रहा  हु उसने कहा जितना उतना जमा कर दो नहीं तो दौड़ते रहेंगे इसकी शिकायत विनय कुमार सिंह द्वारा  किया गया था कि उक्त बाबू ₹45000 लेकर काम करने को तैयार है और कहा कि काम होने के पहले ₹20000 और बाद में ₹25000 दे दीजिगा  जिसके तहत आज ₹20000 घूस  पुष्कर श्रीवास्तव द्वारा इन से लिया गया और अपने बगल में बैठे  कंप्यूटर ऑपरेटर मनोज श्रीवास्तव को दे दिया गया है और हमने इन को रंगे हाथ गिरफ्तार कर लिया
वहीं दूसरी तरफ गिरफ्तार बाबू पुष्कर श्रीवास्तव करना है कि इनका बिल  बाकी था  जिसका पैसा जमा करने के लिए ऑपरेटर को दिए  थे टीम द्वारा हमारा हाथ धुलाया गया लाल नहीं हुआ है हमारे साथ और भी दो तीन लोग थे हमें जबरदस्ती लाया गया है.

No comments:

Post a Comment