menubar

breaking news

Thursday, April 12, 2018

प्रभारी मंत्री रीता बहुगुणा जोशी ने समस्त विभागों के अधिकारियों के साथ की कानून व्यवस्था एवं विकास कार्यो की समीक्षा बैठक

VPISजौनपुर। प्रभारी मंत्री महिला कल्याण परिवार कल्याण मातृ एवं शिशु कल्याण, पर्यटन उ.प्र. प्रो. रीता बहुगुणा जोशी की अध्यक्षता में आज 12 बजे से कलेक्ट्रेट सभागार में जनपद के समस्त विभागों के अधिकारियों के साथ कानून व्यवस्था एवं विकास कार्यो की समीक्षा बैठक किया। सर्वप्रथम जिलाधिकारी अरविन्द मलप्पा बंगारी, मुख्य विकास अधिकारी आलोक सिंह, मुख्य चिकित्साधिकारी, डा० ओपी सिंह, पीडी पीके राय, डीडीओ दयाराम आदि ने मंत्री पुष्पगुच्छ देकर स्वागत किया। बैठक में जिलाधिकारी अरविन्द मलप्पा बंगारी ने प्रभारी मंत्री एवं जनप्रतिनिधियों का स्वागत किया। 8 जनवरी की बैठक में दिये गये अधिकारियों को निर्देशों का अनुपालन आख्या बिन्दुवार प्रस्तुत किया गया। जिसमें आईजीआरएस, प्रधानमंत्री आवास योजना ग्रामीण, फसली ऋण मोचन, प्रधानमंत्री सिचाई योजना, मनरेगा, स्वास्थ्य विभाग, गड्ढा मुक्त सड़को, तालाब खुदाई, शौचालय निर्माण, नहरो की सफाई की स्थिति, हैण्डपम्प रिबोर, फसली ऋण मोचन, धान खरीद वर्ष 2017-18, खराब टास्फार्मर, कानून व्यवस्था की समीक्षा किया। जनप्रतिनिधियों द्वारा उठाये गये समस्याओं का निस्तारण समय से करके उसकी सूचना भी उपलब्ध कराने का निर्देश दिया। प्रभारी मंत्री ने कहा कि अगली बैठक में जनप्रतिनिधियों को सूचना न देने वाले अधिकारियों की विरुद्ध कठोर कार्यवाही की जायेगी।
जिलाधिकारी ने बताया कि सम्पूर्ण समाधान दिवस एवं थाना समाधान दिवस पर प्राप्त शिकायतों के गुणवत्तापरक एवं समय पर निस्तारण हेतु जनपद के समस्त जिला स्तरीय अधिकारियों को कडे़ निर्देश दिये गये है कि प्राप्त शिकायतों के त्वरित निस्तारण हेतु रेन्डम जांच भी करायी जा रही है। जिले में प्रत्येक सोमवार को आईजीआरएस एवं मुख्यमंत्री हेल्पलाइन की शिकायतों का गुणवत्तापूर्वक निस्तारण के लिए समीक्षा बैठक की जा रही है। जिलाधिकारी ने बताया कि इसके पहले आईजीआरएस रैकिंग में जिले का स्थान 40 के उपर रहता था  लेकिन आज की तारीख में जिले का स्थान 24वां हो गया है जल्द ही हमारा जिला टाप 10 में होगा। आईजीआरएस के तहत आने वाली शिकायतों को डेटा एनेलेसिस के सहायता से यह पता किया जा रहा है कि किस ग्राम पंचायत में सबसे ज्यादा शिकायते आ रही है और कोई एक व्यक्ति कितनी बार शिकायत कर रहा है। प्रभारी मंत्री ने अधिकारियों से कहा कि 1 से 30 अप्रैल तक विभागों द्वारा किये जा रहे कार्यो को जनप्रतिनिधियों को मेल एवं रजिस्ट्री के द्वारा अनिवार्य रुप से दे। प्रभारी मंत्री ने कहा कि दैवीय आपदा का मुवायजा जनप्रतिनिधियों के द्वारा कराया जाय। विद्युत विभाग द्वारा कैम्प न लगाये जाने पर नाराजगी व्यक्त करते हुए कहा कि कैम्प लगाया जाय और उसमें जनप्रतिनिधियों को भी बुलाया जाय। उन्होंने पूछा कि सौभाग्य योजना के तहत कितने लोगो को कनेक्शन दिया गया और कितनो को बिजली दी जा रही है। प्रभारी मंत्री ने मुख्य चिकित्साधिकारी ओपी सिंह से जिले में एन्टी रैबिज इंजेक्शन की स्थिति, जनपद में चिकित्सकों की संख्या, जिला महिला चिकित्सालय परिसर में निर्माणाधीन 100 बेड मैटरनिटी विंग को हैडओवर कर चलाने में देरी के लिए नाराजगी व्यक्त किया और 30 दिन में चलाने का निर्देश दिया। मा. मंत्री जी ने जिलाधिकारी से छूटे पशुओं की रक्षा के लिए क्या कार्ययोजना बनाई गयी है उसके बारे में जानकारी प्राप्त किया तथा निर्देश दिया कि 15 दिन के अन्दर कार्ययोजना बनाकर अवगत कराये। बेसिक शिक्षा अधिकारी से मंत्री ने जिले में बेसिक शिक्षा परिषद द्वारा संचालित परिषदीय प्राथमिक एवं उच्च प्राथमिक विद्यालयों में शिक्षकों की उपस्थिति एवं पठन-पाठन कार्य की समीक्षा किया। फसली ऋण मोचन योजनान्तर्गत 64844 पात्र कृषकों को कुल 353.96 करोड़ रुपये ऋण मोचन का लाभ दिया जा चुका है। जनपद में कुल 9 नगर पालिका परिषद/नगर पंचायतों के कुल 168 वार्डो के सापेक्ष माह मार्च 2018 तक 92 वार्डो को ओडीएफ घोषित किया जा चुका है। 
इस अवसर पर विधायक केराकत दिनेश चौधरी, विधायक जफराबाद डा० हरेन्द्र सिंह, विधायक बदलापुर रमेश चन्द्र मिश्रा, विधायक मल्हनी पारसनाथ यादव, मड़ियाहूं प्रतिनिधि डा० श्यामदत्त दूबे, सांसद प्रतिनिधि मछलीशहर विजय चन्द्र पटेल, राज्यमंत्री प्रतिनिधि अजय कुमार सिंह, समशेर सिंह, भागवत पाण्डेय, सीडीओ आलोक सिंह, एडीएम रामआसरे सिंह, आर0पी0मिश्र, डीडीओ दयाराम, उपायुक्त मनरेगा कमलेश सोनी, पीडी पीके राय, जिला सेवायोजन अधिकारी राजीव सिंह, डीएसटीओ रामदरश यादव, अधी.अभि. लोनिवि केजी सारस्वत, विद्युत एससी सोनोदिया, बीएसए डाॅ. राजेन्द्र प्रसाद सहित अन्य अधिकारीगण उपस्थित रहे।

No comments:

Post a Comment