menubar

breaking news

Wednesday, April 11, 2018

लोक अदालत में अधिक से अधिक वाद चिन्हित कर निस्तारण कराना करें सुनिश्चित

vijay newजौनपुर। 22 अप्रैल को आयोजित होने वाली राष्ट्रीय लोक अदालत में बैंक के प्रीलिटिगेशन वादों के अधिकाधिक निस्तारण कराये जाने के सम्बन्ध में विचार विमर्श हेतु जनपद न्यायाधीश/अध्यक्ष जिला विधिक सेवा प्राधिकरण जौनपुर की अध्यक्षता में विश्राम कक्ष में 4.30 बजे से बैठक की गयी। 
इस अवसर पर अशोक कुमार अपर जिला जज/विशेष न्यायाधीश ई.सी. एक्ट/नोडल अधिकारी राष्ट्रीय लोक अदालत एवं सचिव जिला विधिक सेवा प्राधिकरण लोकेश वरूण व एल.डी.एम. यूनियन बैंक आफ इण्डिया, स्टेट बैंक आफ इण्डिया, बैंक आफ बड़ौदा, बैंक आफ इण्डिया, पंजाब नेशनल बैंक, एक्सिस बैंक आई.डी.बी.आई. ओरियण्टल बैंक आफ कामर्स, इण्डियन ओवर सीज बैंक के शाखा प्रबन्धक/प्रतिनिधि व बैंक अधिवक्ता अतुल कुमार श्रीवास्तव, विनोद कुमार गुप्ता उपस्थित हुए।
जनपद न्यायाधीश द्वारा बैठक को सम्बोधित करते हुए समस्त शाखा प्रबन्धक व अधिवक्तागण को निर्देंशित किया गया कि इस लोक अदालत में अधिक से अधिक वाद चिन्हित कर निस्तारण कराना सुनिश्चित करें, इसमें आने वाली समस्यों से मुझे अवगत कराये, उसका समाधान कराया जायेगा। इस पर शाखा प्रबन्धक व अधिवक्तागण द्वारा निस्तारण में पूर्ण सहयोग हेतु प्रतिबद्धता जाहिर किया गया तथा मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट की अध्यक्षता में विचार विमर्श हेतु समस्त न्यायिक मजिस्ट्रेटगण की बैठक 1.30 बजे आहूत की गयी, जिसमें लघु फौजदारी के अधिक से अधिक वादों के निस्तारण के सम्बन्ध में मजिस्ट्रेटगण को निर्देशित किया गया।

No comments:

Post a Comment