menubar

breaking news

Monday, April 2, 2018

एससी/एसटी एक्ट में बदलाव के खिलाफ हो रहे प्रदर्शन में आधा दर्जन से अधिक लोगों की मौत

नई दिल्ली। दलित संगठन एससी/एसटी एक्ट में बदलाव के खिलाफ सोमवार को देशभर में प्रदर्शन कर रहे हैं।  भारत बंद के आह्वान पर देश के अलग-अलग शहरों में दलित संगठन और उनके समर्थकों ने ट्रेन रोकीं और सड़कों पर जाम लगाया। 
सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार यूपी से लेकर बिहार, मध्यप्रदेश और राजस्थान समेत कई राज्यों में तोड़फोड़, जाम और आगजनी की घटनाएं सामने आई हैं। देशभर में भड़की हिंसा में अब तक 7 लोगों की जान जा चुकी है. मध्यप्रदेश और राजस्थान के अलग-अलग इलाकों में हालात काफी नाजुक हैं। एमपी में 5 जबकि यूपी और राजस्थान में एक-एक व्यक्ति की मौत हो गई है, जबकि राजस्थान के बाडमेर में हिंसक झड़प में 25 लोग घायल हुए हैं। 
सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर एससी/एसटी एक्ट में कई बदलाव हुए थे। जिसके बाद केंद्र सरकार पर आरोप लग रहे हैं कि अदालत में इस मामले पर मजबूती से पक्ष नहीं रखा गया। जिसके विरोध में आज दलित संगठनों की तरफ से भारत बंद बुलाया गया। हालांकि, सरकार ने अब इस मामले पर सुप्रीम कोर्ट में पुनर्विचार याचिका दाखिल कर दी है. लेकिन सुबह से पूरे देश से हिंसा की खबरें आ रही हैं। बसपा सुप्रीमों मायावती ने हिंसा की निंदा की है, लेकिन उन्होंने एससी-एसटी एक्ट का समर्थन किया है। उन्होंने आरोप लगाया कि कुछ लोगों ने हिंसा भड़काई है। साथ ही यह मांग भी की जिन्होंने हिंसा फैलाई उनके खिलाफ एक्शन होना चाहिए। कई शहरों में पुलिस थानों को भी निशाना बनाया गया है।  साथ ही सरकारी वाहनों में आगजनी की गई है। प्रदर्शनकारियों के बवाल के चलते कई रूट पर ट्रेनें चल नहीं पाईं। साथ ही कई हाईवे घंटों तक जाम रहे। 

No comments:

Post a Comment