menubar

breaking news

Sunday, April 8, 2018

अक्षय तृतीया के दिन माँ लक्ष्मी की पूजा करने से होते हैं सारे दुःख दूर, जानें पूजा का शुभ मुहुर्त

Image result for images of akshay tritiya
जौनपुर। दान-पुण्य का महापर्व अक्षय तृतीया 18 अप्रैल को मनाई जाएगी। अक्षय तृतीया के दिन माँ लक्ष्मी की पूजा करने से उनकी अद्भुत कृपा दृष्टि होती है। सारे दुःख क्लेश दूर हो जाते हैं। भगवान परशुराम जयंती भी मध्याह्न योग के चलते इसी दिन मनाई जाएगी। अक्षय तृतीया पर मांगलिक कार्यों के साथ ही सुबह से रात तक खरीददारी के श्रेष्ठ मुहूर्त हैं।
आचार्य के अनुसार वैसे तो सुबह से रात तक खरीददारी के कई मुहूर्त हैं, लेकिन सुबह सात बजे से सोना-चांदी, जमीन, खेत, प्रॉपर्टी खरीदने के लिए उत्तम मुहूर्त है, वहीं इलेक्ट्रॉनिक आइटम खरीदने के लिए दोपहर का समय बेहतर रहेगा।
ज्ञात हो कि 18 अप्रैल की भोर 4:48 बजे से तृतीया का मान शुरू हो जाएगा, जो कि अगले दिन 19 अप्रैल को भोर 3 बजे के आसपास तक रहेगा। चूंकि भगवान परशुराम की जयंती मध्याह्न योग और तृतीया में मनाये जाने की परंपरा है, इसीलिए परशुराम जयंती 18 अप्रैल की दोपहर को ही मनाई जाएगी।
दिन भर अक्षय तृतीया का मान होने के चलते बंपर वैवाहिक मुहूर्त, शॉपिंग के मुहूर्त सुबह से मिल रहे हैं। सुबह भोर के अलावा शाम को 5:58 बजे से रात 8:14 बजे तक पूजन उत्तम रहेगा।

No comments:

Post a Comment