menubar

breaking news

Friday, April 13, 2018

उन्नाव गैंगरेप मामले में सस्पेंड किए गए 6 पुलिसकर्मी सीबीआई की हिरासत में, हाईकोर्ट ने सीबीअाई से 2 मई तक मांगी प्रगति रिपोर्ट

Image result for images of allahabad highcourtलखनऊ। उन्नाव गैंगरेप कांड पर इलाहाबाद हाईकोर्ट में सुनवाई हुई। जिसमें हाईकोर्ट ने सीबीअाई की टीम से 2 मई तक प्रगति रिपोर्ट मांगी है। 
सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार इलाहाबाद उच्च न्यायालय ने यह भी कहा कि विधायक को गिरफ्तार किया जाना चाहिए, न सिर्फ हिरासत में लिया जाना चाहिए। 
मालूम हो कि सीबीआई ने उन्नाव में ताबड़तोड़ छापेमारी शुरू कर दी है। गुरुवार के तड़के भाजपा विधायक कुलदीप सिंह सेंगर को हिरासत में लेने के बाद सीबीआई उन्नाव पहुंची। सूत्रों के अनुसार सस्पेंड किए गए 6 पुलिसकर्मियों को सीबीआई ने हिरासत में ले लिया है।
उन्नाव गैंगरेप की पीड़िता का बयान लेने के लिए सीबीआई की दस सदस्यीय टीम सुबह 10 बजे उन्नाव के उस होटल में पहुंची जहां पीड़ित परिवार को प्रशासन ने ठहराया है। होटल में पीड़िता और उसके परिवार के बयान लिए जा रहे हैं।
वहीं, चार सदस्यीय टीम माखी थाने पहुंची है। यहां धाराओं में हेरफेर करने वाले और पीड़िता के पिता को जेल में डालने वाले एसओ अशोक सिंह भदौरिया, हलका इंचार्ज कामता प्रसाद से पूछताछ की जा रही है।
विधायक कुलदीप सेंगर के क्षेत्र बांगरमऊ थाने के इंसपेक्टर अरुण देव द्विवेदी को टीम ने होटल में बुलाया है। उनसे भी पूछताछ की जा रही है। उन पर आरोप है कि पीड़िता ने जो शिकायतें दर्ज कराईं और जो अभिलेख कोर्ट में पेश किए गए, उन अभिलेखों से अरुण देव ने छेड़छाड़ की है।
सीबीआई टीम उन्नाव के सीएमओ डॉ. एसपी चौधरी को डीएम ऑफिस में बुलाकर पूछताछ कर रही है। इसके अलावा जिला अस्पताल की सीसीटीवी फुटेज देखने के बाद उसे सुरक्षित रखने के भी निर्देश सीएमएस डॉ. डीके द्विवेदी को दिए हैं। 

No comments:

Post a Comment