menubar

breaking news

Thursday, March 29, 2018

डा० मनोज मिश्र को आउट स्टैंडिंग अचीवमेंट एवं डा० सुधीर को यंग साइंटिस्ट एवार्ड से किया गया सम्मानित

जौनपुर। वीर बहादुर सिंह पूर्वांचल विश्वविद्यालय के जनसंचार विभाग के अध्यक्ष डा० मनोज मिश्र को आउटस्टैंडिंग अचीवमेंट इन साइंस कम्युनिकेशन एवं पर्यावरण विज्ञान विभाग के डा० सुधीर उपाध्याय को यंग साइंटिस्ट अवार्ड से धनबाद सम्मेलन में सम्मानित किया गया।
गुरुवार को धनबाद झारखंड में चल रहे अंतरराष्ट्रीय सम्मेलन के दौरान सम्मेलन के मुख्य अतिथि पटना आईसीएआर के निदेशक डा० बीपी भट्ट, एग्रीकल्चर विश्वविद्यालय मॉरीशस के डा० भानुदत्त लालजी एवं यूनाइटेड नेशन में फ़ूड एवं एग्रीकल्चर ऑर्गनाइजेशन के सदस्य एवं भारतीय चावल अनुसन्धान केंद्र हैदराबाद के प्रधान वैज्ञानिक डा० बृजेन्द्र परमार ने डा० मिश्र को अंगवस्त्रम, स्मृतिचिन्ह एवं प्रमाणपत्र देकर  सम्मानित  किया। 
इस अवसर पर मंच पर ओहियो विश्वविद्यालय यूएसए की डा० अस्मितामुरुमकर, यूनाइटेड नेशन फेडरेशन के डा० सिओसिवा हलावताऊ टोंगा सहित देश विदेश के वैज्ञानिक, शिक्षाविद एवं शोधार्थी उपस्थित रहे। विदित हो कि 29 मार्च से 31 मार्च तक खाद्य सुरक्षा के लिए स्थाई कृषि विषयक अंतर्राष्ट्रीय सम्मेलन वेडलाक ग्रीन रिसॉर्ट धनबाद में आयोजित है। इस सम्मेलन में डा० मनोज मिश्र नें खेती- किसानी के दौरान सर्पदंश की घटनाओं में अंधविश्वास एवं असावधानी के चलते होने वाली मौतों पर जागरूकता हेतु अपना शोध पत्र प्रस्तुत किया है। डा० मिश्र सर्पदंश से पीड़ित लोगों में भ्रांतियों के निराकरण के लिए विगत कई वर्षों से सक्रिय  हैं। आम लोगों में इस वैज्ञानिक जागरूकता के लिए हाल ही में देश की प्रतिष्ठित विज्ञान पत्रिका साइंस रिपोर्टर में उनके इस प्रयास की सराहना की गई थी। डा० सुधीर उपाध्याय नें पर्यावरण की अनुकूलता को बनाए रखने के साथ ही बैक्टीरिया के उपयोग से बंजर भूमि में सभी फसलों की अच्छी पैदावार को लेकर अपना शोध प्रस्तुत किया । इस उपलब्धि पर विश्वविद्यालय  के शिक्षकों ने डा० मिश्र एवं डा० उपाध्याय को बधाई दी है।

No comments:

Post a Comment