menubar

breaking news

Thursday, March 29, 2018

जौनपुर में 15 मई तक धारा 144 लागू, परीक्षा केंद्रों के 200 मी0 की परिधि में ध्वनि विस्तारण यन्त्रों का प्रयोग पूर्णतया रहेगा प्रतिबन्धित

परीक्षा केन्द्र परिसर के अन्दर कोई भी व्यक्ति नकल विरोधी अधिनियम में वर्णित सामग्रियों को लेकर नहीं जायेगा
जौनपुर। अपर जिला मजिस्ट्रेट रमेश प्रसाद मिश्र ने बताया कि इस वर्ष वीर बहादुर सिंह पूर्वाचल विश्व विद्यालय परीक्षा 2018 दिनांक 12 मार्च, से 14 मई तक जनपद के विभिन्न परीक्षा केन्द्रो पर, उत्तर प्रदेश माध्यमिक सस्कृत शिक्षा परिषद् लखनऊ द्वारा संचालित परीक्षा जनपद के विभिन्न परीक्षा केन्द्रो पर आयोजित की गई है तथा माध्यमिक शिक्षा परिषद (उ0प्र0) की हाई स्कूल एवं इण्टरमीडिएट परीक्षा की कापियों का मूल्यांकन भी जनपद के कतिपय मूल्यांकन केन्द्रों पर प्रारम्भ होगा। विश्वस्त सूत्रों से मुझे यह प्रतीत कराया गया है कि उक्त परीक्षाओें के दौरान परीक्षा केंद्रों के आस पास काफी भीड़ एकत्र होती है तथा परीक्षा की सुचिता को प्रभावित करने की सम्भावना बनी रहती है साथ ही साथ मूल्यांकन केन्द्रो पर शान्ति एवं विधि व्यवस्था बनाये रखना भी आवश्यक है। ऐसी दशा मे मेरा समाधान हो गया है कि उक्त स्थिति में उपर्युक्त आयोजित परीक्षाओें एवं मूल्यांकन के दौरान जनपद की कानून एवं शान्ति व्यवस्था बनाये रखने व उसे सकुशल सम्पन्न कराने एवं अराजक तत्वों द्वारा विधि विरूद्ध समस्त कार्यो को अनिवार्य रूप से रोका जाना आवश्यक एवं अपरिहार्य हो गया है। 
अतः मैं उपरोक्त से संस्तुष्ट होेते हुए धारा 144 द0प्र0सं0 के अन्तर्गत प्रदत्त शक्तियों का प्रयोग करते हुए तात्कालिक प्रभाव से निशेधाज्ञा पारित करता हूं इस अवधि में परीक्षा केन्दो के आस पास 200 मी0 की परिधि में ध्वनि विस्तारण यन्त्रो का प्रयोग पूर्णतया प्रतिबन्धित रहेगा। कोई भी व्यक्ति लाठी, डण्डा, बल्लम, स्टिक या आग्नेयास्त्र आदि लेकर नहीं चलेगा और न ही विस्फोटक पदार्थ, गड़ासा एवं अन्य धारदार हथियार लेकर भ्रमण करेगा। केवल प्रशासनिक कार्यो में रत अधिकारी/कर्मचारी इस प्रतिबंध से मुक्त रहेगे। लाठी डन्डे का प्रतिबंधन अंधे एवं विकलांग व्यक्तियों पर लागू नहीं होगा। पांच या पांच से अधिक व्यक्ति किसी भी सार्वजनिक स्थल पर एकत्रित नहीं होंगे और न ही कोई भीड़ एकत्र करेंगा। यह प्रतिबंध पारम्परिक सांस्कृतिक कार्यक्रमों जुलूसों जलसों एवं मेला की भीड़ पर लागू नहीं होगा। कोई भी व्यक्ति बिना अनुमति के विस्फोटक पदार्थ तेज आवाज करने वाला पटाखा नहीं बजायेगा और न ही बिक्री करेगा। परिक्षार्थियो को किसी प्रकार के शस्त्रादि लेकर परीक्षा स्थल की परिधि मे जाने की अनुमति नही होगी तथा इसका उल्लघंन भा0द0वि0 की धारा 188 के अन्तर्गत दण्डनीय अपराध होगा। कोई भी व्यक्ति उत्तेजनात्मक भाषण नहीं देगा, जिससे किसी सम्प्रदाय के व्यक्तियों की भावना को ठेस पहुचें। परीक्षा अवधि मे किसी व्यक्ति/व्यक्तियो द्वारा परीक्षा से सम्बन्धित किसी कर्मी के प्रति आपराधिक/धमकी भरा व्यवहार नही करेगा, यदि ऐसा किसी के द्वारा किया जाता है तो उसके विरूद्ध त्वरित प्रभावी विधिक कार्यवाही की जायेगी। कोई भी व्यक्ति ऐसा कोई विधि विरूद्ध कार्य नहीं करेगा, जिससे कि लोक परशांति एवं लोक व्यवस्था की समस्या उत्पन्न हो। कोई भी व्यक्ति सार्वजनिक स्थल, धार्मिक स्थल या अपने मकान के अन्दर या छतों पर ईट, पत्थर टुकड़े आदि एकत्र नहीं करेगा और न ही किसी जीव पर घातक रसायन आदि का प्रयोग करेगा। परीक्षा केन्द्र परिसर के अन्दर कोई भी व्यक्ति नकल विरोधी अधिनियम में वर्णित सामग्रियों यथा सेलुलर फोन कैलकुलेटर, पेन स्कैनर, पेजर, आदि, इलेक्ट्रानिक उपकरण को लेकर परीक्षा केंद्र के अन्दर नहीं जायेगा। कोई भी व्यक्ति परीक्षा केन्द्र पर परीक्षा केन्द्र के अन्दर या बाहर से किसी भी माध्यम द्वारा किसी प्रकार की अनुचित सहायता पहुंचाने का प्रयास नहीं करेगा। परीक्षार्थियों के अतिरिक्त परीक्षा केन्द्रों के 200 मीटर परिधि में पांच या पांच से अधिक व्यक्ति एकत्रित नहीं होंगे। कोई भी व्यक्ति अनुचित मुद्रण अथवा प्रकाशन द्वारा परीक्षार्थियों को गुमराह करने का प्रयास नहीं करेगा। मूल्यांकन केन्द्रो पर कोई भी अनधिकृत व्यक्ति प्रवेश नही करेगा। यह आदेश जनपद जौनपुर मे जहां  परीक्षा केंन्द्र/मूल्यांकन केन्द्र बने है, की सीमाओं के अन्तर्गत समस्त शहरी एवं ग्रामीण क्षेत्रों/समस्त थाना क्षेत्रों में तत्काल प्रभाव से लागू होगे, तथा यह आदेश उन समस्त व्यक्तियों को सम्बोधित किये जाते है, जो सामान्य रूप से इन क्षेत्रों में निवास करेंगे अथवा आवागमन करेंगे। इस आदेश का उल्लंघन भा0द0वि0 की धारा 188 के अन्तर्गत दण्डनीय अपराध होगा।
चूंकि समय कम है। अतः आपातिक परिस्थितियों एंव लोक परिशांति के हित में आदेश के क्रियान्वयन की तात्कालिकता के औचित्य को दृष्टिगत रखते हुए एकपक्षीय रूप से पारित किया जाता है। इसका व्यापक प्रचार प्रसार, जिला मुख्यालय, तहसीलों, न्याय पंचायत, नगर पालिका परिषद, नगर पंचायतों, रेलवे एवं बस स्टेशनों के नोटिस बोर्डो पर चस्पा कर तथा थानों के माध्यम से समुचित साधनों से भी किया जाय।
यह आदेश दिनांक 28 मार्च से 15 मई तक लागू रहेंगा यदि इसके पूर्व इसे वापस न ले लिया जाय। यह आदेश मेरे हस्ताक्षर एवं न्यायालय की मुद्रा से 28 मार्च को जारी किया गया।                                   

No comments:

Post a Comment