menubar

breaking news

Sunday, February 25, 2018

जौनपुर में स्वास्थ्य विभाग की बड़ी लापरवाही आई सामने ,ट्रैन की चपेट में आई महिला की समय से इलाज न होने से हुई मौत


जौनपुर -प्रदेश सरकार  के मुखिया योगी आदित्यनाथ भले ही स्वास्थ्य विभाग में ऑल इन ओके की बात कर रहे हो लेकिन जौनपुर  स्वास्थ्य विभाग के लचर रवैए  के चलते ट्रैन की चपेट में आई घायल  महिला की  डाक्टर के नदारत होने से  ,समय से समुचित इलाज न होने से मौत हो गयी।
जहां  एक तरफ शासन का सख्त निर्देश है की कोई भी स्वास्थ्य केंद्र का डाक्टर  बिना  उच्चाअधिकारियो की अनुमति   के  सेंटर  नहीं छोड़ेगा , बावजूद इसके प्राथमिक स्वास्थ केंद्र  सोधी  के डाक्टर मौके पर न रहने से घायल महिला की  ,समय से समुचित इलाज न होने से जान गवानी पड़ी।
लगता है की ऐसे गैर जिम्मेदार चिकित्सको  को  शायद इस बात का जरा सा भी खौफ नहीं है की सरकार बदलने को एक साल होने को है लेकिन वे अभी सपा  सरकार के ढर्रे पर  अभी भी चल रहे है।
जहां  तक जिले के सीएमओ की बात है वे भी ऐसे गैर अनुशासित चिकित्सको की नकेल नहीं कस पा रहे  है ,उसके पीछे दो कारण हो सकता है या तो ऐसे लापरवाह चिकित्सक का सत्ता के गलियारे में अच्छी पैठ हो या साहब का  कही न कही से ऐसे नकारा डाक्टरों पर कृपादृष्टि  हो।
इस पुरे मामले पर क्षेत्र के प्रबुद्धजनो ने प्रदेश सरकार के मुखिया योगी आदित्यनाथ से मांग की है की जौनपुर स्वास्थ्य विभाग में येन केन प्रकारेण   कुंडली  मारकर  बैठे कतिपय  चिकित्सको व कर्मियों की संघिग्ध  आचरण की प्रदेश स्तर पर कोई भरोसे मंद जांच समिति बना कर जांच कराई जाये,तो  वास्तविक स्थिति स्वयं उजागर होगी।
 पुरा मामला जनपद के शाहगंज तहसील क्षेत्र के प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र सोधी से जुड़ा है।
मिली खबरों के अनुसार आज 75 वर्षीय एक महिला खेतासराये  रेलवे स्टेशन पर ट्रैन की चपेट में आने से जख्मी हो गयी, जहां स्टेशन पर तैनात स्टेशन मास्टर आशीष कुमार सैनी ने अपने दायित्वो का निर्वहन करते हुए तत्काल 108 नबर एम्बुलेंस सेवा को काल  कर  मौके पर बुलाया  और स्टाफ के कर्मियों की मदद से उसे तत्काल प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र सोधी पहुंचवाया लेकिन मौके पर डाक्टर मौजूद नहीं पाए गए जिस पर एम्बुलेंस के ड्राइबर ने प्रभारी चिकित्साघिकारी  को फोन किया बावजूद इसके उनका पता नहीं चला , चालक ने स्थिति की गंभीरता को देखते हुए घायल महिला को सामुदायिक स्वास्थ  केंद्र  शागंज पहुंचाया लेकिन तब तक बहुत विलम्व   हो गया था  , घायल महिला की रास्ते में ही मौत हो गयी थी चिकित्सको ने महिला को मृत्व घोषित कर दिया।
क्षेत्रीयजनो ने  प्रदेश सरकार  के मुखिया योगी आदित्यनाथ से मांग की है की पुरे मामले की जांच करा कर दोषी पाए जाने पर  चिकित्सक के विरुद्ध कड़ी कार्यवाही की जाए ताकि शासन सत्ता के प्रति जनता में  एक अच्छा सन्देश  जाए।

No comments:

Post a Comment