menubar

breaking news

Sunday, February 11, 2018

केंद्रीय मंत्री उमा भारती ने अब चुनाव लड़ने से किया मना जाने क्यों ?

नई दिल्ली -  केंद्रीय मंत्री और भारतीय जनता पार्टी की अत्यंत मुखर नेता के तौर पहचानी जाने वाली साध्वी उमा भारती ने अब चुनाव न लड़ने का फैसला कर लिया है।  उन्होंने यह बात रविवार को कही। झांसी से सांसद उमा भारती ने संवाददाताओं से अपनी उम्र और स्वास्थ्य का हवाला देते हुए कहा, 'अब मैं कोई चुनाव नहीं लड़ूंगी, मगर पार्टी के लिए काम करती रहूंगी।  उन्होंने कहा कि वह दो बार सांसद रही हैं और पार्टी के लिए काफी काम किया है, उसी के चलते इतनी कम उम्र में उनका शरीर जवाब देने लगा है। कमर और घुटनों में दर्द के चलते चलने-फिरने में परेशानी होती है।  लेकिन पार्टी के लिए प्रचार करती रहेंगी।  राम मंदिर के सवाल पर उन्होंने कहा कि न्यायालय अपना फैसला सुना चुका है, लिहाजा आपसी सहमति से राम मंदिर का निर्माण हो जाना चाहिए।  बता दें कि 90 के दशक में उमा भारती राम मंदिर आंदोलन का बड़ा चेहरा थीं।  6 दिसंबर 1992 को बाबरी विध्वंस के दौरान खुशी के मारे वो मुरली मनोहर जोशी के कंधों पर सवार हो गई थी।  बाबरी विध्वंस मामले में वो आरोपी हैं।  गौरतलब है कि उमा भारती खजुराहो, भोपाल के बाद मौजूदा समय में झांसी से सांसद हैं। वे बड़ा मलेहरा और चरखारी से विधायक रह चुकी हैं वे बुंदेलखंड की बड़ी प्रभावशाली नेता और पूरे देश में हिंदूवादी नेता के तौर पर अपनी पहचान रखती हैं। 

No comments:

Post a Comment