menubar

breaking news

Friday, January 19, 2018

83,753 स्टूडेंट इस बार नहीं दे पाएंगे 10वीं-12वीं की परीछा , UP बोर्ड ने किया डिबार्ड जानिए क्यों ?

इलहाबाद - माध्यमिक शिक्षा परिषद ने 2018 की हाईस्कूल और इंटरमीडिएट परीक्षा से 83,753 अभ्यर्थियोंं के प्रवेश पत्र पर रोक लगा दी है। यह सभी प्राइवेट परीक्षार्थी हैं। ये छात्र एवं छात्राए फर्जी दस्तावेज के आधार पर रजिस्ट्रेशन करा कर बोर्ड की परीक्षा में शामिल होना चाह रहे थे। इस गड़बड़ी का खुलासा उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षा परिषद की जांच में हुआ। बोर्ड ने इनका नाम परीक्षार्थियों की सूची से बाहर करते हुए प्रवेश पत्र जारी करने पर रोक लगा दी है।हाईस्कूल के सर्वाधिक फर्जी छात्रों ने भरा था फॉर्म।
- यूपी बोर्ड ने इन 83, 753 परीक्षार्थियों का नाम परीक्षा सूची से हटाया है, उनमें सर्वाधिक 49, 384 हाई स्कूल के लिए फॉर्म भरा गया था। इंटरमीडिएट की परीक्षा के लिए 34, 369ने आवेदन किया था।
- यूपी बोर्ड की हाईस्कूल की परीक्षा में 37 लाख 12 हजार 508 व इंटरमीडिएट में 30 लाख 17 हजार 32 यानी कुल 67 लाख 29 हजार 540 परीक्षार्थी शामिल होंगे।
- 6 फरवरी से शुरू हो रही बोर्ड की परीक्षा के लिए 1 जनवरी के सेकंड वीक में विद्यार्थियों का प्रवेश पत्र जारी होना है, केंद्र निर्धारण हो चुका है और विद्यार्थियों का रोल नंबर अलॉट होना है।
- हाईस्कूल की परीक्षा कुल 14 कार्य दिवसों में होनी है, जो 22 फरवरी तक होगी। वहींए इंटर का एग्जाम 25 कार्य दिवस में होना है। यह परीक्षा 10 मार्च 2018 तक चलेगी।

No comments:

Post a Comment