menubar

breaking news

Saturday, December 16, 2017

प्रियंका गाँधी ने रायबरेली से चुनाव लड़ने की अटकलों को किया ख़ारिज

                 रायबरेली से सोनिया गांधी ही लड़ेगी चुनाव
 सोनिया गाँधी ,इन्द्रा   व राज्य की हत्या को याद कर हुई मनमाहित।
नईदिल्ली -कांग्रेस की राष्ट्रीय अध्यछ के रूप में अपने अंतिम सम्बोधन में पति राजीव गांधी एवं सास इन्द्रा गाँधी   की हत्या को यादकर सोनिआ गाँधी मंच पर मनमाहित हो गई ,जिसे देखकर हर एक की आँखे  नम्र हो गई। मौका था राहुल गाँधी कांग्रेस राष्ट्रीय अध्यछ के रूप में ताजपोशी का।
अपने सम्बोधन में सोनिया गाँधी कही की राजीव गाँधी से सादी  के बाद मै राजनीती से परिचित हुई यह एक क्रांतिकारी परिवार था।  इन्द्रा  गाँधी  इस परिवार की बेटी थी जिस परिवार ने देश की आज़ादी के लिए अपना धन दौलत और पारिवारिक जीवन त्याग दिया था। इस परिवार का  सिर्फ एक लछ्य था। की भारत देश विकासशील हो।
उनोन्हे कहा की भारत के पूर्व प्रधानमंत्री इन्द्रा  गाँधी ने मुझे बेटी की तरह अपनाया और उन्ही से मैंने भारत की संस्कृति को सीखा।
जब आतंकिओ ने १९८४ में इंद्रा गाँधी की हत्या कर दी, तब  मुझे यह एहसास हुआ की जैसे मुझसे मेरी माँ छीन ले गई। कुछ वर्षो बाद मुझे एहसास हुआ की कांग्रेस कमजोर हो रही है। और साम्प्रदयिक ताकते उभर रही है।
बताते चले की ३१ अक्टूबर १९८४ में भारत की प्रथम प्रधान मंत्री इंद्रा  गाँधी के  ,उन्ही के अंगरछको ने उनके निर्मम हत्या कर दी थी। जबकि बमबेल्ट का प्रयोग कर तमिलनाडु में २१मई १९९१ में राजीव गाँधी की हत्या कर दी थी।  

No comments:

Post a Comment