menubar

breaking news

Sunday, December 10, 2017

विश्व मानवाधिकार दिवस पर एक गोष्ठी का किया गया आयोजन

VPITS
जौनपुर। जिला विधिक सेवा प्राधिकरण जौनपुर के तत्वावधान में प्रभारी जनपद न्यायाधीश अजय त्यागी के निर्देशन में विश्व मानवाधिकार दिवस पर एक गोष्ठी का आयोजन महिला सामाख्या केन्द्र नईगंज में किया गया। बैठक/गोष्ठी की अध्यक्षता सचिव/सिविल जज रवि यादव ने करते हुए मानवाधिकार का महत्व, इसके उल्लंघन पर दण्ड की व्यवस्था तथा मानवाधिकारों की व्यापक स्थिति पर विस्तार से प्रकाश डालते हुए कहा कि मानवाधिकार सर्वोपरि है। उन्होंने कहा कि यह महिला एवं किशोरियों के सशक्तीकरण तथा जन जागरूकता से ही मानवाधिकार का प्रभावी  विकास होगा। इस अवसर पर डाॅ. दिलीप कुमार सिंह संधिकर्ता ने कहा कि मानवाधिकार हर एक मनुष्य को जन्म से मृत्यु तक प्राप्त अधिकार की जानकारी दिया तथा बताया कि मानवाधिकार के बगैर सभ्य समाज की कल्पना असम्भव है। यह अधिकार जेल में बन्द लोगों, अपराधिधियों, आतंकवादियों तक को केवल मनुष्य होने के कारण प्राप्त है। रामायण में हनुमान व विभीषण तथा महाभारत में श्रीकृष्ण का संधिकर्ता के रूप में प्राप्त मानवाधिकार इसका उदाहरण है। इसी क्रम में मनोज कुमार वर्मा रिटेनर, चन्दन राय बाल संरक्षण अधिकारी आदि वक्ताओं ने हिन्दुस्तान मानवाधिकार आयोग, विश्व मानवाधिकार आयोग, संयुक्तराष्ट्र संघ आदि संस्थानों द्वारा मानव जाति के लिए किये जा रहे प्रयासों का उल्लेख किया। इस अवसर पर रजनी सिंह जिला महिला समन्वयक एवं अन्य महिलाओं ने महिला सामाख्या केन्द्र जौनपुर ने नारी अदालत, महिला बचत समूह, संजीवनी केन्द्र तथा महिला सशक्तीकरण विशेषकर किशोरियों के सशक्तीकरण एवं विकास के बारे में विस्तार से प्रकाश डाला।
इस अवसर पर महिला सामाख्या केन्द्र की महिलाएं, संभ्रांत, गणमान्य व्यक्ति, मीडिया आदि उपस्थित रहे। इस समारोह का संचालन डाॅ0 दिलीप कुमार सिंह संधिकर्ता ने किया एवं आभार जिला महिला समन्वयक रजनी सिंह ने व्यक्त किया ।
 
                   

No comments:

Post a Comment