menubar

breaking news

Tuesday, November 7, 2017

वित्तविहीन स्कूल प्रति वर्ष अध्यापकों की वेतन वृद्धि के अनुपात में ही बढ़ा सकेंगे फीस

Image result for PICS OF CM YOGI
लखनऊ। फीस वसूली के नाम पर छात्रों और अभिभावकों का शोषण करने वाले वित्तविहीन स्कृलों पर यूपी की  योगी सरकार शिकंजा कसेगी।
सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार 20 हजार रुपये से अधिक सालाना फीस वसूलने वाले केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड, यूपी माध्यमिक शिक्षा बोर्ड और इंडियन सर्टिफिकेट ऑफ सेकेंडरी एजुकेशन से संबद्ध वित्तविहीन स्कूल अधिकतम 5 फीसदी फीस ही बढ़ा सकेंगे। ये स्कूल हर साल 15-20 फीसदी तक फीस बढ़ा देते हैं।
सूत्रों की माने तो सीएम योगी के सामने इसका प्रजेंटेशन होगा। योजना के अनुसार, 20 हजार रुपये से अधिक फीस वसूलने वाले स्कूलों में कक्षा के अनुसार फीस निर्धारित की जाएगी और किताबों, यूनिफार्म और सह शैक्षणिक गतिविधियों के नाम पर वसूली जाने वाली राशि को भी नियंत्रित कराया जाएगा।



No comments:

Post a Comment