menubar

breaking news

Saturday, November 4, 2017

न्यायालय ने प्राचार्य अब्दुल कादिर को किया दोषमुक्त

प्राचार्य पर सरकारी धन गबन व धोखाधड़ी का आरोप निराधार 
जौनपुर। कोतवाली थाना क्षेत्र के मोहम्मद हसन डिग्री कालेज के प्राचार्य डा० अब्दुल कादिर खां को सीजेएम कोर्ट ने गबन व धोखाधड़ी के आरोप से साक्ष्य के अभाव में दोषमुक्त कर दिया था। 
दोष मुक्ति के खिलाफ राज्य सरकार की तरफ से जिला जज की कोर्ट में अपील की गयी। राज्य तरफ से डीजीसी ने बहस की कि अवर न्यायालय ने विधि की गलत व्याख्या व साक्ष्यों की अनदेखी कर निर्णय दिया, जबकि आरोपी के अधिवक्ता ने विधि व्यवस्थाओं का  सीजेएम  निर्णय को सही ठहराया। 
जिला जज ने आरोपी के खिलाफ साक्ष्य न पाते हुए राज्य सरकार की अपील निरस्त कर दिया। साक्ष्य में आया कि कालेज के प्रबंधक डा० अबू मोहम्मद ने गबन किया था, जिनकी मृत्यु हो गयी है। जिला ग्रामीण विकास अभिकरण के परियोजना निदेशक उमाशंकर सिंह ने प्राथमिकी दर्ज कराया था कि विधायक निधि से शैक्षणिक भवन निर्माण के लिए तीन लाख रूपये स्वीकृत हुए। प्रथम क़िस्त सवा दो लाख रूपये मोहम्मद हसन पीजी कालेज को अक्टूबर 2000 में दिए गए लेकिन प्रबंधक डा० अबू मोहम्मद ने धनराशि का गबन कर लिया। मामले के विचरण के दौरान अबू मोहम्मद की मौत हो गयी। 

No comments:

Post a Comment