menubar

breaking news

Friday, October 13, 2017

जौनपुर में आगंनबाडी़ कर्मचारी सघं की छब्बीसवें दिन हड़ताल जारी

जौनपुर। आगनबाड़ी कर्मचारी सघं ने अपने पन्द्रह सुत्रीय मांगो की प्रतिपूर्ति हेतु हड़ताल के छब्बीसवें दिन भारी संख्या में कलेक्ट्रेट परिसर में उपस्थित होकर संघटन के अध्यक्ष बदलापुर छाया यादव की अध्यक्षता में धरना प्रदर्शन किया। सभा में वक्ताओं ने उ.प्र. सरकार की हठधर्मिता का विरोध करते हुए मांग पूरी होने तक हड़ताल पर रहने की घोषणा की । सभा को सम्बोधित करते हुए संघ की जिला संगठन मंत्री चन्द्रकला ने सघंठन के 15 सूत्रीय मांगो पर प्रकाश डालते हुए सरकार पर वादाखिलाफी का आरोप लगाया। 15 सूत्रीय मांगो में मुख्य मांग आगनबाडी़ कर्मचारियों को राज्य कर्मचारी घोषित करने , विभाग में सुपरवाइजर पद पर शैक्षिक योग्यता एवं ज्येष्ठता के अनुसार शत-प्रतिशत पदोन्नति किया जाना, आगनबाडी़ केन्द्रो की कार्यकर्ती व सहायिका को भी आगनबाड़ी के मुख्य केन्द्रो की भांति मानदेय दिये जाने न्युनतम वेतन के अनुसार आगनबाडी़ कार्यकर्ती को 18 हजार एवं सहायिका को 9 हजार रूपये दिये जाने की मांग तथा राज्यकर्मियों की भांति पेंशन की सुविधा दिये जाने आदि प्रमुख मांगो को अभी तक सरकार द्वारा पूरा न किये जाने के कारण हड़ताल की सम्पूर्ण जिम्मेदारी सरकार की है। सभा को राज्य  कर्मचारी संयुक्त परिषद के उपाध्यक्ष अशोक कुमार, सम्प्रेक्षक सभाजीत यादव, ने अपना पूरा समर्थन आगंनबाडी़ कर्मचारी संघ को दिया। धरने को आल इंडिया दलित महिला अधिकार मंच की प्रदेश संयोजक शोभना स्मृति , निर्भय ट्रस्ट से अध्यक्ष रेनू सिंह, कामरेड विजय प्रताप सिंह, कामरेड ऊदल यादव, पुश्पलता श्रीवास्तव प्रदेश अध्यक्ष श्रमिक कल्याण समिति, राश्ट्रीय अध्यक्ष श्रमिक कल्याण समिति अख्तर अली, राजबली यादव, जिला मंत्री पेंशनर एसोसियेशन ने भी सम्बोधित कर अपना समर्थन व्यक्त किया। धरने को मुख्य रूप से उर्मिला, शांति सिंह, रीना, हेमा, मीना यादव, पर्मिला, मंजु, प्रेमा, अल्का सिन्हा, सुजाता, मनोरमा, साधना, उषा मौर्या, सुशीला, विद्या मौर्या, श्रद्वा श्रीवास्तव, पुष्पा, गीता सोनकर, कुसुम सिंह, जया साहनी, सरोजा देची, शांति देवी, संध्या आदि ने संबोधित किया। सभा का संचालन सुनीता सिंह सिकरारा ने किया।

No comments:

Post a Comment