menubar

breaking news

Friday, October 13, 2017

सुप्रीम कोर्ट ने कहा अगले आदेश तक रोहिंग्या को वापस ना भेजे

Image result for pics of rohingya muslimनई दिल्ली। सुप्रीम कोर्ट ने देश में रोहिंग्या शरणार्थियों के मसले पर 21 नवम्बर तक सुनवाई टालने के साथ ही  याचिकाकर्ताओं को किसी भी आपात स्थिति में उसके पास आने के लिए छूट दी है।
सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र को निर्देश दिया कि याचिका पर अगली सुनवाई होने तक देश से किसी भी रोहिंग्या को बाहर नहीं भेजा जा सकता। यदि सरकार किसी प्रकार की आकस्मिक योजना तैयार करती है तो उसे पहले कोर्ट को सूचित करना होगा। 
सूत्रों की माने तो संवैधानिक नैतिकता मानवीय मुद्दों पर सजग बनाती है और हमारा झुकाव मानवीय आधारों के प्रति अधिक होता है। ऐसे में हम उनसे पूरी तरह से मुंह नहीं फेर सकते। एक संवैधानिक न्यायालय होने के नाते हम महिलाओं और बच्चों की दुर्दशा से अनजान होने का दिखावा नहीं कर सकते। सुप्रीम कोर्ट ने सभी दलों को इस मुद्दे पर चर्चा करने के लिए समय देते हुये सुनवाई को 21 नवंबर तक के लिए टाल दिया है। 
मालूम हो कि सुप्रीम कोर्ट की इस अहम सुनवाई से पहले देश के 51 नामचीन लोगो ने पीएम नरेंद्र मोदी को पत्र लिखकर म्यांमार में जारी हिंसा के बीच रोहिंग्या शरणार्थियों को वापस नहीं भेजे जाने की अपील की थी।


No comments:

Post a Comment