menubar

breaking news

Friday, October 6, 2017

जिलाधिकारी की अध्यक्षता में मान्यता प्राप्त राजनैतिक दलों के प्रतिनिधियों एवं समस्त उप जिलाधिकारी के साथ बैठक सम्पन्न

vptजौनपुर। मतदेय स्थलों के भौतिक सत्यापन/सम्भाजन के सम्बन्ध में जिलाधिकारी/जिला निर्वाचन अधिकारी सर्वज्ञराम मिश्र की अध्यक्षता में मान्यता प्राप्त राजनैतिक दलों के प्रतिनिधियों एवं समस्त उप जिलाधिकारी के साथ बैठक सम्पन्न हुई। सर्वप्रथम जिलाधिकारी द्वारा बैठक में उपस्थित प्रतिनिधियों का परिचय प्राप्त किया गया। तत्पश्चात् उप जिला निर्वाचन अधिकारी आर.पी.मिश्र द्वारा मतदेय स्थलों के भौतिक सत्यापन के सम्बन्ध में मुख्य निर्वाचन अधिकारी, उत्तर प्रदेश, लखनऊ से प्राप्त निर्देशों से अवगत कराया गया। 
वर्ष 2016 में हुए सम्भाजन के पश्चात जनपद में बनाये गये सहायक मतदेय स्थलों को पूर्ण मतदेय स्थल बना दिया जाय। ग्रामीण तथा शहरी क्षेत्रों के ऐसे मतदेय स्थलों जहां 1400 से अधिक मतदाता हैं और कोई सहायक मतदेय स्थल नहीं बना है उन्हें विभाजित कर एक नया मतदेय स्थल बना दिया जाय। यदि किसी गाॅंव में 300 से अधिक मतदाता है तथा मतदान केन्द्र/मतदेय स्थल के लिए उपयुक्त सरकारी भवन है तो नया मतदेय स्थल प्रस्तावित किया जा सकता है। शहरी क्षेत्रों में जहां नई आवासीय कालोनियां गत कुछ वर्षो में बनी है और उसमें नागरिक निवास करने लगे है तो वहां पर यथा आवश्यकता मतदेय स्थल बनाया जाय। अत्यधिक पुराने व जर्जर भवन वाले मतदेय स्थलों को उसी मतदान क्षेत्र के अन्तर्गत उपलब्ध स्थायी भवन में स्थानान्तरित कर दिया जाय। अस्थायी निर्माण वाले मतदेय स्थलों को उसी मतदान क्षेत्र के अन्तर्गत उपलब्ध स्थायी भवन में स्थानान्तरित कर दिया जाय। जिन मतदेय स्थलों के भवन पुराने व जर्जर नही है और जहां मतदाता सूची में 1400 से अधिक मतदाता नहीं है तथा जहां मतदाताओं को 2 किमी से अधिक दूरी चलने की आवश्यकता नहीं है। ऐसे मतदेय स्थलों की स्थिति में परिवर्तन नहीं किया जाय। यदि कोई मतदेय स्थल अपने मतदान क्षेत्र (पोलिंग एरिया) में उपयुक्त भवन उपलब्ध न होने के कारण मतदान क्षेत्र से बाहर स्थित है और अब मतदान क्षेत्र के अन्तर्गत उपयुक्त भवन उपलब्ध हो गया है तो ऐसे मतदेय स्थलों को अपने मतदान क्षेत्र के अन्दर स्थित भवन में शिफ्ट कर दिया जाय। किसी भी राजनैतिक दल या लेबर यूनियन कार्यालय से 200 मीटर के अन्दर कोई मतदेय स्थल नहीं बनाया जाय। सभी मतदेय स्थल भवनों के यथासम्भव भूतल पर होना सुनिश्चित किया जाय। यदि कोई मतदेय स्थल दुकान/व्यवसायिक प्रतिष्ठान/व्यक्तिगत सामुदायिक केन्द्र/विवाह घर अथवा ऐसे भवन जिनका स्वामित्व किसी राजनैतिक व्यक्ति के पास है। ऐसे मतदेय स्थलों विकल्प तलाश कर उनको स्थानान्तरित कर दिया जाय। मतदेय स्थलों के सम्बन्ध में राजनैतिक दलों से प्राप्त सभी शिकायतों तथा सुझावों की सम्यक रूप से जाॅंच की जाय तथा उन्हें उपयुक्त उत्तर देते हुए उनका निपटान कर लिया जाय। विकलांगो और अशक्त व्यक्तियों की सुविधा हेतु प्रत्येक मतदेय स्थल पर रैम्प की उपलब्धता सुनिश्चित की जाय। अन्त में जिलाधिकारी द्वारा उपस्थित प्रतिनिधियों से अपेक्षा किया गया कि आप स्वयं या अपने प्रतिनिधियों से मतदेय स्थलों का सत्यापन कराने का कष्ट करें। उक्त के सम्बन्ध में यदि कोई सुझाव/आपत्ति हो तो सम्बन्धित उप जिलाधिकारी को लिखित रूप में अवगत कराये ताकि आप द्वारा प्रस्तुत सुझाव/आपत्ति की ससमय जाॅंच कराकर आवश्यक कार्यवाही की जा सके।
इस अवसर पर सुनील सिंह महासचिव राष्ट्रीय लोकदल, सौरभ शुक्ला सचिव भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस, के0एस0रघुवंशी सीपीआईएम, अतीश कुमार श्रीवास्तव जिलाध्यक्ष राष्ट्रवादी कंाग्रेस पार्टी, बजरंग बहादुर यादव एडवोकेट समाजवादी पार्टी, के0के0विश्वकर्मा बहुजन समाज पार्टी, जे0एन0सचान उप जिलाधिकारी शाहगंज, डा0के0एस0पाण्डेय  उप जिलाधिकारी बदलापुर, जगदम्बा सिंह उप जिलाधिकारी केराकत, अयोध्या प्रसाद उप जिलाधिकारी मड़ियाहूॅं, रमाकान्त राम सहायक जिला निर्वाचन अधिकारी उपस्थित रहे।

No comments:

Post a Comment