menubar

breaking news

Tuesday, October 10, 2017

जौनपुर में अनुपस्थित छात्रों का आवेदन भेजा तो संस्थानों पर की जाएगी कार्रवाई

VPITSजौनपुर। जिला पिछड़ा वर्ग कल्याण अधिकारी, सुरेष कुमार मौर्य ने बताया कि दशमोत्तर छात्रवृत्ति/शुल्क प्रतिपूर्ति योजना 2017-18 अन्तर्गत 07.10.2017 को जनपद के आई0टी0आई0 औद्योगिक प्रशिक्षण केन्द्रों का औचक निरीक्षण किया गया। निरीक्षण के अन्तर्गत एस0के0बी0 आई0टी0आई0 बेहड़ा, केराकत, आदर्ष श्यामदेव आई0टी0आई0 गौसपुर केराकत, सत्येन्द्र बहादुर सिंह आई0टी0आई0 खर्गसेनपुर थानागद्दी एवं श्रीकृश्ण प्राइवेट आई0टी0आई0 जयगोपालगंज केराकत जौनपुर में छात्रों की उपस्थिति का सत्यापन किया गया। वर्तमान में दशमोत्तर छात्रवृत्ति एवं शुल्क प्रतिपूर्ति योजनान्तर्गत छात्रों द्वारा आनलाइन आवेदन एवं संस्था द्वारा उनके अग्रसारण की प्रक्रिया चल रही है। गौरतलब है कि शासनादेश  के अनुसार न्यूनतम 75 प्रतिशत उपस्थिति पाये जाने पर ही छात्र/छात्रा दशमोत्तर छात्रवृत्ति/शुल्क प्रतिपूर्ति का हकदार होता है। आदर्श श्यामदेव आई0टी0आई0 गौसपुर में एलेक्ट्रिसिअन एवं फिटर के 02 ट्रेन्डो में 63-63 छात्र पंजीकृत पाये गये परन्तु मात्र 05 छात्र ही उपस्थित पाये गये। उपस्थित छात्रों ने बताया कि आज छुट्टी कर दी गयी है। संस्थान में पठन-पाठन बन्द पाया गया। मौके पर उपस्थित संस्था के मैनेजर छात्रों की उपस्थिति पंजिका प्रस्तुत नहीं कर सके। संस्था मैनेजर को सख्त हिदायत दी गयी कि 75 प्रतिशत उपस्थिति वाले छात्रों के आवेदन पत्र ही छात्रवृत्ति/शुल्क प्रतिपूर्ति हेतु अग्रसारित करें अन्यथा संस्था के विरुद्ध नियमानुसार कार्यवाही की जायेगी। इसी प्रकार एस0के0बी0 आई0टी0आई0 बेहड़ा एवं सत्येन्द्र बहादुर सिंह आई0टी0आई0 खर्गसेनपुर थानागद्दी में भी छात्रों की नाम मात्र ही उपस्थिति पायी गयी। इन्हें भी अनुपस्थित छात्रों के आवेदन पत्र अग्रसारित न करने की चेतावनी दी गयी। श्रीकृश्ण प्राइवेट आई0टी0आई0 जयगोपालगंज में छात्रों की उपस्थिति सन्तोष जनक पायी गयी एवं पठन-पाठन भी होता हुआ पाया गया। इससे पूर्व एम0ए0 शोएब आई0टी0आई0 चाचकपुर के निरीक्षण में संस्था प्रमुख द्वारा उपस्थिति पंजिका एवं अन्य अभिलेख दिखाने से इंकार कर दिया गया था। निरीक्षण के वक्त छात्रों की अल्प उपस्थिति एवं अभिलेख न प्रस्तुत करने के कारण एम0ए0 शोएब आई0टी0आई0 चाचकपुर से स्पष्टीकरण मांगा गया है एवं चेतावनी दी गयी है कि 75 प्रतिशत से कम उपस्थिति वाले छात्रों के आवेदन पत्र किसी भी दषा में अग्रसारित न करें अन्यथा नियमानुसार संस्था के विरुद्ध कार्यवाही की जायेगी।

No comments:

Post a Comment