menubar

breaking news

Thursday, October 5, 2017

जौनपुर में अब तक 9 भू-माफियाओं के विरूद्ध की गयी कार्यवाही - जिलाधिकारी

VPISजौनपुर। प्रमुख सचिव दुग्ध विकास विभाग उत्तर प्रदेश शासन डाॅ सुधीर एम.बोबडे़ ने बुधवार रात्रि कलेक्ट्रेट सभागार में 7:50 बजे से 11:00 बजे तक प्रारूप 61 पर विभिन्न विभागों की प्रगति की समीक्षा माह अगस्त 2017 तक किया। गृह विभाग की समीक्षा बैठक में पुलिस अधीक्षक के.के चौधरी ने बताया कि छिनैती एवं डकैती के कई शातिर अपराधियों की गिरफ्तारी की गयी साथ ही वाछिंत अपराधियों के 90 प्रतिशत गिरफ्तारी भी की गयी। अवैध शराब बनाने वालों के खिलाफ भी बडी़ कार्यवाही की गयी। सम्पूर्ण समाधान दिवस में भी सकारात्मक सुधार हो रहा है। प्रमुख सचिव ने पुलिस अधीक्षक को निर्देर्शित किया कि मिथाइल अलकोहल से कच्ची शराब बनाई जाती 
है। वे स्वयं एवं आबकारी के अधिकारी के साथ निगरानी करें ताकि गलत तरह से अवैध तरीके से शराब न तैयार की जा सके। थाना दिवस को और अधिक सक्रिय किये जाने की आवश्यकता है। सकुशल त्यौहार सम्पन्न कराने के लिए जिला प्रशासन की प्रशंशा किया तथा त्यौहार रजिस्टर को अधतन करने का निर्देश दिया। प्रमुख सचिव ने बताया कि मुख्यमंत्री का सम्पूर्ण समाधान दिवस एवं सम्पूर्ण तहसील दिवस पर विशेष ध्यान है। पुलिस अधीक्षक ने बताया कि डायल 100 के सभी पुलिस कर्मचारियों को बदल दिया गया है। जिलाधिकारी सर्वज्ञराम मिश्र ने बताया कि जिले में भू-माफियाओं के खिलाफ अब तक 9 के विरूद्ध कार्यवाही की गयी है। प्रमुख सचिव ने उपजिलाधिकारियोें को निर्देशित किया कि 102,108 तथा 181 महिला हेल्प-लाइन पर काल कर जानकारी प्राप्त करें। कर-करेत्तर की समीक्षा में स्टैम्प/रजिस्ट्रेशन में लक्ष्य के सापेक्ष राजस्व वसूली की कमी पाये जाने पर प्रगति लाने का निर्देश पीके सिंह को दिया। जिलाधिकारी ने बताया कि अगस्त माह में 112 वादों का निस्तारण मेरे द्वारा किया गया है। प्रमुख सचिव ने सभी राजस्व अधिकारियों को निर्देशित किया कि दायरे से अधिक वादों का निस्तारण करें। चकबन्दी अधिकारी संजय राय को मार्च 2018 तक सभी 21 गांवों में धारा 52 का प्रकाशन मार्च 2018 तक समयवद्ध ढंग से अवश्य पूरा कर लें। डाक्टरों के रिक्त पद को भरने के लिए जिलाधिकारी की ओर से अर्द्धशासकीय पत्र भेजे जाएं। बड़े निर्माण कार्य जिसमें 75 प्रतिशत कार्य पूर्ण कर चुके र्हैं धनराशि के अभाव में कार्य रूके हुए हैं वे संबंधित विभाग शासन से धनराशि की मांग हेतु जिलाधिकारी की तरफ से पत्र भिजवाएं। मुख्य चिकित्साधिकारी/मुख्य चिकित्साधीक्षक को निर्देश दिया कि सेवा प्रदाता एजेन्सी के माध्यम से लाण्ड्री, आक्सीजन, सफाई कार्य का स्वयं निरीक्षण करते रहे तथा प्रत्येक माह यह प्रमाण पत्र दें कि कोई मामला लंवित नही है। मुख्य चिकित्साधिकारी से कहा कि जिस हिसाब से गर्भवती महिलाओं का टीकाकरण हुआ है उसकी आॅनलाइन फीडिंग नही हुई है। इससे संख्या कम दिख रही है, इसे अपडेट करें। पूर्व दशम व दशमोत्तर की छात्रवृत्ति हेतु छात्रों का आवेदन डाटा समयसीमा के भीतर कराया जाय। अधीक्षण अभियंता विद्युत को 100 केवीए का ट्रांस्फार्रमर पर मीटर लगवाने का निर्देश दिया। डोपीओरओं को ओडीएफ के लिए कार्ययोजना तैयार कर कार्यवाही शीघ्र करने का निर्देश दिया। प्रधानमंत्री ग्रामींण सड़क योजना की कार्ययोजना बनाकर हर माह लक्ष्य पूर्ण करने का निर्देश दिया।
इस अवसर पर मुख्य विकास अधिकारी आलोक सिंह, एडीएम आर.पी मिश्र, अपर पुलिस अधीक्षक द्वय डा अनिल पाण्डेय,संजय राय, पीडी पीके राय, डीडीओं दयाराम, डीएसटीओं रामनरायन यादव, उपायुक्त मनरेगा कमलेश सोनी, अधीक्षण अभियंता विद्युत एके मिश्र, अधि.अभि. सिंचाई एस.के. सिंह, विद्युत सभी उपजिलाधिकारी, पुलिस क्षेत्राधिकारी तथा अन्य अधिकारीगण उपस्थित रहे।
             

No comments:

Post a Comment