menubar

breaking news

Saturday, October 28, 2017

आधार कार्ड में लापरवाही से 800 लोगों की एक ही जन्मतिथि

Image result for pics of aadhar cardनई दिल्ली। उत्तराखंड के हरिद्वार के गैंदी कहात गांव के 800 से अधिक लोगों की जन्मतिथि उनके आधार कार्ड पर 1 जनवरी लिखे होने की खबर से यूनिक आईडेंटिफिकेशन अथॉरिटी ऑफ इंडिया को बड़ा झटका लगने की खबर प्रकाश में आयी है।
सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार आधार कार्ड में पूरे परिवार की जन्मतिथि एक दर्शाई गई है। सात साल के बच्चे और 70 साल तक के परिवार के सभी सदस्यों की जन्मतिथि 1 जनवरी अंकित की गई है।
सूत्रों की माने यो यूआईडीएआई ने कहा कि जिन आवेदकों के पूरे दस्तावेज नहीं थे, ऐसे में सिस्टम ने जन्मतिथि के कॉलम में 1 जनवरी डिफॉल्ट डेट के रूप में लिया।
मालूम हो कि सरकार ने पहचान के लिए आधार कार्ड सबसे जरूरी दस्तावेज बनाया है। ऐसे में सरकारी विभाग की इस बड़ी लापरवाही के कारण कई परिवारों को भारी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है।आधार कार्ड बनाने वाली एजेंसी को ओरिजनल वोटर आईडी और राशन कार्ड जैसे प्रासंगिक सबूत जमा करने के बाद भी इतने जरूरी डेटा का नकलीकरण किए जाने से गांव वालों में निराशा है।

No comments:

Post a Comment