menubar

breaking news

Wednesday, October 4, 2017

योगी सरकार उठाएगी श्रमिकों की बेटियों के शादी का खर्च, देगी 55 हजार रुपये की आर्थिक सहायता

Image result for pics of cm yogiलखनऊ। यूपी में योगी सरकार अब सामूहिक विवाह सम्मेलनों में श्रमिकों की बेटियों के विवाह के साथ विवाह सम्मेलन में ही बेटियों को 55 हजार रुपये की आर्थिक सहायता भी प्रदान करेगी। 
सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार मंडल स्तर पर प्रदेश सरकार सामूहिक विवाह सम्मेलनों के आयोजन द्वारा श्रमिकों की बेटियों के शादी का खर्च उठाएगी और दांपत्य जीवन की शुरुआत के लिए बेटियों को 55 हजार रुपये के चेक भी दिए जाएंगे। मजदूरों को पंजीकृत करने का काम चल रहा है और उनके पंजीकरण के लिए जन जागरण अभियान चलाया जाएगा।
सूत्रों की माने तो शिशु हित लाभ योजना के तहत बेटी के जन्म पर 15 हजार रुपये एवं बेटे के जन्म पर 12 हजार रुपये की तत्काल आर्थिक सहायता दी जाएगी। इसके साथ ही बेटी के जन्म पर 20 हजार रुपये एक साथ जमा किया जाएगा, जो 18 वर्ष पूर्ण होने पर मिलेगा। श्रमिकों को आवास के लिए एक लाख रुपये की आर्थिक मदद का प्रबंध भी सरकार करेगी।
संत रविदास शिक्षा मदद योजना के तहत मजदूरों के बच्चों की उच्च शिक्षा के लिए 60 हजार रुपये तक की व्यवस्था की है। श्रमिकों के बच्चों की पढ़ाई के लिए शिक्षा मदद योजना के तहत प्राइमरी शिक्षा के लिए 100 रुपये, जूनियर शिक्षा के लिए 150 रुपये, माध्यमिक शिक्षा के लिए 200 रुपये, स्नातक शिक्षा के लिए 250 रुपये प्रतिमाह दिए जाएंगे। इसके साथ ही इंजीनियरिंग की पढ़ाई के लिए पांच हजार रुपये की व्यवस्था होगी।
मजदूरों की दुर्घटना में मृत्यु पर पांच लाख रुपये की आर्थिक सहायता परिजनों को दी जाएगी और स्थाई रूप से अंग-भंग होने पर तीन लाख रुपये की सहायता एवं सामान्य मृत्यु पर दो लाख रुपये की आर्थिक सहायता प्रदान करेगी। वहीं अंतिम संस्कार के लिए 25 हजार रुपये की सहायता भी प्रदान करेगी।


No comments:

Post a Comment