menubar

breaking news

Friday, October 6, 2017

आंगनबाड़ी कर्मचारी संघ ने 19वें दिन भी किया हड़ताल

जौनपुर। आगनबाड़ी कर्मचारी एवं सहायिका एसोशियेसन के तत्वावधान में 19वें दिन कलेक्ट्रेट परिसर पर सभा की अध्यक्षता संगठन की अध्यक्ष सरिता सिंह ने की। सभा को सम्बोधित करते हुए दीवानी बार एसोसियेशन के पूर्व मंत्री का0 जयप्रकाश सिंह एडवोकेट ने इस हड़ताल का समर्थन करते हुए कहा कि प्रदेश एवं केन्द्र की सरकारों को इनकी मागों को शीघ्र पूरा करके अपने चुनावी नारे ‘‘सबका साथ सबका विकास ‘‘ ‘‘बेटी पढ़ाओं बेटी बचाओ‘‘ को पूरा करे अन्यथा आने वाला 2019 का चुनाव केन्द्र व राज्य सरकार को बहुत मंहगा पड़ेगा। अपने सम्बोधन में कामरेड ने इस गूगी बहरी सरकार की कर्मचारी विरोधी नीतियों की भर्तसना किया। सभा को सम्बोधित करते हुए राज्य कर्मचारी संयुक्त परिषद के संरक्षक सी.बी.सिंह ने हड़ताल का पूर्ण समर्थन करते हुए मांग के अनुसार राजकीय कर्मचारी घोषित करने, कार्यकत्री को रू0 18000/एवं सहायिका को रू0 9000/देने की मांग की। जिस मिनी आंगनबाड़ी कार्यकत्री के सर्वे क्षेत्र में 1000 की आवादी पूर्ण हो गई हो, उसको पूर्ण कार्यकत्री का मानदेय एवं सुविधाएं दी जाय। सभा को परिषद के जिलामंत्री चन्द्रशेखर सिंह, उपाध्यक्ष अशोक कुमार ने भी सम्बोधित किया। सभी ब्लाकों के अध्यक्ष प्रमुख रूप से माधुरी सोनिया, मनोरमा सिंह, ज्योति गौड़, रेखा राय, मीरा सिंह, आशा सिंह, कुसुम सिंह, प्रेमा पटेल, उर्मिला, पुष्पा सिंह, सुशीला, नूरसबा, गीता गौतम, वन्दना, ऊषा, अर्चना, गायत्री आदि ने सभा को सम्बोधित किया।
भी कलेक्ट्री कचहरी में धरना जारी रहा।हजारों की संख्या में आंगनबाड़ी बहने छाया यादव अध्यक्ष बदलापुर की अध्यक्षता में जूटी रहेगी। धरने को सम्बोधित करते हुए जिलाध्यक्ष सरिता सिंह ने कहा कि ‘‘हम पर जितना पहरा होगा, धरना उतना गहरा होगा‘‘। श्रीमती सिंह ने कहा कि हमारी 15 सूत्रीय मांगों को सरकार संज्ञान में ले, हमारा उत्पीड़न, शोषण बन्द हो जाय, हम सबको आश्वस्त करते है कि हमारी हड़ताल तत्काल बन्द हो जायेगी, लेकिन जब तक हमारी मांगों पर निर्णय नही आता तब तक हड़ताल के लिए कटिवद्ध है। जिला कोषाध्यक्ष सुनीता सिंह ने ललकार कर कहा कि हमारे ऊपर अधिकारी दबाव न बनाये, जो रिपोर्ट लगानी है लगा दें। मानदेय काटना र्है तो कासट लें, संगठन के लिए कई महीने का मानदेय कुर्बान है, पर संगठन के प्रति गद्दारी कत्तई मंजूर नही। सभी बहनों को आश्वस्त करते हुए महामंत्री मिनाक्षी शुक्ला ने कहा कि हमारी बहने घबराएं नही आपका नेतृत्व कमजोर नही है, हम आपको हाईकोर्ट से बहाल कराएगे। 10 अक्टूबर 2017 को लखनऊ जीपीओ पार्क पहुंचकर अपनी ताकत को माननीय मुख्यमंत्री महोदय को दिखा दें। वर्ष 2016 का इतिहास दोहराना है। हमें अपनी लड़ाई को अगर कोई नया मोड़ देना होगा तो देगे लेकिन अब आश्वासन नही परिणाम चाहिए। धरने को शिक्षामित्र के अध्यक्ष संदीप यादव ने सम्बोधित करते हुए कहा कि हम आपके साथ है जो भी सहयोग होगा हम देगे। राज्य कर्मचारी संयुक्त परिषद के संरक्षक सी0बी0सिंह एवं मंत्री चन्द्रशेखर सिंह, उपाध्यक्ष राजेश यादव, राजबली यादव ने भी सम्बोधित किया।
छाया यादव ने सभा का समापन करते हुए कहा कि हमें अपनी ताकत अपने नतृत्व को देना होगा, जीत हमारी निश्चित होगी। सभा में मनोरमा सिंह, ज्योति गौड़, रेखा राय, मीरा सिंह, आशा सिंह, कुसुम सिंह, प्रेमास पटेल, प्रेमा सिंह, मीना यादव,  माधुरी सोनिया, उर्मिला, पुष्पा सिंह, दुर्गेश सिंह, मंजू दूबे, गायत्री सिंह, सुमन सिंह, गीता सोनकर, नरमा यादव, सुशीला, नूरसबा, वन्दना, ऊषा, अर्चना सिंह, सावित्री, आशा तिवारी, संध्या श्रीवास्तव, चन्द्रकला, शांती देवी आदि हजारों आंगनबाड़ी कार्यकत्री एवं सहायिका उपस्थित रही। सभा को कलेक्टेªट बार एसोशियेसन के अध्यक्ष विजय प्रताप सिंह, पूर्व अध्यक्ष उदय प्रताप सिंह, राधेश्याम पाण्डेय, काली प्रसाद सिंह वरिष्ठ अधिवक्ता ने भी सम्बोधित किया एवं पूर्ण सहयोग का आश्वासन दिया। 

No comments:

Post a Comment