menubar

breaking news

Monday, September 4, 2017

ब्रिक्स देशों ने आतंक के खिलाफ लड़ाई पर जताई सहमति

Image result for images of brics sammelan of 2017
नई दिल्ली। पीएम नरेंद्र मोदी ने ब्रिक्स समिट में भारत का पक्ष रखते हुए क्षेत्रीय सुरक्षा का मुद्दा उठाया जिसके बाद ब्रिक्स देशों ने एकसुर में आतंक के खिलाफ लड़ाई पर सहमति जता दी। ब्रिक्स देशों ने इसके लिए अपने घोषणापत्र में सुरक्षा के मुद्दे को प्रमुखता से शामिल करते हुए इसकी कड़ी निंदा की है।
ब्रिक्स के घोषणापत्र में जहां तुर्किस्तान इस्लामिक मूवमेंट और उज्बेकिस्तान इस्लामिक मूवमेंट जैसे नाम शामिल तो हैं ही इसके अलावा पाकिस्तान समर्थिक आतंकवादी संगठनों का नाम भी घोषणापत्र में शामिल किया गया है।
पाकिस्तान समर्थित आतंकी संगठनों, अल-कायदा, हक्कानी नेटवर्क, लश्कर-ए- तैय्यबा, जैश-ए-मोहम्मद, तहरीक-ए-तालिबान-पाकिस्तान, और हिज्ब-उत-तहरीर का जिक्र करते हुए इनके खिलाफ एकजुट होने की बात कही गई है।
इससे पहले पीएम नरेंद्र मोदी ने सोमवार को ब्रिक्स शिखर सम्मेलन के संबोधन में गर्मजोशी से स्वागत के लिए चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग का आभार जताया।
पीएम ने संबोधित करते हुए कहा कि शांति और विकास के लिए सहयोग महत्वपूर्ण है। नई तकनीक और डिजिटल इकॉनोमी पर ब्रिक्स देशों की मजबूत भागीदारी से विकास और पारदर्शिता को बढ़ावा दिया जा सकता है।
पीएम ने स्मार्ट शहरों, शहरीकरण और आपदा प्रबंधन में सहयोग बढ़ाने पर बल दिया। उन्होंने कहा कि हम स्वास्थ्य, स्वच्छता, कौशल, खाद्य सुरक्षा, ऊर्जा, शिक्षा, लैंगिक समानता सुनिश्चित करने और गरीबी उन्मूलन के मिशन पर हैं।

No comments:

Post a Comment