menubar

breaking news

Friday, September 15, 2017

सहायक टावर कम्पनी बनाये जाने के विरोध में कर्मचारी एवं अधिकारियों ने धरना प्रदर्शन

आजमगढ़। फोरम आफ बी. एस. एन. एल. एक्जिक्यूटिव एवं नान एक्जिक्यूटिव यूनियन एवं एसोसिएशन के आहवान पर भारत सरकार द्वारा सहायक टावर कम्पनी बनाये जाने के विरोध में समस्त कर्मचारी एवं अधिकारीगण द्वारा भोजनावकाश के दौरान विरोध किया गया एवं धरना दिया गया। यह विरोध पूरे भारत के सभी कार्यालयों में भोजनावकाश में किया गया।
जिला सचिव आनन्द कुमार सिंह ने कहा की भारत सरकार अपनी मनमानी कर रही है जो कि गलत है। हम सभी बी.एस.एन.एल. अधिकारी एवं कर्मचारी इसका विरोध कर रहे है। अगर सरकार हमारी बातें नहीं मानी तो हम चेक के आहवान् पर हड़ताल पर चले जायेंगे। सरकार केवल पूजिपतियों की बात मान रही है और सरकारी कम्पनीयों को दिन पर दिन घाटे पर लाने का काम कर रही है। धरने को एसएनईए जिला सचिव अवनीश सिंह ने भी सम्बोधित करते हुए कहा कि अगर केन्द्र सरकार विभाग को अलग-अलग टावर कम्पनी बनाकर इसे प्राइवेट के हाथ में देना चाहती है।
एन.एफ. टी. ई. से हरि दरश राय ने कहा कि सरकार हमारी बाते नहीं मानी तो हम आगे चेक के आहवान हड़ताल पर चले जायेगे। धर्मेन्द्र सिंह ने कहा कि सरकार की मनमानी नहीं चलेगी।
इस धरना में कामता प्रसाद, आर. पी. मौर्य,  राजेश सोनकर, बी. एन. यादव, श्री आर. एस. राम, श्री रणजीत सिंह, नव प्रभात गुप्ता, गौरव सिंह, यू. के. सिंह, अरविन्द मौर्य, हीरा लाल, शिव शंकर, विवेक विश्वकर्मा, अम्ब्रिश द्विवेदी, सादिक, हरिबंश लाल, पंचानन्द राय, एस. पी. पाण्डेय, गुलाब राय, राजा राम प्रजापति, आर. के यादव, प्रशान्त यादव, महेश कुमार, सुनील चैहान, नन्दलाल यादव, मुन्नी लाल यादव, अशोक यादव, दशरथ राम, यशवन्त सोनकर, हरिश्चन्द्र गिरि, सुनील उपाध्याय, जे. पी. यादव, पुन्नु लाल श्रीवास्तव, मिठाई लाल, शिव प्रसाद, जितेन्द्र गोस्वामी, सुनील कुमार सिंह, बी. आर. सोनकर, मदन मोहन यादव, यू. के. सिंह, आर. पी. सोनकर, राम प्रताप लाल, अमरजीत यादव, राम आशीष, सुदर्शन चैहान, सुबास श्रीवास्तव, तौफीक आलम, श्याम नारायण, दुर्ग विजय यादव, पन्नालाल सोनकर, लाल बहादुर, रमाकान्त यादव, राजेश राय, नरेन्द्र प्रजापति, मुर्तुजा अली, परमेंश्वर शाह, सतई राम, संतोष सिंह, विरेन्द्र चौबे, हरिनाथ राम, राजपति देवी, किशमती देवी, प्रतिमा सिंह, अशोक तिवारी आदि लोग उपस्थित रहे।

No comments:

Post a Comment