menubar

breaking news

Wednesday, September 27, 2017

कालाबाधित डिजिटल हस्ताक्षर का कोई भी डाटा अग्रसारित करने पर नहीं माना जायेगा वैध

vijay pratapजौनपुर। जिला विद्यालय निरीक्षक उमेश कुमार शुक्ला ने बताया कि जिले में संचालित समस्त विद्यालयों/महाविद्यालयों/तकनीकी संस्थानों के प्राचार्य/प्रधानाचार्यो को अवगत कराया है कि जिला समाज कल्याण अधिकारी के पत्र के अनुक्रम में राज्य सूचना विज्ञान केन्द्र राज्य ईकाई लखनऊ द्वारा अवगत कराया गया है कि कतिपय संस्थानों/अधिकारियों द्वारा कालाबाधित डिजिटल हस्ताक्षर का प्रयोग किया जा रहा है। कालाबाधित डिजिटल हस्ताक्षर कोई भी डाटा अग्रसारित करने पर वैध नहीं माना जायेगा। डिजिटल हस्ताक्षर की समय सीमा, डिजिटल हस्ताक्षर को कम्प्यूटर में लगाने के उपरांत उसकी वैधता देखी जा सकती है। यह कार्यवाही डिजिटल हस्ताक्षर को यथास्थान लगाने पर ही सम्भव हो सकेगी, इसके अतिरिक्त प्रयुक्त डिजिटल हस्ताक्षर की वैधता तिथि अवश्य जाँचना सुनिश्चित करें, जिससे कोई भी डाटा आपके स्तर से कालाबाधित डिजिटल हस्ताक्षर से लाक न हो पाये। 
अतः आपको निर्देशित किया जाता है कि उक्त के अलोक में डाटा लाक करने के पूर्व समय सारिणी में दी गयी समयावधि के अन्तर्गत छात्रों का डाटा प्राप्त करना, सत्यापित/अस्वीकृत करना तथा अग्रसारित करना सुनिश्चित करें। अन्यथा की स्थिति में सम्पूर्ण उत्तरदायित्व सम्बन्धित विद्यालय के प्राचार्य/ प्रधानाचार्य/छात्रवृत्ति नोडल अधिकारी का होगा। 

No comments:

Post a Comment