menubar

breaking news

Friday, September 15, 2017

उमानाथ सिंह इंजीनियरिंग संस्थान में इंजीनियरिंग, फार्मेसी व एमसीए के छात्रों को प्रो० रंजना प्रकाश ने किया सम्बोधित

अलग-अलग संकायों हेतु प्लेसमेंट पुस्तिका प्रकाशित कर भेजा जाएगा विभिन्न संगठनों, उद्योगों में -
प्रो० रंजना प्रकाश

जौनपुर। वीर बहादुर सिंह पूर्वांचल विश्वविद्यालय के उमानाथ सिंह इंजीनियरिंग संस्थान में इंजीनियर्स डे के अवसर पर विश्वेश्वरैया की मूर्ति पर माल्यार्पण कर उन्हें नमन किया गया। 15 सितम्बर 1861 को महान  इंजीनियर विश्वेश्वरैया का जन्म हुआ था। उन्हें आधुनिक भारत के विश्वकर्मा के रूप में सम्मान के साथ याद किया जाता है।  
उमानाथ सिंह इंजीनियरिंग संस्थान में डायरेक्टर प्लेसमेंट प्रो० रंजना प्रकाश ने इंजीनियरिंग, फार्मेसी एवं एमसीए के छात्रों को सम्बोधित किया। उन्होंने कहा कि आज के समय में चल रही गला काट प्रतियोगिता में हमें हर स्थिति से निबटने के लिए तैयार होना होगा, इसके लिए और अधिक मेहनत करने की जरुरत  है।
उन्होंने विद्यार्थियों को ग्रुप डिस्कशन, सॉफ्ट स्किल उद्यमिता, इंडस्ट्रीज इंटरेक्शन और नवोन्मेष की दिशा में अग्रसर होने के लिए आमंत्रित किया। प्रो रंजना ने बताया कि अलग-अलग संकायों हेतु प्लेसमेंट पुस्तिका प्रकाशित कर विभिन्न संगठनों, उद्योगों में उनके मानव संसाधन विकास विभागों में भेजा जायेगा, जिससे यहाँ के बारे में उन्हें पता चल सके। आने वाले समय में कंपनियों को कैंपस प्लेसमेंट हेतु आमंत्रित किया जाएगा, जिससे यहाँ के विद्यार्थियों को पढाई पूरी करते ही नौकरी मिल सके।
इंजीनियर्स दिवस के अवसर पर के डीन प्रो बीबी तिवारी, डॉ संतोष कुमार एवं अन्य ने संस्थान में स्थापित भारत रत्न मोक्षगुंडम विश्वेश्वरैया की मूर्ति पर माल्यार्पण कर उनके कृत्यों पर प्रकाश डाला। विगत दिनों संस्थान में छात्र की मृत्यु के उपरांत इस दिवस पर होने वाले  कार्यक्रम स्थगित कर दिया गया था।
इस अवसर पर प्रो बीवी तिवारी,डॉ एस के श्रीवास्तव, डॉ सौरभ पाल, डॉ संजीव कुमार गंगवार, डॉ राजकुमार, डॉ राजीव कुमार, डॉ प्रवीण कुमार सिंह समेत छात्र छात्राएं एवं कर्मचारी जन उपस्थित रहे। 

No comments:

Post a Comment