menubar

breaking news

Friday, September 22, 2017

जिलाधिकारी की अध्यक्षता में विभिन्न विभागों के अधिकारियों के साथ बैठक संपन्न

vijay pratapजौनपुर। आज अपरान्ह कलेक्ट्रेट सभागार में जिलाधिकारी सर्वज्ञराम मिश्र की अध्यक्षता में राज्य भू-जल मिशन योजना के अन्तर्गत जिले के तीन विकासखण्ड बदलापुर, सिरकोनी व केराकत को अतिदोहित श्रेणी से सुरक्षित श्रेणी लाने के लिए विभिन्न विभागों के अधिकारियों के साथ बैठक की गयी। जिलाधिकारी ने वन विभाग, भूमि संरक्षण, कृषि, सिचाई, जलनिगम आदि विभागों की डी.पी.आर. के लिए निर्देशित किया। भूगर्भ जल विभाग के सीनियर हाइड्रोलाजिस्ट महातिम सिंह द्वारा बताया गया कि रिचार्ज में किसानों को विशेष रूप से समझाना ब बताना है कि ट्रेडिसनल सिचाई के तरीके को समाप्त कर माइक्रो एरीगेशन जैसे ड्रिप स्पिंगलर आदि विधि से फसलों की सिचाई करें, ऐसी सिचाई से 30-35 प्रतिशत पानी की बचत होती है। जिले के बदलापुर, सिरकोनी व केराकत विकासखण्डों में तकनीकी रूप से माडल रिचार्ज की आवश्यकता है जिसमें तालाबों का निर्माण/जीर्णोंद्धार, पक्के चेकडैम, बन्धी, शहरी क्षेत्र में रूफटाफ हार्वोस्टिंग का निर्माण, कन्टूर बनाना जिससे वर्षा का जल सीधे न बहे वह जमीन के अन्दर जाये।  जिलाधिकारी ने इस कार्य के लिए जनजागरण पर विशेष ध्यान देने का निर्देश दिया तथा कहा कि किस तरह हम अपने पानी की बढ़ती आवश्यकता को कम करें और रिचार्ज की तरफ ज्यादा ध्यान दें। जिलाधिकारी ने लघु सिचाई विभाग के सहायक अभियंता उमाकान्त तिवारी को निर्देशित किया कि टी.सी.सी. के जितने सदस्य है उनसे उनके विभाग की पांच वर्ष की कार्ययोजना को संकलित करते हुए उनका स्थलीय सत्यापन कर मुख्य विकास अधिकारी आलोक सिंह की अध्यक्षता में उनके सभाकक्ष में 4 अक्टूबर 2017 को पूर्वान्ह 10 बजे बैठक में उपस्थित हो जिससे 10 अक्टूबर तक इस योजना को क्रियान्वित किया जा सके। इस अवसर पर सीडीओ आलोक सिंह, अधीक्षण अभियंता लघु सिचाई बीबी सिंह, महातिम सिंह, सहायक अभि0 जलनिगम ए.के.श्रीवास्तव, एस.घ्डी.ओ. वन आर.एन.मिश्र, सिचाई व जलसंसाधन शिवेन्द्र प्रताप सिंह, अधि0अभि0 लघु सिचाई यादवेन्द्र सिंह, आनन्द कुमार मौर्य, देवी सिंह आदि उपस्थित रहे। 

No comments:

Post a Comment