menubar

breaking news

Friday, July 14, 2017

यूपी विधानसभा में विस्फोटक मिलने की NIA जांच करें - मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ

लखनऊ। यूपी व‌िधानसभा में व‌िस्फोटक म‌िलने की घटना के बाद सीएम योगी आद‌ित्यनाथ ने सत्र के दौरान सुरक्षा व्यवस्था के मुद्दे को गंभीरता से लेते हुए कहा कि ये बेहद गंभीर मामला है और मुझे ये बात आज यहां रखनी पड़ रही है। सुरक्षा की जिम्मेदारी सिर्फ सरकार की नहीं बल्क‌ि सामूहिक है, ये गंभीर प्रकरण है और क्या किसी एक व्यक्त‌ि को खुश करने के ल‌िए ये खतरा मोल लिया जा सकता है।
सीएम ने कहा कि 11 जुलाई को बजट सत्र शुरू हुआ। 12 जुलाई को भी सत्र चल रहा था। यहां विधायकों, मार्शलों और विधानभवन के कर्मचारियों को छोड़कर किसी को आने की अनुमत‌ि नहीं है। लेक‌िन नेता प्रत‌िपक्ष की सीट से तीसरे नंबर की सीट पर पुड़‌िया म‌िली। इसे एफएसएल को भेजा गया तो पता चला कि ये एक खतरनाक विस्फोटक है। उन्होंने बताया क‌ि ये 150 ग्राम था, इसकी मात्रा काफी कम थी लेकिन इतना पीईटीएन व‌िधानभवन को उड़ाने के ल‌िए पर्याप्त है। उन्होंने कहा आख‌िर ये साज‌िश कौन कर रहा है?
सीएम योगी ने कहा कि विधानसभा में विस्फोटक मिलने की जांच NIA को करनी चाहिए।
सदन को संबोधित करते हुए सीएम योगी ने कहा कि विधानसभा के सदस्य सुरक्षा जांच में मदद करें। साथ ही विधायकों से कहा कि सुरक्षा को लेकर नया गाइडलाइन जारी किया जाए, जिसका पालन सभी विधायक करें।
मुख्यमंत्री ने सदन में कहा कि आखिर वे कौन लोग हैं जिन्होंने इस विस्फोटक को यहां तक पहुंचाया, यह खतरनाक प्रवृत्ति है, खतरनाक स्थिति पैदा हो गयी है।
सीएम योगी ने कहा विधानभवन के कर्मियों का पुलिस वैरीफिकेशन होना चाहिये। उन्होंने कहा कि जो भी विधानभवन के अन्दर आये उसकी गहन तलाशी होनी चाहिये।
इसके अलावा बिना पास के सचिवालय में अब कोई गाड़ी प्रवेश करने की अनुमती न दी जाए। मंत्रियों, विधायकों और कर्मचारियों के अलावा अन्य सभी के पास को निरस्त कर दिया जाए।

No comments:

Post a Comment