menubar

breaking news

Monday, July 31, 2017

फर्जी आईपीएस अफसर को एसपी से धौंस जमाना पड़ा महंगा, एसपी ने किया पुलिस के हवाले

जौनपुर। एसपी दफ्तर में आज पुलिस कप्तान से मिलने गये एक फर्जी आईपीएस अफसर को धौस ज़माना भारी पड़ा और उसे हवालात की हवा खानी पड़ी। आज प्रातः एसपी कार्यालय में पहुंचे एक फर्जी आईपीएस अफसर ने पुलिस कप्तान शैलेश पांडेय को अपने पिता की तेरहवीं का कार्ड देते हुये जमीनी विवाद के मामले को निस्तारित करने का अनुरोध किया। इसी बीच तेज तर्रार कप्तान ने कुछ संदेह होने पर उससे पूछा कि आपकी पोस्टिंग कहा है उसने बताया कि उसकी पोस्टिंग रॉ में चल रही है जिससे एसपी को पूरा मामला झूठा समझने में विलम्ब नहीं लगा। इस पर हरकत में आये पुलिस कप्तान ने तत्काल लाइन बाजार पुलिस को मौके पर बुलाकर फर्जी आईपीएस अफसर को उनके हवाले करते हुए आवश्यक दिशा निर्देश दिया।
पुलिस ने जब आरोपी से कड़ाई से पूछताछ की तो राकेश तिवारी नामक फर्जी आईपीएस ऑफिसर ने बताया कि मेरा मानसिक संतुलन ठीक नहीं है और मेरा इलाज चल रहा है ऐसे में मैं अनाब-सनाब बोलता रहता हूँ।  इस पूरे मामले को जब थानाध्यक्ष लाइन बाजार के सीयूजी नंबर 9454403620 पर संपर्क किया गया तो उन्होंने बताया कि अभी आरोपी से पूछताछ जारी है। 
मिली खबरों के अनुसार जनपद जौनपुर के बरसठी थाना क्षेत्र के चकमलाई गाँव का निवासी राकेश तिवारी मुम्बई में प्रवास करता है। 
इस फर्जी आइपीएस अफसर ने पुलिस कप्तान शैलेश पाण्डेय को जरिये दूरभाष अपने को 1995 बीच का आइपीएस अफसर बताते हुए कहा था कि वो जौनपुर आ रहा है और उसे सरकारी गाडी और गनर मुहैया कराया जाय। जिसपर पुलिस कप्तान शैलेश पाण्डेय ने सुझाव दिया था कि आप मुंबई पुलिस से एक फैक्स करवा दीजिये ताकि मेरे द्वारा आपको साड़ी सुविधाएं मुहैया कराई जाय। लेकिन इस फर्जी एसपी ने यह न करके केवल मोबाइल फोन पर ही सरकारी सुविधायें पुलिस कप्तान से माँगता रहा। 
पुलिस कप्तान श्री पाण्डेय यह जान चुके थे कि  यह व्यक्ति फर्जी है। बावजूद इसके वे इसे नजर अंदाज करते हुए इसे जारी रखे। 

No comments:

Post a Comment