menubar

breaking news

Monday, July 24, 2017

पशुओं में गलाघोटू रोग के टीकाकरण हेतु पशुपालन विभाग के द्वारा चलाया गया अभियान

जौनपुर। मुख्य पशु चिकित्साधिकारी डा0 बीरेन्द्र सिंह ने बताया कि पशुपालन विभाग द्वारा पशुओं में गलाघोटू रोग का सघन टीकाकरण अभियान चलाया जा रहा है। पशुपालकों से अपील है कि इस घातक बीमारी का टीकाकरण अवश्य करवायें क्योकि यह एक जानलेवा बीमारी है। बीमारी का लक्षण पशु द्वारा चारा छोड़ने से शुरू होता है, बुखार लगभग 106 डिग्री फारेनहाइट तक हो जाता है, गले में सूजन आ जाती है, पशु को सांस लेने में तकलीफ होती है। यदि समय से इलाज न हुआ तो पशु की मृत्यु तत्काल हो जाती है। यह बीमारी तरूण एवं युवा पशुओं में उमस भरे मौसम में अधिक होती है। इसका टीका निःशुल्क लगाया जा रहा है। शासन द्वारा इसका कोई शुल्क नही है। परन्तु कुछ स्थानों पर पशुपालकों द्वारा बताया गया कि कुछ झोलाछाप चिकित्क द्वारा शुल्क लेकर टीका लगाया जा रहा है। जिले के पशु चिकित्साधिकारियों को आगाह किया जाता है कि इस प्रकार की मिल रही शिकायतों का संज्ञान लेते हुए ऐसे व्यक्तियों के विरूद्ध प्राथमिकी दर्ज कराकर कार्यवाही अवश्य करें। पशुपालकों से भी अनुरोध है कि यदि कोई व्यक्ति टीकाकरण हेतु पैसा मांगता है तो जनपदीय नोडल अधिकारी डा0 नीरज मिश्रा के मोबाइल नं0 9415217629 पर शिकायत दर्ज करा सकते है। मुख्य पशु चिकित्साधिकारी ने बताया कि अब तक जिले में 218488 पशुओं में गलाघोटू का टीका, 1910 पशुओं में लगड़िया का टीका, 35345 भेंड बकरियों में पीपीआर का टीका, 213333 खुरपका, मुंहपका का टीका लगाया जा चुका है।

No comments:

Post a Comment