menubar

breaking news

Thursday, July 6, 2017

सुप्रीम कोर्ट ने कहा - फर्जी शिक्षा और प्रमाण पत्र से नौकरी करने वालों की छीन जायेगी डिग्री और नौकरी

नई दिल्ली। सुप्रीम कोर्ट ने एक अहम फैसला देते हुए कहा है कि अगर फर्जी शिक्षा और प्रमाण पत्र के साथ किसी व्यक्ति ने नौकरी या शिक्षा हासिल की है तो उसकी डिग्री और नौकरी दोनों ही रद्द की जाएंगी। इसके अलावा ऐसा करने वाले व्यक्ति को भी सज़ा दी जाएगी।
सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार एक रोजगार संबंधी केस की सुनवाई करते हुए सुप्रीम कोर्ट ने कहा है कि इससे कोई फर्क नहीं पड़ता कि वो कितने ऊंचे पद पर कार्यरत है, यहां तक कि अगर किसी व्यक्ति को नकली जाति (दस्तावेज) के आधार पर 20 साल के लिए नौकरी मिल गई है, तो वह नौकरी खो देगा और उसे दंडित भी किया जाएगा।
इससे पहले बीते महीने केंद्र सरकार ने कहा था कि जाली अनुसूचित या पिछड़ी जाति के प्रमाण पत्रों का इस्तेमाल करने वाले कर्मचारियों की नौकरी खारिज कर दी जाएगी। केंद्र सरकार ने सभी केंद्रीय सरकारी विभागों से संबंधित विभिन्न संगठनों से ऐसी नियुक्तियों के बारे में जानकारी जुटाने के निर्देश दिए हैं।

No comments:

Post a Comment