menubar

breaking news

Thursday, July 13, 2017

जबतक गांव के किसान का विकास नही होगा तब तक देश का विकास नही होगा

जौनपुर। सूचना विभाग जौनपुर द्वारा विकासखण्ड सुइंथाकला मे पं0 दीनदयाल उपाध्याय जन्म शताब्दी वर्ष के उपलक्ष्य में आयोजित तीन दिवसीय अन्त्योदय मेला/प्रदर्शनी के प्रथम दिन जिलाध्यक्ष भाजपा सुशील उपाध्याय, जिला महामंत्री संदीप तिवारी, सांसद प्रतिनिधि,उप जिलाधिकारी जयनरायन सचान, खण्ड विकास अधिकारी सुबास चन्द्र सरोज ने पं0 दीन दयाल उपाध्याय के चित्र पर माल्यार्पण कर कार्यक्रम का शुभारम्भ किया। जिला महामंत्री ने बताया कि पं0 दीन दयाल जन्म के उपरान्त ही विपत्तियों में घिरे रहे लेकिन उनके अन्दर पढ़ाई-लिखाई की विलक्षण क्षमता थी। पं0 जी अगर चाहते तो अपने लिए बहुत कुछ कर सकते थे लेकिन उन्होंने समाज के लिए काम किया। 
उप जिलाधिकारी शाहगंज ने सरकार द्वारा विभिन्न कल्याणकारी योजनाएं चलाने के बारे में विस्तार से बताया। खण्ड विकास अधिकारी ने बताया कि सरकार महिलाओं तथा कौशल विकास के माध्यम से ज्यादा से ज्यादा युवकों को रोजगार दे रही है। जिलाध्यक्ष भाजपा ने बताया कि पं0 दीन दयाल उपाध्याय की सोच थी कि गांव के गरीब अन्तिम व्यक्ति को लाभ मिले। खेती किसानी के बारे में प्राथमिकता देते थे। उनका मानना था कि जबतक गांव के किसान का विकास नही होगा तब तक देश का विकास नही होगा।  के0केयादव संरक्षक अपने उद्गार व्यक्त करते हुए पं0 दीन दयाल उपाध्याय के जीवनवृत्त पर प्रकाश डाला तथा लोगों से अपील किया कि तीन दिनों में इस प्रदर्शनी में जो भी सरकारी योजनाओं के बारे में बताया जायेगा उसे गांव में जाकर चर्चा करें और लोगों को उसके लाभ के बारे में बतायें। इस अवसर पर कृषि विभाग के तकनीकी सहायक डा0 रमेश चन्द्र यादव ने कहा कि पं0 दीन दयाल उपाध्याय सिर्फ एक नेता नही बल्कि समाजसेवी के साथ-साथ एक कुशल लेखक भी थे। उन्होंने बताया कि आज के आधुनिक युग में किसान खेतों में डाई, युरिया का उपयोग कर रहे है। जिससे उपज तो अच्छी हो रही है लेकिन हमारा खाद्यान्न दूषित हो गया है। जिसमें जरूरी पोषक तत्वों की कमी हो गयी है जिसके कारण अनेको प्रकार के रोग से मानव समाज ग्रसित हो रहा है। उन्होंने जैविक खादों का उपयोग करने एवं पर्यावरण को ठीक-ठाक रखने के लिए वृक्षारोपण करने पर बल दिया। प्रभारी बाल विकास अधिकारी ने बताया कि समेकित बाल विकास योजना के तहत बच्चों का कुपोषण दूर करना,उनका टीकाकरण करना,ग्रोथ चार्ट भरना, बच्चों के जन्म-मृत्यु में कमीं लाना, बच्चों का सर्वांगीण करना, वजन सुधार, टीकाकरण आदि सेवाये दी जा रही है।  
राष्ट्रीय बाल स्वास्थ्य कार्यक्रम के डा0 विनोद सिंह ने बताया कि गांव-गांव जाकर बच्चों का स्वास्थ्य परीक्षण कराया जा रहा है। उन्होंने लोगों से अपील किया कि स्वास्थ्य केन्द्र पर बच्चों को लाकर स्वास्थ्य परीक्षण निःशुल्क करा लें ताकि कुपोषण एवं अन्य बीमारियों से बचा जा सके। प्रदर्शनी में भारी संख्या में ग्रामींण जनता ने प्रदर्शनी का अवलोकन किया तथा विभिन्न स्टालों पर जाकर सरकार की जनकल्याकारी योजनाओं की जानकारी हासिल किया। प्रर्दशनी में कल्याण विभाग, गन्ना विकास विभाग, स्वास्थ्य विभाग, कृषि विभाग, उद्यान विभाग, पशुपालन विभाग, सूचना विभाग सहित अन्य विभागों द्वारा स्टाल लगाकर लोगों को सरकार की जन कल्याणकारी योजनाओं की जानकारी दिया गया। कार्यक्रम का कुशल संचालन डॉ0 रमेश यादव ने किया, आभार खण्ड विकास अधिकारी रमाशंकर सिंह ने प्रकट किया।

No comments:

Post a Comment