menubar

breaking news

Saturday, July 29, 2017

जिलाधिकारी ने वी० डी० ओ० को निलंबित करने का दिया निर्देश

मामला मड़ियाहूं विकास खंड के कुम्भ ग्राम पंचायत का 
जांच कार्यवाही तक ग्राम प्रधान के वित्तीय एवं प्रशासनिक अधिकारों पर रोक
जौनपुर। प्रदेश शासन के मंशा के अनुरूप जिलाधिकारी सर्वज्ञराम मिश्र ने अपने दायित्वों के प्रति लापरवाह ग्राम विकास अधिकारी एवं ग्राम प्रधान कुम्भ के विरुद्ध डी० डी० ओ० को अनुशासनात्मक कार्यवाही करने का निर्देश दिया है। 
पूरा मामला जनपद के मड़ियाहूं विकास खंड के ग्राम पंचायत कुम्भ से जुड़ा है, जिनमें सम्बंधित ग्राम प्रधान एवं ग्राम विकास अधिकारी द्वारा ग्राम सभा की खुली बैठक को कागजों पर दर्शाते हुए अनियमियता का खेल खेला गया। इन दोनों पर आरोप है कि कागजों पर खुली बैठक दिखाकर जिन जिन लोगों को प्रधानमन्त्री आवास योजना के तहत अपात्र दर्शाया गया था, उसे खंड विकास अधिकारी मड़ियाहूं द्वारा निर्वाचित ग्राम सदस्यों के बयान व स्थलीय निरिक्षण के दौरान यह पाया गया कि जिन 12 लाभार्थियों को अपात्र दर्शाया गया है उनमें लाभार्थी मंगना, हुबलाल, उत्तम कुमार, जयप्रकाश, मुन्ना अपात्र तथा किरण, प्रमोद, रमाशंकर, संजीवन, लेखई, धनमान, एवं श्यामलाल पात्र लाभार्थी पाए गये। 
इस पूरे मामले को जिलाधिकारी ने गंभीरता से लेते हुए जहाँ जिला विकास अधिकारी जौनपुर को वी० डी० ओ० सुनील श्रीवास्तव के विरुद्ध अनुशासनात्मक कार्यवाही करते हुए निलम्बन की कार्यवाही करने का निर्देश दिया है, वहीँ जांच कार्यवाही तक कुम्भ के ग्राम प्रधान के वित्तीय एवं प्रशासनिक अधिकारों पर रोक लगाते हुए पूरे मामले की अंतिम जांच हेतु पिछड़ा वर्ग कल्याण अधिकारी को नामित किया है। 

No comments:

Post a Comment