menubar

breaking news

Monday, June 12, 2017

तहसीलदार से बदसलूकी के आरोपियो ने न्यायालय में की आत्मसमर्पण

आरोपियों के न्यायालय में आत्मसमर्पण की खबर से, आक्रोशित अधिकारियों एवं कर्मचारियों ने प्रदर्शन समाप्त किया
जौनपुर। केराकत के तहसीलदार से दुर्व्यवहार के मामले को लेकर आज अधिकारियो कर्मचारियों का जबरदस्त  गुस्सा दिखाई पड़ा। सभी अपने अपने दफ्तर में तालाबंदी करके जोरदार धरना प्रर्दशन किया। अधिकारियों कर्मचारियो की हड़ताल के चलते अपने अपने सरकारी कार्यो से कलेक्ट्रेट आये लोगो और वादकारियों को मायूस होकर वापस लौटना पड़ा। आज दोपहर बाद आरोपियो द्वारा कोर्ट में सरेण्डर करने की खबर डीएम एसपी ने प्रर्दशनकारियो को देकर प्रर्दशन को समाप्त करा दिया।
बीते 5 जून को आधा दर्जन लोगो ने केराकत के तहसीलदार पी के राय की उनके सरकारी आवास में धावा बोलकर उनकी जमकर बदसलूकी की थी। इस मामले में तहसीलदार ने एक अधिवक्ता समेत आधा दर्जन लोगो के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराया था। आरोपियो की गिरफ्तारी की मांग को लेकर पहले अधिकारियो ने शुक्रवार को अपना काम ठप्प करके प्रर्दशन किया था। रविवार तक आरोपियो की गिरफ्तारी न होने से आज अधिकारियों के समर्थन में कलेक्ट्रेट कर्मचारी संघ आ गया। सभी अपने अपने कार्यालयो में ताला बंद कर धरने पर बैठ गये। दोपहर करीब एक बजे डीएम एसपी धरना स्थल पर पहुंचकर आन्दोलन कर लोगो को जानकारी दिया कि सभी आरापियो ने कोर्ट में आत्मसम्पर्ण कर दिया है। यह खबर मिलते ही अधिकारियो कर्मचारियो ने धरना प्रर्दशन समाप्त करके काम पर लौट गये।
केराकत तहसीलदार पी के रॉय से बदसलूकी के मुख्य आरोपी अधिवक्ता नरेंद्र प्रताप सिंह को फिलहाल अदालत ने अंतरिम जमानत पर रिहा कर दिया है। केराकत थाना पुलिस ने करीब एक दर्जन आपराधिक धाराओं में आरोपियों के विरुद्ध मुक़दमा पंजीकृत किया है। 

No comments:

Post a Comment