menubar

breaking news

Thursday, June 15, 2017

डीएम व एसपी ने बदलापुर थाने व सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र का किया आकस्मिक निरीक्षण

राजस्व वाद के ग्रामों को प्राथमिकता के आधार पर निस्तारित कराएं - डीएम
जौनपुर। जिलाधिकारी सर्वज्ञ राम मिश्र ने पुलिस अधीक्षक शैलेष कुमार पाण्डेय के साथ थाना बदलापुर का आकस्मिक निरीक्षण किया। जिलाधिकारी ने थानाध्यक्ष से भूमि विवाद, उ0प्र0 डायल 100, समाधान दिवस, गुण्डा ऐक्ट, बीट सूचना हल्कावार आर्डर बुक पुस्तिका सहित अन्य अभिलेखों का विधिवत निरीक्षण किया। जिलाधिकारी ने थानाध्यक्ष को निर्देशित किया कि राजस्व वाद के ग्रामों को प्राथमिकता के आधार पर राजस्व एवं पुलिस की संयुक्त टीम द्वारा निष्पक्ष होकर समस्याओं का समाधान करायें। इस कार्य में शिकायतकर्ता को भी अवगत कराया जाय। थानाध्यक्ष द्वारा बताया गया कि गुण्डा ऐक्ट में 4 का चालान पहले किया गया है। जिलाधिकारी व पुलिस अधीक्षक ने थानाध्यक्ष को 15 दिन के अन्दर कुछ राजस्व ग्रामों को वाद रहित घोषित कराने का निर्देश दिया। इस माह 7 प्रार्थना पत्र प्राप्त हुए है जिसमे वादों का निस्तारण गुणवत्तापूर्वक एवं समय सीमा के भीतर नही किया गया है। परिसर की साफ सफाई एवं गंदगी होने पर जिलाधिकारी ने थानाध्यक्ष के कार्यो पर असंतोष व्यक्त किया।
जिलाधिकारी ने सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र बदलापुर का आकस्मिक निरीक्षण किया। प्रसव वार्ड के निरीक्षण में विस्तरों पर चादर गन्दे पाये गये, परिसर में गन्दगी पायी गयी। मौके पर डा0 संजीव यादव के अनुपस्थित पाये जाने पर सीएमओ से स्पस्टीकरण मागने का निर्देश दिया। जिलाधिकारी ने मौके पर भरती/उपस्थित मरीजों से जानकारी प्राप्त किया तथा चिकित्सकों को निर्देशित किया कि साफ सफाई के साथ दवा वितरण, जनता से अच्छा व्यवहार तथा रात्रि निवास भी करें। टीकाकरण अभियान की समीक्षा किया। ड्युलिस्ट सही न बनाने पर नाराजगी व्यक्त किया। अधीक्षक एससी वर्मा डा. संजय दुबे, सहित अन्य चिकित्सक उपस्थित रहे। एएनएम रंजना सिंह को प्रतिकूल प्रविष्टि देने का निर्देश दिया।
इसके पश्चात विकासखण्ड बदलापुर  का आकस्मिक निरीक्षण जिलाधिकारी द्वारा किया गया  जिसमें मौके पर वीडीओ फूलचन्द्र वर्मा, एडीओ पंचायत उपस्थित रहे। जिलाधिकारी के निरीक्षण के समय गणेश मणि तिवारी, अच्छेलाल अनुपस्थित रहें। पशु पतिनाथ हस्ताक्षर बनाकर खण्डविकास अधिकारी को बिना बतायें भ्रमण पंजिका पर 9.40 पर हस्ताक्षर बनाकर एआर कोआपरेटिव के बैठक में आने का दर्शाया गया है। एआर कोआपरेटिव को बैठक के बारें मे स्थिति स्पष्ट करने का निर्देश दिया। विकासखण्ड परिसर में व्यापक गदगी पर जिलाधिकारी ने नाराजगी व्यक्त किया तथा 3 दिन में परिसर/कार्यालय की सफाई कराने का निर्देश दिया।
जिलाधिकारी द्वारा तहसील का निरीक्षण किया गया। मौके पर उपस्थित अधिवक्ताओं एवं आमजनों से अपील किया कि परिसर में साफ सफाई एवं वाहनों के खड़ा करने का स्थान उपजिलाधिकारी डा. केएस पाण्डेय को निर्धारित कराने का निर्देश दिया। जिलाधिकारी ने उप जिलाधिकारी न्यायालय का भी निरीक्षण किया पुराने वादों, धारा 41 राजस्व संहिता 24 के मुल प्रार्थना पत्र लम्बित रखने मिसिलबन्द पंजिका न प्रस्तुत करने वर्ष 02 मार्च 2014 से अंकित अन्तिम प्रविष्टि 09 मई 2016, 22 जुलाई 2016 रजिस्टर में प्रविष्टि न करने ,उपजिलाधिकारी के आदेश के बाद भी न चढ़ाने तथा सरकारी कार्य में रूचि न लेने के लिए पेशकार प्रमोद श्रीवास्तव को तत्काल प्रभाव से निलम्बित कर विभागीय कार्यवाही करने का निर्देश उपजिलाधिकारी को दिया। आर 6 न प्रस्तुत करने पर नाराजगी व्यक्त किया तथा तहसीलदार से स्पस्टीकरण मांगने का निर्देश दिया। जिलाधिकारी ने सचेत किया कि अविवादित वरासत न दर्ज करने पर तहसीलदार के विरूद्व कार्यवाही की जायेगी। बडे़ बकायेदारों, अवैध कब्जाधारी, भू माफियाआंे पर कार्यवाही करने का निर्देश दिया। तहसीलदार राजेन्द्र बहादुर, नायब तहसीलदार अरविन्द मिश्रा उपस्थित रहे। 

No comments:

Post a Comment