menubar

breaking news

Saturday, June 24, 2017

जौनपुर पुलिस ने हत्या कर फेंके गये अज्ञात शव के मामले में किया खुलासा, पत्नी ही निकली पति की कातिल

जौनपुर। जनपद के मड़ियाहूं कोतवाली थाना क्षेत्र के सुबाषपुर में बीते 13 जून को हत्या कर फेका गया अज्ञात शव पाया गया था, जिसके बारे में पुलिस ने जांच करते हुए खुलासा किया कि पत्नी ही पति की कातिल है। उसने अपने प्रेमी के साथ मिलकर अपने पति की हत्या कराई थी।
जिसके बाद पुलिस ने पत्नी समेत प्रेमी और एक दोस्त को पुलिस ने गिरफ्तार कर हत्या में प्रयुक्त हथियार चाकू, दस्ताना, एक मोटर साईकिल, तीन मोबाइल बरामद कर लिया है।
बीते 13 जून को मड़ियाहूं थाना क्षेत्र के पाली सुभाषपुर गांव में एक युवक का धारदार हथियार से हत्या करके शव एक खेत में पाया गया था। इस खबर ने पूरे इलाके में सनसनी फैला दिया था। पुलिस मौके पर पहुंचकर मृतक का शिनाख्ता करने का प्रयास किया लेकिन उसकी शिनाख्त नही हो पायी थी। केवल उसके हाथ पर पंकज और सीने पर रूपाली लिखा हुआ मिला था। पुलिस आसपास के गांव में काफी प्रयास किया लेकिन उसका कोई अतापता नही चला। बाद में पुलिस ने गांव में 12 जून में आयी बारात के बारे में जानकारी किया तो पुलिस का तीर सही निशाने पर लग गया। जांच पड़ताल में पता चला कि पंकज वाराणसी जिले के फूलपुर थाना क्षेत्र के करिख्याव का रहने वाला है। सीने पर उसने अपनी पत्नी रूपाली का नाम लिखवा रखा था।
पुलिस अधीक्षक शैलेश पाण्डेय ने बताया कि मुखबिर द्वारा मिली सूचना के आधार पर आज इटाये बाजार के आगे नहर के पास से पुलिस ने दो व्यक्तियों के साथ एक महिला को मोटरसाइकिल के साथ गिरफ्तार कर लिया। अभियुक्तों से कड़ाई से पूछताछ किये जाने पर उन्होंने बताया कि रुपाली के कहने पर हम दोनों ने पंकज उर्फ बबलू की हत्या सुबासपुर में किये थे। पंकज आरक्रेष्ट्रा  कम्पनी में डांसर था, उसने रूपाली को लव मैरेज किया था। लेकिन इधर कुछ महिनो से दोनो में अक्सर विवाद होने लगा। जिसके कारण दोनो की बीच दूरिया बढ़ने लगी उधर रूपाली का पंकज के दोस्त सत्यम गौड़ उर्फ छोटू से नजदिकिया बढ़ती गयी। दोनो शादी करना चाहते थे लेकिन पंकज के जिन्दा रहते यह नामुकीन था। अपना काटा निकालने के लिए रूपाली और सत्यम ने पंकज को मौत के घाट उतारने के लिए एक योजना बनाया। योजना के तहत बीते 12 जून को उसके गांव से जौनपुर जिले में आयी बारात में पंकज सत्यम और सचिन आये थे। योजना के अनुसार तीनो सुनसान इलाके में जमकर शराब पीया। जिसमें पंकज को जमकर शराब पिलाया गया। पंकज जब पूरी तरह से नशे में हो गया तो सत्यम और सचिन ने मिलकर उसका गला रेतकर बेरहमी से कत्ल कर दिया। मृत पंकज का मोबाइल हम लोग ले लिए और सिम तोड़कर फेंक दिए। आज रुपाली को उसके गाँव छोड़ने आये थे और साधन का इंतजार कर रहे थे। चाकू व दस्ताना हम दोनों ने सुबाशपुर में सीसम के झुरमुट में रखे हैं। आरोपियों की निशानदेही पर मौके से चाकू व दस्ताना बरामद किया। 

No comments:

Post a Comment