menubar

breaking news

Friday, June 9, 2017

जब जलाई गई एक साथ 24 चिताये तो नम हो गयी सभी की आंखे

बरेली। बस हादसे का शिकार हुए 24 यात्रियों का शुक्रवार को सिटी शमशान भूमि पर अंतिम संस्कार किया गया। शव इस हालत में पहुंच चुके थे कि उनकी पहचान संभव नहीं थी। लिहाजा बिलखते परिजन हर शव को अपना समझ रहे थे।
जब सभी की आंखें हुईं नम-इस दर्दनाक मंजर के साक्षी बने सभी लोगों की आंखें नम थीं। एक साथ 24 चिताएं सजाई गयी, जिन्हें एक साथ अग्नि के हवाले कर दिया गया। परिजनों का रो रोकर हाल बुरा था जिसे देख मौके पर मौजूद लोग भी अपने आंसू भी नहीं रोक पाए। यहां तक की पुलिसकर्मियों की भी आंखों में नमी थी। इस बीच शवों का पोस्टमार्टम करने वाला भी बोल पड़ा कि इतने शव एक साथ नहीं देखे।
अंतिम संस्कार के लिए समिति का गठन-
जिलाधिकारी डॉ पिंकी जोवेल ने बताया कि बस दुर्घटना में मरने वाले यात्रियों के अंतिम संस्कार के लिए समिति का गठन किया गया था, जिसके बाद शवों का सामूहिक अंतिम संस्कार किया गया है। डीएनए रिपोर्ट आने के बाद मृतकों के परिजनों को सहायता मिल सकेगी और इन लोगों को उनके सम्बंधित जिला प्रशासन से सहायता उपलब्ध होगी।

No comments:

Post a Comment