menubar

breaking news

Sunday, May 7, 2017

एसपी से थानेदार तक पढ़ेंगे 'निर्भया कांड' की विवेचना, केस स्टडी के रूप में शामिल करने की चल रही तैयारी

Image result for images of nirbhaya
लखनऊ। यूपी में एसपी से लेकर थानेदार तक 'निर्भया कांड' को पढ़ेंगे। इस केस कि विवेचना की एक-एक लाइन और वैज्ञानिक आधार पुलिस पाठ्यक्रम में शामिल होने जा रहा है। प्रशिक्षण विभाग ने इसे केस स्टडी के रूप में शामिल करते हुए पुलिस लाइन, पुलिस स्कूल और पुलिस के कॉलेजों में पढ़ने का फैसला किया है। 
सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार पुलिस अफसरों को बताया जायेगा कि किस तरह से सटीक साक्ष्यों के माध्यम से गुनहगारों को सख्त सजा दिलाई जा सकती है। 
आमतौर पर पुलिस की सबसे कमजोर कड़ी मानी जाती है विवेचना। लचर तफ्तीश और साक्ष्यों की कमी के चलते बड़े बड़े आरोपी आसानी से छूट जाते हैं, लेकिन निर्भया कांड की विवेचना को कानून के हर जानकार ने सराहा है। एक एक साक्ष्य पुलिस ने इस तरह से जोड़ा कि दोषी किसी तरह से भी बचकर निकल न पाएं। 
सूत्रों की मानें तो एडीजी ट्रेनिंग वीके मौर्य ने कहा है कि केस स्टडी के रूप में निर्भया कांड की विवेचना शामिल की जा रही है। 
पुलिस अफसरों का मानना है कि अगर किसी केस की विवेचना मजबूती के साथ हो जाए तो आरोपी बच नहीं सकता। अधूरी विवेचना, साक्ष्यों की कमी और गवाहों को पेश न कर पाने के कारण केस कमजोर हो जाता है। पुलिस की इसी कमजोरी का फायदा उठाकर आरोपी बाख निकलते हैं। उन्हें जो सजा मिलनी चाहिए वो नहीं मिल पाती है।

No comments:

Post a Comment