menubar

breaking news

Friday, May 26, 2017

जौनपुर में जिला जज के निर्देशानुसार कलेक्ट्रेट स्थित प्रेक्षागृह में महिलाओं पर यौन उत्पीड़न जागरूकता गोष्ठी हुई सम्पन्न


Displaying 2.JPG
Displaying 3.JPGजौनपुर। विधिक सेवा प्राधिकरण जौनपुर के तत्वाधान में जिला जज नन्दलाल के निर्देशानुसार कलेक्ट्रेट स्थित प्रेक्षागृह में महिलाओं का कार्यस्थल पर यौन उत्पीड़न (निवारण, निषेध एवं प्रतिशोध तथा जागरूकता गोष्ठी) सम्पन्न हुयी जिसमे सचिव रवि यादव ने गोष्ठी में परिचर्चा करते हुए महिलाओं के अधिकारों उनके उपर हो रहे अत्याचारों तथा प्राधिकरण के उद्देश्यों पर विस्तार से चर्चा करते हुए कहा कि विधिक साक्षरता एवं जागरूकता से सुलह समझौते के माध्यम से अधिकाधिक वादों का निस्तारण कराया जा रहा है। मनोज कुमार वर्मा एडवोकेट ने बताया कि सुप्रीम कोर्ट के निर्देशानुसार गरीबो असहायों के लिए राज्य एवं विधिक सेवा प्राधिकरण का गठन किया गया है। महिला उत्पीड़न के बारे में बताया कि कन्या भ्रुण हत्या एक जघन्य अपराध है। इसी प्रकार कन्याओं की हत्या होती रही तो समाज कन्या विहीन हो जायेगा इसके लिए हम सबकों जागरूक होकर संघर्ष करने की आवश्यकता है। उन्हाने बताया कि 2011 तक कुल 132 मामले कन्या भ्रुण हत्या कि आये जिसमे 70 व्यक्ति गिरफ्तार किये गये 50 के खिलाफ चार्जशीट दाखिल हुआ 12 को दोषी ठहराया गया। दिव्या सिंह यादव ने कहा कि आज हर क्षे़त्र मे महिलाएं पुरूषो से आगे है महिलाएं अगर गलती सहना छोड़ दें तो  उसी दिन से पुरूष गलती करना छोड देंगे। कृष्णानन्द पाण्डेय ने कहा कि हमें लड़की और लड़के मे भेद नही करना चाहिए आदिकाल से ही कहा गया है कि जहां स्त्रियों की पूजा की जाती है वही देवता वास करते है। राहुल मिश्र ने बताया कि  एक दुसरे से इसके बारे मे चर्चा कर के जागरूकता फैलाया जा सकता है। तहसीलदार सदर बृजेश कुमार सिंह ने विस्तार से चर्चा करते हुए सभी के प्रति आभार व्यक्त किया। कार्यक्रम का सफल संचालन सधिंकर्ता डा. दिलीप कुमार सिंह ने किया। इस अवसर पर जितेन्द्र कुमार, सुनील कुमार मौर्य महांमत्री लेखपाल सघं सहित भारी संख्या मे अधिवक्ता एवं लेखपाल तथा अन्य लोग उपस्थित रहे है। 


No comments:

Post a Comment