menubar

breaking news

Saturday, May 6, 2017

डीएम से अनुमति के बाद उचितदर के तीन विक्रेताओं के विरुद्ध मुकदमा पंजीकृत - जिला पूर्ति अधिकारी

जौनपुर। जिला  पूर्ति अधिकारी डॉ0 राकेश तिवारी ने बताया कि श्रीमती सुदामा देवी प्रधान ग्राम पं0-राजापुर पकड़ी, वि0ख0/तहसील- मछलीशहर के द्वारा 2 मई को उचितदर विक्रेता प्यारेलाल के विरुद्ध तहसील दिवस में जिलाधिकारी डा0 बलकार सिंह के समक्ष शिकायती पत्र दिया गया था। जॉच में पाया गया कि विक्रेता के स्टाक/बिक्री रजिस्टर का मिलान करने के उपरान्त कुल गेहूं-35 बोरी व चावल-36 बोरी कम पाया गया, जिससे स्पष्ट है कि विक्रेता द्वारा उक्त खाद्यान्न का दुरुपयोग किया गया है।
इसी प्रकार तहसील-शाहगंज के विकास खण्ड-शाहगंज के ग्राम पंचायत- लखमापुर की जांच 05 मई को पूर्ति निरीक्षक राजेन्द्र यादव व मनीष कुमार को मुखबिर से मिली सूचना के आधार पर राजेन्द्र प्रसाद, उचितदर विक्रेता, लखमापुर की जांच अपराह्न 05.30 बजे की गयी। 
मौके पर विक्रेता उपरोक्त को बुलाया गया और उससे स्टॉक/बिक्री रजिस्टर प्राप्त कर उसके स्टॉक का सत्यापन किया गया। विक्रेता के स्टॉक रजिस्टर तथा दुकान में उपलब्ध खाद्यान्न में स्टाक का सत्यापन करने पर यह तथ्य प्रकाश में आया कि विक्रेता द्वारा हॉट गोदाम शाहगंज से 28 अप्रैल को खाद्यान्न की निकासी ली गयी। विक्रेता द्वारा स्टॉक रजिस्टर में 1 मई से 05 मई तक स्टॉक रजिस्टर भरा नहीं गया। स्टॉक रजिस्टर में अंकित मात्रा एवं विक्रेता के दुकान में उपलब्ध स्टॉक में अन्त्योदय के 13.17 कुं0 गेहूँ तथा पात्र गृहस्थी के 2.53 कुं0 चावल कम पाया गया। विक्रेता के यहाँ उपलब्ध स्टॉक को कब्जे में लेकर श्री पवन कुमार सिंह, उचितदर विक्रेता, ग्राम पंचायत-सन्दहां की सुपुर्दगी में इस निर्देश के साथ दिया गया है कि उपरोक्त खाद्यान्न को अग्रिम आदेश तक सुरक्षित रखेंगे। 
3 मई को पार्वती देवी, उचितदर विक्रेता ग्राम पंचायत-सुरेरी, वि0ख0-रामपुर के दुकान की जांच पूर्ति निरीक्षक श्री सुशील कुमार पाण्डेय द्वारा की गयी। विक्रेता से स्टॉक/बिक्री रजिस्टर मांगे जाने पर अभिलेख प्रस्तुत किया गया। स्टॉक रजिस्टर के अनुसार माह-मई हेतु प्राप्त आवंटन एवं भौतिक सत्यापन में पाये गये स्टॉक की मात्रा में अन्त्योदय एवं पात्र गृहस्थी के खाद्यान्न में गेहूँ 04 बोरी तथा चावल 51 बोरी कम पाया गया। 
उपरोक्त तीनों उचितदर विक्रेताओं के विरूद्ध जिलाधिकारी से अनुमति प्राप्त कर धारा 3/7 के अन्तर्गत प्रथम सूचना रिपोर्ट दर्ज करा दी गयी है।

No comments:

Post a Comment