menubar

breaking news

Tuesday, May 9, 2017

उत्तर प्रदेश में 102 और 108 एम्बुलेंस सेवा में हुई धांधली, एफआईआर का आदेश

Image result for PICS OF AMBULANCE IN UPलखनऊ। यूपी की पूर्व अखिलेश सरकार के प्रोजेक्ट 108 और 102 एंबुलेंस सेवा के संचालन में गड़बड़ी  सामने आने के बाद शासन ने सेवा प्रदान करने वाली एजेंसी के खिलाफ कार्यवाही करने का आदेश दिया है। 
सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार बीते अप्रैल में एनएचएम निदेशक आलोक कुमार ने 102 एंबुलेंस सेवा की दी गई एक्सेल शीट की जांच में धांधली के दौरान  पता चला था कि कंपनी ने हर माह भुगतान के लिए दी जाने वाली एक्सेल रिपोर्ट में फर्जी मरीज की एंट्री कर करोङो रुपये का भुगतान लिया है। इसके बाद एनएचएम निदेशक ने डीजी परिवार कल्याण को पत्र लिखकर एजेंसी के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराने को कहा और लापरवाह सीएमओ के खिलाफ कार्रवाई के लिए शासन को भी पत्र लिखा जाएगा। 
सूत्रों की माने तो इसके बारे में जीवीके ईएमआरआई कंपनी के ऑपरेशन स्टेट हेड ने कहा है कि एंबुलेंस संचालन की रिपोर्ट में कोई फर्जी एंट्री नहीं है। यदि कोई गड़बड़ी लगती है तो दोबारा जांच करा सकते हैं। 
मालूम हो की प्रदेश में जीवीके ईएमआरआई कंपनी ने लंबे समय से 108 और 102 एंबुलेंस संचालन करता है। वर्ष 2012 में शुरू हुई 108 एंबुलेंस सेवा में कुल 1488 गाड़िया   , वर्ष 2014 में शुरू हुई 102 एंबुलेंस सेवा में 2270 गाड़ियां हैं।

No comments:

Post a Comment