menubar

breaking news

Sunday, April 16, 2017

सीएम योगी ने कहा - जब देश एक है तो फिर शादी और ब्याह के कानून अलग क्यों ?

म‌ीडिया नकारात्मक चीजों को नकार दे और सकारात्मक चीजों को गत‌ि दे तो लोग अच्छाई की ओर जाएंगे
लखनऊ। सीएम योगी आ‌द‌ित्यनाथ व‌िधानसभा के सेंट्रल हॉल में राष्ट्रपुरुष चंद्रशेखर-संसद में दो टूक पुस्तक का व‌‌िमोचन करने पहुंचे। सीएम योगी ने ट्रिपल तलाक पर, महाभारत में द्रौपदी के चीरहरण का हवाला देते हुए योगी ने कहा कि तीन तलाक पर चुप्पी साधने वाले अपराधी समान हैं। देश की समस्या पर कुछ लोगों का मुंह बंद है। 
सीएम योगी ने कहा कि चंद्रशेखर जी ने कहा था क‌ि देश की समस्याओं का समाधान मल्टीनेशनल कंपनियां नहीं कर सकती हैं। उनके लिए अपनी विचारधारा नहीं राष्ट्र महत्वपूर्ण था। नकारात्मक चीजों को खबर बनाने से समाज में नकारात्मकता आती है। समाज की नकारात्मकता को हम नकार देंगे तो समाज में सकारात्मकता आएगी। म‌ीडिया नकारात्मक चीजों को नकार दे और सकारात्मक चीजों को गत‌ि दे तो लोग अच्छाई की ओर जाएंगे।
यूपी विधानसभा के सेंट्रल हॉल में आज पूर्व प्रधानमंत्री चंद्रशेखर के संसद में दिए गए तमाम भाषणों पर लिखी गयी पुस्तक 'राष्ट्रपुरुष चंद्रशेखर: संसद में दो टूक' का विमोचन के मौके पर बोलते हुए योगी ने समान नागरिक संहिता की वकालत करते हुए कहा कि जब देश एक है तो फिर शादी और ब्याह के कानून अलग क्यों ? उनके एक होने में क्या दिक्कत है।
चंद्रशेखर जी ने कहा था ‌क‌ि हमारे फौजदारी के मामले और शादी विवाह के मामले एक हैं तो कॉमन सिविल कोड क्यों नहीं। योगी ने कहा, देश की ज्वलंत समस्या को लेकर एक वर्ग चुप है। तलाक जैसे मुद्दों पर चुप रहने वाले अपराधी के समान हैं। मुझे ये देखकर महाभारत का द्रोपदी के चीर हरण वाला दृश्य याद आता है।

No comments:

Post a Comment