menubar

breaking news

Friday, March 10, 2017

अंतरिक्ष में गुम हुए भारत के पहले चंद्रयान को नासा के वैज्ञानिकों ने खोज निकाला

Chandrayaan-1 spotted orbiting the moon by NASAनई दिल्ली। भारत का पहला चंद्रयान मिशन चंद्रायन-1 अंतरिक्षयान जो कि ईसरो से संपर्क टूटने के बाद अंतरिक्ष में ही गुम हो गया था नासा के वैज्ञानिकों ने खोज निकाला है। 
सूत्रों की मानें तो नासा ने एक नई तकनीकी के जरिए अंतरिक्षयान को खोज निकालने में कामयाबी हासिल की है।
बता दें कि मिशन चंद्रयान-1 दो साल के लिए अक्टूबर 2008 में भेजा गया था लेकिन महज 10 महीने में ही इसका संपर्क टूट गया था।  29 अगस्त, 2009  को ईसरो का संपर्क यान से टूट गया था। जिसके बाद ईसरो अधिकारियों ने यान को खोजने में लगातार प्रयास किए लेकिन यान का कुछ भी पता नहीं चल सका। चंद्रायन-1 को 22 अक्टूबर 2008 को श्रीहरिकोटा से ध्रुवीय उपग्रह प्रक्षेपण यान(पीएसएलवी) से लांच किया गया था।
वैज्ञानिकों के अनुसार, चंद्रयान-1 चंद्रमा की सतह से 200 किलोमीटर ऊपर परिक्रमा कर रहा है। इसे अमेरिकी स्पेस एजेंसी की जेट प्रोपल्सन लैबोरेटरी की मदद से खोज निकाला गया। नासा की तरफ से बताया गया कि 'चंद्रायन-1 को ढूंढना आसान था, लेकिन हम तालमेल के जरिए भारत के चंद्रायन-1 को ग्राउंड बेस्ड रेडार  के माध्यम से ढूंढ निकालने में सफल हुए हैं।'

No comments:

Post a Comment