menubar

breaking news

Tuesday, January 31, 2017

बजट 2017 ! 3 लाख तक की आय पर कोई टैक्स नहीं, 5 लाख पर सिर्फ 5 प्रतिशत टैक्स


नई दिल्ली। मोदी सरकार का चौथा आम बजट पेश करते हुए वित्त मंत्री अरुण जेटली ने अर्थव्यवस्था की चुनौतियों का उल्लेख करते हुए कहा कि सरकार की कोशिश देश की अर्थव्यवस्था को और अधिक संगठित करने की होगी। जेटली ने बजट 2017-18 में भ्रष्टाचार और काले धन को केंद्र में रखा।
बजट की घोषणाएं - संसद की कार्यवाही शुक्रवार तक के लिए स्थगित  रहेंगी। अप्रत्यक्ष कर और सर्विस टैक्स में कोई बदलाव नहीं। 50 लाख से अधिक आय के लोगों के लिए 10 प्रतिशत का अधिक सरचार्ज, 5 लाख तक की आय वालों के लिए 1 पेज का सरल फॉर्म होगा, पार्टी को चंदे के रूप में बॉन्ड दिए जा सकते हैं। 5 लाख तक की आय पर कर की दर 10 प्रतिशत से घटाकर 5 प्रतिशत, 3 लाख तक की आय वाले लोगों के टैक्स की दर शू्न्य प्रतिशत, 3 लाख से 3.50 लाख तक की आय वाले लोगों पर 2500 रुपये टैक्स, 2000 रुपये से ज्यादा का चंदा नकद नहीं ले पाएंगी पार्टियां, पार्टी फंडिंग में पारदर्शिता पर टैक्स में छूट, तीन लाख से अधिक का लेन-देन कैश में नहीं, कालेधन के लिए विशेष जांच दल का गठन, 50 करोड़ टर्नओवर वाली  MSME पर लगने वाले टैक्स पर 5 प्रतिशत कमी का ऐलान
साथ ही बजट में छोटी कंपनियों का टैक्स घटाकर 30 प्रतिशत से घटाकर 25 प्रतिशत,  भारत 1.74 करोड़ लोग आयकर जमा करते हैं, जिसमें 99 लाख 2.5 लाख से कम बनाते हैं। 76 लाख लोग 5 लाख से ज्यादा आय बताते हैं। जिसमें से बीस लाख व्यापारी वर्ग हैं। 50 लाख से ज्यादा आय बताने वालों 1.72 लाख लोग हैं। 5 साल में भारत में 1.2 करोड़ कार बेची गईं। एडवांस इनकम टैक्स भरने वालों की संख्या में 34 प्रतिशत का इजाफा, निजी आयकर में 34.8 प्रतिशत की बढ़ोत्तरी ,बजट घोषणाओं को देखते हुए रुपया मजबूत, सोने में गिरावट ,आरबीआई नया पेमेंट रेगुलेटरी बोर्ड बनाएगा, इस साल साबरमती आश्रम और चंपारण सत्याग्रह की 100वीं जयंती मनाई जाएगी। रक्षा क्षेत्र के लिए 2.74 लाख करोड़ का बजट ,भगोड़े आर्थिक अपराधियों पर कसेगा शिकंजा, सरकार कानून के दायरे में लाएगी ताकि संपत्ति जब्त की जा सके। 21.27 लाख करोड़ का कुल बजट ,मार्च 2017 तक बैंकों को 20 लाख पीओएस स्थापित करने का लक्ष्य मार्च 2017 तक बैंकों को 20 लाख पीओएस स्थापित करने का लक्ष्य ,भीम ऐप को बढ़ावा देने के लिए दो योजनाएं लाई जाएंगी। आम लोगों के रेफरल और व्याापारियों के लिए कैशबैक आधारित योजना,  पीपीपी मॉडल के तहत छोटे शहरों में एयरपोर्ट बनाएं जाएंगे। आधारभूत ढांचे के लिए अब तक का सबसे ज्यादा बजट, 3.96 लाख करोड़ का आवंटन एफडीआई नीति में और ढील दी जाएगी, संबंधित घोषणा आने वाले समय में होगी। 

बस और बोलेरो की जोरदार टक्कर में 9 लोगों की दर्दनांक मौत


bus and bolero accident in ramnagar barabankiबाराबंकी। जनपद के रामनगर इलाके में गनेशपुर के समीप बस और बोलेरो की जोरदार टक्कर में 9 लोगों की मौत हो गयी है। इस घटना से पूरे क्षेत्र में कोहराम मच गया है। 
सूत्रों से मिली जानकारी के मुताब‌िक तेज रफ्तार से आ रही बस और बोलेरो की आमने-सामने टक्कर हो गयी ज‌िससे 8 लोगों की मौके पर ही मौत हो गई जबकि वहीं एक व्यक्त‌ि की अस्पताल में मौत हो गयी। 
सूत्रों की मानें तो मृतकों में स‌िर्फ बोलेरो चालक फहीम की श‌िनाख्त हो सकी है। गाड़ी में म‌िले कागजों के आधार पर कहा जा रहा है क‌ि मरने वाले लोग रुदौली-फैजाबाद के हो सकते हैं, लेकिन क‌िसी के न बचने से अभी तक श‌िनाख्त नहीं हो सकी है।
सूचना मिलते ही मौके पर पहुंची पुलिस ने शवों को कब्जे में कर आवश्यक कार्यवाही में जुट गयी है। 

बजट ! अब आईआरसीटीसी से ई-टिकट लेने पर नहीं लगेगा सर्विस टैक्स, डाकघरों से मिलेगा पासपोर्ट - अरुण जेटली


नई दिल्ली। विपक्ष के हंगामें के बीच वित्त मंत्री अरुण जेटली ने लोकसभा में बजट पेश किया। बजट की शुरूआत शायरी से करते हुए जेटली ने सदन को संबोधित किया। शायरी से वित्तमंत्री का इशारा नोटबंदी की तरफ था। अरूण जेटली ने कहा कि नोटबंदी से देश को वित्तीय मजबूती मिली है।
बजट 2017-18 में मनरेगा के लिए आवंटन बढ़ा दिया गया है। वित्त मंत्री ने कहा कि मनरेगा का बजट 48 हजार करोड़ रुपये किया गया है।' वहीं किसानों के लिए वित्त मंत्री ने विशेष जोर दिया। आने वाले सालों में सरकार किसानों को 10 लाख रुपये तक का कर्ज देगी।
वित्त मंत्री ने बजट में गुजरात, झारखंड में एम्स खोले जाने का ऐलान किया है। बजट में कालाजार, चेचक, टीबी जैसी बिमारियों को खत्म करने के लिए समय तय किया गया है।
रेलवे के लिए भी वित्त मंत्री ने कई घोषणाएं की। कैशलेस इकॉनोमी को बढ़ावा देने के उद्देश्य से जेटली ने कहा कि अब आईआरसीटीसी से ई-टिकट लेने पर सर्विस टैक्स नहीं लगेगा। उन्होंने कहा कि रेल सुरक्षा के लिए 1 लाख करोड़ रुपये खर्च किये जाएंगे। वहीं मेट्रो के लिए नए अधिनियम बनाने का फैसला किया गया।
इससे पहले कांग्रेस की मांग को खारिज करते हुए लोकसभा स्पीकर सुमित्रा महाजन ने कहा कि बजट पेश करना संवैधानिक जिम्मेदारी है, आज ही बजट पेश किया जाएगा। कांग्रेस ने बजट टालने की मांग की थी।
बता दें कि बजट में कहा गया है कि भगोड़ों की संपत्ति पर होगा जोड़, भगोड़ों के लिए नया कानून बनेगा, डाकघरों से मिलेगा पासपोर्ट, डिजीटल कैश से आम आदमी को फायदा होगा, सरकार ने भीम एप की शुरुआत की
बैंकिंग पद्धति को मुख्यधारा में लाया गया  साथ ही दलित, पिछड़ों, अल्पसंख्यकों पर जोर, सरकारी कंपनियों के लिए लिस्टिंग की सीमा, विदेशी निवेश के लिए ऑनलाइन आवेदन करना होगा, प्रत्यक्ष विदेशी निवेश नीति उदार होगी, इंफ्रास्टक्चर बढ़ाने के लिए 3 लाख 96 हजार करोड़ रुपये, पिछले बजट में था 2 लाख 21 हजार रुपये का प्रावधान, इंफ्रास्टक्चर बढ़ाने पर जोर, हाईवे के लिए 64 हजार 900 करोड़ रुपये, PPP मॉडल से छोटे शहरों में एयरपोर्ट बनाए जाएंगे, ट्रेनों में बायो टॉइलट लगाए जाएंगे, 2019 तक इस काम को समाप्त कर लिया जाएगा, टूरिजम और धार्मिक यात्राओं के लिए अलग से ट्रेनें चलाई जाएंगी,  मेट्रो में युवाओं के लिए रोजगार बढ़ेगा, मेट्रो रेल के लिए नई नीति की घोषणा, मेट्रो अधिनियम बनाए जाएंगे, ई-टिकट पर सर्विस टैक्स खत्म
आईआरसीटीसी स्टॉक एक्सचेंज में लिस्टेड होगा, 500 स्टेशन दिव्यांगों के अनुकूल बनाए जाएंगे, सभी कोचों में कोच मित्र होगा, 3500 किलोमीटर नई लाइनें बनाई जाएगी, 2020 तक मानव रहित क्रॉसिंग खत्म करेंगे, रेल सुरक्षा के लिए 1 लाख करोड़ रुपये, आधार आधारित स्मार्ट कार्ड बनाए जाएंगे, जिसमें सारा ब्योरा होगा, 2025 तक टीबी बिमारी को खत्म करेंगे, 2019 तक कालाजार खत्म होगा, झारखंड, गुजरात में एम्स खुलेंगे, 2022 तक 5 लाख लोगों को रोजगार दिया जाएगा, UGC में सुधार किया जाएगा, IIT में प्रवेश के लिए नई बॉडी बनेगी। सबका साथ, सबका विकास सरकार का लक्ष्य, ग्रामीण इलाकों में हर रोज 133 किलोमीटर सड़क बनाए जा रहे हैं।
2019 तक एक करोड़ लोगों को घर, मनरेगा में महिलाओं की भागीदारी 55 फीसदी हुई, डेयरी विकास के लिए 8000 करोड़ रुपये का बजटीय प्रावधान किया गया है, 48 हजार करोड़ रुपये किया गया मनरेगा का बजट, ग्राम पंचायतों में जल की कमी नहीं होगी, नाबार्ड के लिए 20 हजार करोड़ रुपये का कर्ज देंगे, फसल बीमा के लिए 9 हजार करोड़ रुपये का कर्ज देंगे, किसानों को 10 लाख करोड़ तक का कर्ज देंगे, 5 साल में किसानों की आय दोगुनी होगी, किसानों को फायदा पहुंचाने पर जोर दिया जाएगा। चालू घाटा घटकर GDP का 0.3 प्रतिशत रह गया है, देश में FDI का फ्लो बढ़ा, भारत निर्माण उद्योग के मामले में दुनिया में छठे स्थान पर पहुंच गया है, पहले हम 9वें स्थान पर थे, 1924 से चली आ रही व्यवस्था खत्म की, रेल बजट को आम बजट में मिलाना ऐतिहासिक, 2017 में आर्थिक विकास दर में तेजी की उम्मीद, जीएसटी से विकास दर में आएगी तेजी, विदेशी मुद्रा भंडार बढ़ा, कच्चे तेल की कीमतों में कमी संभव, कालेधन पर कार्यवाई सरकार की बड़ी कामयाबी है। 

इस मालिक ने अपने कर्मचारियों को बोनस में गिफ्ट किया 1200 कारें

Surat diamond merchant gives away 1200 cars as bonus
सूरत। हीरा व्यापारी और हरे कृष्ण एक्सपोर्ट के मालिक सावजीभाई ढोलकिया ने अपने कर्मचारियों को एक बार फिर से नए साल के बोनस में 1200 कारें गिफ्ट की हैं। ढोलकिया ने इस बार अपने उन कर्मचारियों को बोनस के तौर पर डेटसन-रेडी गो कार दी हैं जिनको पिछले कई सालों से बोनस नहीं मिला था।
बता दें कि ढोलकिया 2013 से कर्मचारियों को ऐसे गिफ्ट बांटकर चर्चा में रह रहे हैं। पहली बार इन्होने कर्मचारियों को 1260 कारें बोनस के तौर पर दी थी जिसमें मारुति सुजुकी, फिएट और डेटसन की गाड़ियां थी। इस बार डेटसन ने एक दिन में ही 650 कारों की डिलिवरी कर दी, जबकि बाकी की गाड़ियां बाद में डिलिवर की जाएंगी। जिन गाड़ियों को कंपनी ने आज डिलिवर किया वो सभी तिरंगे की पट्टियों से सजी हुई थीं।

50 हजार से अधिक की ज्वैलरी खरीदने पर देना होगा पैन, आधार कार्ड नंबर

Image result for image of goldनई दिल्ली। सरकार ज्वैलरी खरीदने पर लगाम लगा सकती है। वित्त मंत्री अरुण जेटली इस बात की घोषणा अपने बजट भाषण में कर सकते हैं।  अब 50 हजार रुपये से अधिक की ज्वैलरी खरीदने पर आपको पैन नंबर या आधार कार्ड नंबर देना होगा। सरकार ज्वैलर्स पर वैसे भी बहुत नकेल कस चुकी हैं, जिसकी वजह से ज्वैलर्स पहले से ही सरकार से खासे नाराज हैं।
सूत्रों के मुताबिक सरकार काले धन पर लगाम लगाने के लिए ज्वैलर्स के ऊपर यह नियम लगाने जा रही है।
बता दें कि दो लाख रुपये से ऊपर की ज्वैलरी खरीदने पर पैन नंबर देना अनिवार्य है लेकिन अब सरकार इसको इस रकम को बदलकर 50 हजार करने जा रही है।

जिले में किशोर न्याय अधिनियम का अक्षरशः पालन किया जाय - अपर जिलाधिकारी

जौनपुर। नोडल पुलिस अधिकारी एसजेपीयू/ क्षेत्राधिकारी नगर अमित कुमार राय ने बताया कि पुलिस लाइन में विशेष किशोर इकाई के थानों के बाल कल्याण अधिकारी, रामभरोसे कुशवाहा प्र0 ए.एच.टी.यू. एवं समस्त स्टाफ, बाल कल्याण से जुडे़ अन्य प्रतिभागियों का बाल मैत्री परियोजना के तहत पुलिस महानिदेशक महिला सम्मान प्रकोष्ठ के निर्देश पर विशेष किशोर यूनिट के नोडल प्रभारी अधिकारी अमित कुमार राय की अध्यक्षता में सम्पन्न हुई। प्रशिक्षण राममनोहर लोहिया विधि विश्वविद्यालय लखनऊ से सुश्री स्मृति शुक्ला व डा0 मधु पाण्डेय द्वारा विस्तार से दिया गया। सुश्री स्मृति शुक्ला द्वारा किशोर न्याय अधिनियम-2015 पर विस्तार से चर्चा की गयी तथा साथ ही समेकित बालसंरक्षण योजना के तहत जिले स्तर पर गठित जिला बाल संरक्षण इकाई विशेष किशोर इकाई बाल कल्याण समिति व किशोर न्याय बोर्ड के कार्यदायित्व को विस्तार से बताया गया साथ ही डा0 मुध पाण्डेय द्वारा पाक्सो अधिनियम पर विस्तार से चर्चा की गयी। प्रशिक्षण में सभी थानों के बाल कल्याण अधिकारियों, के अलावा बाल कल्याण समिति के सदस्य/अध्यक्ष, किशोर न्याय बोर्ड के सदस्य एपीओ पंकज वर्मा, बाल संरक्षण अधिकारी चंदन राय, पूर्व बाल न्याय बोर्ड अध्यक्ष संजय उपाध्याय, स्वयं सेवी संस्थान के प्रतिनिधियों ने प्रतिभाग लिया। अपर जिलाधिकारी वि0रा0 उमाकान्त त्रिपाठी द्वारा जिले में किशोर न्याय अधिनियम का अक्षरशः पालन कराने का निर्देश दिया।

नोटबंदी के बाद भारी रकम जमा करने वाले 18 लाख लोगों के कैश डिपॉजिट की जांच करेगा आयकर विभाग

Image result for images of income tax
नई दिल्ली। नोटबंदी के बाद कालेधन पर और शिकंजा कसने के लिए आयकर विभाग ने कार्यवाही तेज कर दी है। इनकम टैक्स डिपार्टमेंट 18 लाख लोगों के कैश डिपॉजिट की जांच करेगा जिन्होंने नोटबंदी के बाद बैंकों में पैसे जमा कराए हैं।
सूत्रों के मुताबिक ऐसे कई लोगों की पहचान की गई है जिन्होंने नोटबंदी के बाद भारी मात्रा में बैंक में कैश जमा कराए हैं लेकिन उनका प्रोफाइल  जमा किए गए रकम से मैच नहीं कर रहा है।
नोटबंदी के दौरान जमा हुए बड़े कैश डिपॉजिट की जांच के लिए इनकटम टैक्स डिपार्टमेंट ने ऑपरेशन क्लीन मनी शुरू किया है। इस ऑपरेशन के तहत पहले चरण में आयकर विभाग जमा हुए पैसे का ई वेरिफिकेशन करेगा।
सूत्रों के मुताबिक जिन लोगों के भी इसमें नाम आएंगे उन्हें विभाग ईमेल, मैसेज भेजेगा जिनका प्रोफाइल नोटबंदी के बाद जमा किए गए पैसों से नहीं मिल रहा है।
आयकर विभाग 9 नवंबर से 30 दिसंबर तक बैंक में जमा किए गए बड़ी रकमों की जांच करेगा।   

1 फरवरी को पूर्विवि में बीसवां दीक्षांत समारोह आयोजित

जौनपुर। वीर बहादुर सिंह पूर्वांचल विश्वविद्यालय, जौनपुर का बीसवां दीक्षांत समारोह वसंत पंचमी के अवसर पर एक फरवरी को आयोजित होगा। दीक्षांत समारोह की अध्यक्षता माननीय श्री राम नाइक, कुलाधिपति एवं श्री राज्यपाल, उत्तर प्रदेश करेंगे एवं पद्मश्री एवं पदम भूषण डाॅ0 बी0एन0 सुरेश, पूर्व निदेशक, इंडियन स्पेस रिसर्च आर्गनाइजेशन, बंगलोर एवं अध्यक्ष भारतीय राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी अकादमी, नई दिल्ली समारोह के मुख्य अतिथि होंगे। समारोह में कार्य परिषद, विद्या परिषद के समस्त सदस्य उपस्थित रहेंगे। समारोह में विभिन्न विषयों में सर्वोच्च अंक पाने वाले 59 विद्यार्थियों को गोल्ड मेडल, 324 विद्यार्थियों को पी-एच-डी- की उपाधि प्रदान की जाएगी। विश्वविद्यालय ने अपनी स्थापना के 29 वे वर्ष में शोध एवं शिक्षा के क्षेत्र में कई कीर्तिमान स्थापित किए हैं। इसी क्रम में विश्वविदयालय को राष्ट्रीय मूल्याकंन एवं प्रत्यायन परिषद (नैक) द्वारा B+ (बी प्लस) ग्रेड प्राप्त हुआ। 
परीक्षा की पारदर्शिता को ध्यान में रखते हुए सत्र 2015-16 में विश्वविद्यालय से सम्बद्ध महाविद्यालयों का आल इंडिया सर्वे आन हायर एजुकेशन (AISHE) पर शत-प्रतिशत पंजीकरण हो चुका है। विश्वविद्यालय द्वारा वर्ष 2015 से ही समस्त पी-एच0डी0 उपाधियों के शोध-प्रबन्धों को विश्वविद्यालय अनुदान आयोग द्वारा निर्धारित ’शोधगंगा’ रिपोजटरी पर पंजीकृत कराया जा रहा है। अभी तक कुल 706 शोध प्रबन्ध शोध गंगा पर अपलोड किये जा चुके हैं। परीक्षा के सम्बन्ध में विश्वविद्यालय एवं समस्त सम्बद्ध महाविद्यालयों से ऑनलाइन आवेदन पत्र लेने के उपरान्त ऑनलाइन प्रवेशपत्र एवं इलेक्ट्रानिक मार्कशीट के वितरण की व्यवस्था पूर्ण कर ली गयी है। आनलाइन माइग्रेशन एवं आनलाइन प्रोविजनल प्रमाण पत्र प्रदान किये जाने की कार्रवाई का कार्य प्रगति पर है। पुस्तकालय में ई- पुस्तकालय के तहत अधिकतर पुस्तकों का डिजिटलाइजेशन कर दिया गया है। विश्वविद्यालय परिसर में आधुनिक तकनीक का इस्तेमाल करते हुए वर्चुअल क्लासरूम एवं वीडियो कान्फ्रेसिंग की सुविधा प्रदान की जा चुकी है। राज्य सरकार द्वारा विश्वविद्यालय के पुस्तकालय को सेन्टर आफ ,क्सीलेन्स घोषित किया गया है। विश्वविद्यालय में आप्टिकल फाइबर का लोकल नेटवर्क समस्त प्रयोगशालाओं, कार्यालयों, व्याख्यान कक्षों तथा छात्रावासों तक पहुंच गया है। विश्वविद्यालय द्वारा संचालित समस्त संकायों-कला, वाणिज्य, विज्ञान, कृषि, विधि, शिक्षा, इन्जीनियरिंग, मैनेजमेन्ट, फार्मेसी एवं अप्लाइड सोशल साइन्स के यू0जी0 एवं पी0जी0 स्तर के समस्त पाठ्यक्रमों को विश्वविद्यालय की वेबसाइट पर अपलोड कर दिया या है। विश्वविद्यालय से सम्बद्ध समस्त महाविद्यालयों के पाठ्यक्रम, सीट संख्या निर्धारण, फीस, आदि का विवरण वेबसाईट पर है। विश्वविद्यालय से सम्बद्ध पॉच जनपदों के कुल 765 महाविद्यालयों में शैक्षिक सत्र 2016-17 के शैक्षिक कैलेंडर के अनुसार समयबद्ध ढंग से प्रवेश, शिक्षण कार्य,  परीक्षा  आवेदन पत्र, परीक्षा संचालन हेतु कार्यवाही की जा रही है। राज्य सरकार के सहयोग से राष्ट्रीय उच्चतर शिक्षा अभियानय RUSA (रूसा) के अन्तर्गत विश्वविद्यालय को प्राप्त हुए अनुदान से रिसर्च इनोवेशन सेन्टर  का निर्माण कराया जा रहा है साथ ही ए0पी0जे0अब्दुल कलाम छात्रावास एवं डा0 भोलेन्द्र सिंह इनडोर स्टेडियम का निर्माण कराया जा चुका हैं।  पर्यावरण संरक्षण के उद्देश्य से एक छात्रा एक पेड़ अभियान के अन्तर्गत परिसर में पौधों कोे विद्यार्थियों द्वारा रोपित किया गया है। विश्वविद्यालय में स्वच्छता अभियान बड़े पैमाने पर चलाया जा रहा है। योग के प्रति जागरूकता एवं शारीरिक एवं मानसिक रूप से स्वस्थ रखने के लिए प्रतिदिन योग कक्षायें संचालित हो रही है, जिसमें विश्वविद्यालय के विद्यार्थियों के साथ ही साथ आम-जन भी लाभान्वित हो रहे हैं। वैश्विक परिदृश्य के दृष्टिगत विश्वविद्यालय में वित्तीय साक्षरता अभियान चलाया गया जिसमें नकद रहित अर्थव्यवस्था की चुनौतियों एवं संभावनाओं पर नई पीढ़ी को जागरूक किया जा रहा है। शैक्षणिक सत्र में परिसर के विभिन्न विभागों में कार्यशाला, राष्ट्रीय सेमिनार एवं  विशेष व्याख्यानों के आयोजन में देश के जाने-माने विषय विशेषज्ञों को आमंत्रित किया गया। विश्वविद्यालय के खिलाड़ियों को माननीय कुलाधिपति महोदय द्वारा विगत तीन वर्षों से लगातार राजभवन में सम्मानित किया जा रहा हैं। इससे विश्वविद्यालय का सम्मान बढ़ा है। विश्वविद्यालय के एन-एस-एस- और रोवर्स रेन्जर्स ने भी राज्यस्तर पर विश्वविद्यालय का नाम रोशन किया है। 

सांसद को राष्ट्रपति के अभिभाषण के दौरान आया हार्ट अटैक

नई दिल्ली। पार्लियामेंट के बजट सेशन के पहले दिन राष्ट्रपति के अभिभाषण के दौरान केरल के सांसद, पूर्व केंद्रीय मंत्री ई. अहमद अचानक बेहोश हो गए, उन्हें दिल का दौरा पड़ा है। 
बता दें कि अहमद पार्लियामेंट के सेंट्रल हॉल में प्रणब मुखर्जी का एड्रेस सुन रहे थे, तभी वे कुर्सी से गिर पड़े। पार्लियामेंट के सिक्युरिटी स्टाफ ने तुरंत उन्हें उठाया और एंबुलेंस बुलाई, अहमद बेहोश ही थे। एंबुलेंस आने तक पार्लियामेंट का सिक्युरिटी स्टाफ उनके हार्ट को लगातार पंप कर रहा था। फिलहाल उन्हें लाइफ सपोर्ट सिस्टम पर रखा गया है। 
सूत्रों के मुताबिक 78 साल के अहमद इंडियन यूनियन मुस्लिम लीग के सांसद हैं, वे केरल की मलाप्पुरम लोकसभा सीट को रिप्रेजेंट करते हैं।
अहमद यूपीए-1 और यूपीए-2 की सरकार के दौरान लगातार 10 साल विदेश राज्य मंत्री रहे हैं। पार्लियामेंट के सेंट्रल हॉल में बेहोश होने के बाद अहमद को संसद के काफी नजदीक मौजूद राम मनोहर लोहिया हॉस्पिटल ले जाया गया। वहां उन्हें लाइफ सपोर्ट सिस्टम पर रखा गया है। उनकी हालत काफी गंभीर बताई जा रही है। नरेंद्र मोदी ने अहमद के हेल्थ की जानकारी ली है। वहीं, राहुल गांधी और केंद्रीय मंत्री जितेंद्र सिंह उनका हालचाल जानने के लिए आरएमएल हॉस्पिटल पहुंचे।

प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना को मिल सकता है इस बार बजट में बूस्टर डोज

नई दिल्ली। गरीबी रेखा के नीचे गुजर बसर करने वाले परिवारों की महिलाओं के नाम नि:शुल्क गैस कनेक्शन उपलब्ध कराने की प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना को इस बार बजट में बूस्टर डोज मिल सकता है। पिछले साल के बजट में इस योजना के लिए 2,500 करोड़ रुपये आवंटित किये गए थे।
सूत्रों की मानें तो चालू वर्ष के दौरान इसके तहत डेढ़ करोड़ कनेक्शन देने का लक्ष्य था। मगर इसकी लोकप्रियता का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि बीते सप्ताह तक ही 1.66 करोड़ कनेक्शन उपलब्ध कराये जा चुके हैं। तभी तो इसकी प्रगति से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी बेहद खुश हैं। इसलिए माना जा रहा है कि अगले साल के बजट में इसके लिए तीन हजार करोड़ रुपये आवंटित किये जा सकते हैं।
प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना की घोषणा वर्ष 2016-17 के बजट में हुई थी। हालांकि इस पर काम तो काफी पहले शुरू हो गया था, पर इसकी औपचारिक शुरुआत बीते एक मई को प्रधानमंत्री ने उत्तर प्रदेश के बलिया से की थी। मंत्रालय के एक सरकारी अधिकारी का कहना है कि इतनी कम अवधि में उज्ज्वला योजना के तहत डेढ़ करोड़ से ज्यादा कनेक्शन उपलब्ध कराए जाने के पीछे पेट्रोलियम मंत्री धर्मेंद्र प्रधान द्वारा योजना को लागू करने वाले निचले कर्मचारी से भी संवाद करना है। बताया जाता है कि प्रधान खुद ही डिस्ट्रिक नोडल अधिकारी (डीएनओ) से भी फोन पर प्रगति का जायजा लेते रहते हैं।

बसंत पंचमी जाने बसंत पंचमी के दिन ही क्यों की जाती है माँ सरस्वती की पूजा

Related imageनई दिल्ली। पूरे देश में 1 फरवरी को बसंत पंचमी का त्योहार मनाया जायेगा। माघ शुक्ल पंचमी के दिन बसंत पंचमी और सरस्वती पूजा का विधान होता है। 
शास्त्रों के मुताबिक इस शुभ दिन सभी शिक्षण संस्थानों में विद्या की देवी सरस्वती जी की पूजा होती है। सरस्वती को कला की भी देवी माना जाता है इसलिए कला क्षेत्र से जुड़े लोग भी माता सरस्वती की विधिवत पूजा करते हैं। साथ ही साथ पुस्तकओं एवं कलम की पूजा भी करते हैं।
बसंत ऋतुओं का राजा माना जाता है। यह पर्व बसंत ऋतु के आगमन का सूचक है। इस अवसर पर प्रकृति के सौंदर्य में अनुपम छटा का दर्शन होता है।
बता दें कि वसंत पंचमी का त्योहार हिंदू धर्म में एक विशेष महत्व रखता है। यह पूजा पूर्वी भारत में बड़े उल्लास से की जाती है। इस दिन स्त्रियाँ पीले वस्त्र धारण कर पूजा-अर्चना करती हैं। स्वयं भगवान कृष्ण ने कहा है की ऋतुओं में मैं बसंत हूं।
यह त्योहार हर साल माघ मास में शुक्ल पक्ष की पंचमी के दिन मनाया जाता है। मान्यता है कि इस दिन मां सरस्वती का जन्म हुआ था। शास्त्रों एवं पुराणों कथाओं के अनुसार बसंत पंचमी और सरस्वती पूजा को लेकर एक बहुत ही रोचक कथा है.
ज्योतिषियों के मुताबिक ऐसी मान्यता है कि सृष्टि के प्रारंभ में भगवान विष्णु की आज्ञा से ब्रह्मा ने मनुष्य की रचना की। लेकिन अपने सर्जना से वे संतुष्ट नहीं थे। उदासी से सारा वातावरण मूक सा हो गया था। यह देखकर ब्रह्माजी अपने कमण्डल से जल छिड़का। उन जलकणों के पड़ते ही पेड़ों से एक शक्ति उत्पन्न हुई जो दोनों हाथों से वीणा बजा रही थी तथा दो हाथों में पुस्तक और माला धारण की हुई जीवों को वाणी दान की, इसलिये उस देवी को सरस्वती कहा गया।
ऐसी मान्यता है कि बसंत पंचमी का दिन बेहद शुभ होता है  . सरस्वती को विद्या बुद्धि की देवी माना जाता है। इसलिए बसंत पंचमी के दिन मां सरस्वती की पूजा की जाती है। इस दिन कोई नया काम करना शुभ माना जाता है।
ध्यान देने योग्य बात यह है कि इस दिन विशेष रूप से लोगों को अपने घर में सरस्वती यंत्र स्थापित करना चाहिये, तथा मां सरस्वती के इस विशेष मंत्र  का 108 बार जप करना चाहिये। मां सरस्वती का संबंध बुद्धि से है, ज्ञान से है। यदि आपके बच्चे का पढ़ाई में मन नहीं लगता है, यदि आपके जीवन में निराशा का भाव है तो बंसत पंचमी के दिन मां सरस्वती का पूजन अवश्य करें।

सरकार डिजिटल रेडियो प्लेटफॉर्म लेकर आएगी जिससे डिजिटल कनेक्टिविटी को बढ़ावा मिल सके - वित्त मंत्री

नई दिल्ली। वित्त मंत्री अरुण जेटली ने लोकसभा में आर्थिक सर्वे 2017-18 पेश कर दिया है। सर्वे के मुताबिक, नोटबंदी से देश की अर्थव्यवस्था पर काफी असर पड़ा है। 
सूत्रों के मुताबिक अप्रैल-दिसंबर में महंगाई दर 2.9 फीसदी रही। सरकार डिजिटल रेडियो प्लेटफॉर्म लेकर आएगी जिससे डिजिटल कनेक्टिविटी को बढ़ावा मिल सके।  दालों की वजह से महंगाई दर में हुआ इजाफा, फिस्कल डेफिसिट में लगातार गिरावट जारी है। क्रूड कीमतों में उछाल जीडीपी के लिए बड़ा खतरा, नोटबंदी से कृषि क्षेत्र पर कैश की कमी का असर दिखेगा।
वित्त वर्ष 2017-18 में क्रूड में गिरावट का फायदा मिलना बंद हो जाएगा। क्रूड के दाम में उछाल की वजह से रिजर्व बैंक से रेट कट की उम्मीद खत्म हो गई। उद्योगों की विकास दर घटने की आशंका। 2015-16 में यह थी 7.4 फीसदी और इस साल इसके 5.2 फीसदी रहने की आशंका, सर्विस सेक्टर के 8.9 फीसदी से बढ़ने की उम्मीद इस वित्त वर्ष में। महंगाई दर सीपीआई के अनुसार 5 फीसदी रहने का अनुमान, प्रॉपर्टी टैक्स के लिए निगरानी रखने का सुझाव, ताकि नगर पालिका और नगर निगम स्तर पर राजस्व जुटाया जा सके। भारत का ट्रेड जीडीपी चीन से ज्यादा हुआ, पीएम गरीब कल्याण योजना से अप्रत्याशित लाभ मिलने की आशा, जीएसटी से होने वाली आय पर सावधानी बरती गई, नोटबंदी से कुछ कृषि उत्पादों में कमी की आशंका, यूनिवर्सल बेसिक इनकम डाटा को गंभीरता से निरीक्षण करने की जरूरत, इस साल जीडीपी दर के 7.1 फीसदी रहने का अनुमान, नोटबंदी के बाद कैश का संकट अप्रैल तक खत्म हो जाएगा। विकास दर का अनुमान 6.75 फीसदी से 7.75 फीसदी रहने का अनुमान, रियल एस्टेट सेक्ट में दाम और गिरेंगे। रियल एस्टेट सेक्टर बुरी तरह से प्रभावित, सबको सस्ते घर देने को बढ़ावा देगी सरकार, एक्सइज ड्यूटी में 0.1 फीसदी की कमी का अनुमान, कृषि क्षेत्र में 4.1 फीसदी विकास का अनुमान, इस वक्त यह 1.2 फीसदी है।

प्रत्याशियों के व्यय रजिस्टर का निरीक्षण न्यूनतम तीन बार किया जायेगा तथा मतदान के तीन दिन पहले आखरी निरीक्षण होगा - डीएम

जौनपुर। जिला मजिस्ट्रेट/जिला निर्वाचन अधिकारी भानुचन्द्र गोस्वामी के निर्देशानुसार मुख्य कोषाधिकारी/व्यय अनुवीक्षण प्रभारी राकेश सिंह ने बताया कि प्रत्याशी को नामांकन से पहले बैंक खाता खुलवाना अनिवार्य है उसी खाते से चुनाव का पूरा व्यय किया जायेगा। बीस हजार से ऊपर का भुगतान चेक द्वारा किया जायेगा। प्रत्याशियों के व्यय रजिस्टर का निरीक्षण न्यूनतम तीन बार किया जायेगा तथा मतदान के तीन दिन पहले आखरी निरीक्षण होगा। जिसमें नामांकन मतदान की तिथि का व्यय अवश्य सैडों रजिस्टर में मिलान किया जायेगा। निर्वाचन व्यय लेखा की रिपोर्ट दाखिल करने की अन्तिम तिथि परिणाम घोषणा के 30 दिन के भीतर होगा। 25 दिन पर लेखा-टीम एवं प्रत्यासियों के एजेण्टों को प्रशिक्षण दिया जायेगा। वाहन स्वामियों को 20 हजार के उपर का भुगतान चेक द्वारा ही किया जायेगा। चुनाव कार्यालय की अनुमति आर.ओ. से प्राप्त कर व्यय में सम्मलित करेंगे। लेखा-टीम एवं वीडियों अवलोकन टीम आर.ओ. के सम्पर्क में रहेगी। उन्होंने बताया कि विधानसभा निर्वाचन क्षेत्र/खण्ड के प्रत्येक अभ्यर्थी के छाया प्रेक्षण रजिस्टर और साक्ष्यों के फोल्डर के रख-रखाव में लेखा टीमों के सहायक व्यय प्रेक्षक के मार्गदर्शन में कार्य करना होगा। उन्हें जैसा रिपोर्ट किया गया है वैसे ही वे व्यय की मदो की प्रविष्टि करेंगे और प्रत्येक मद के सम्मुख अधिसूचित दर लिखेंगे, फिर प्रत्येक अभ्यर्थी के लिए मदों पर कुल व्यय की गणना करेंगे। छाया प्रेक्षण रजिस्टर की प्रोफार्मा अनुलग्नक-11 में दिया गया है।ऐसे मामले है जहॉ निर्वाचन अभियान सामग्री नामांकन दाखिल करने के बाद प्रयोग की गई है, जबकि नामांकन दाखिल करने से पहले उसका भुगतान कर दिया गया होगा, रिटर्निंग अधिकारी को यह सुनिश्चित करना चाहिए कि नामांकन दाखिल करने के बाद निर्वाचन अभियान सामग्री पर किए गए व्यय को छाया प्रेक्षण रजिस्टर में शामिल करना चाहिए, भले ही उसका भुगतान, नामांकन दाखिल करने से पहले कर दिया गया हो। इसी तरह नामांकन दाखिल करने के संबंध में रैली या जलूस पर व्यय को निर्वाचन व्यय के भाग के रूप में दिखाया जाना चाहिए। वीडियो अवलोकन टीम के सम्बन्ध में वीडियों निगरानी दलों द्वारा ली गई वीडियों रिकार्डिंग में से वीडियो अवलोकन दल इन-हाउस सी.डी. तैयार करेंगे तथा किसी भी बाहरी एजेंसी को संपादन अथवा अन्य प्रयोजनार्थ यह सीडी नही सौपेंगे। व्यय से संबंधित मामलों और आदर्श आचार संहिता से संबंधित मामलों की पहचान के लिए वीडियो अवलोकन टीम द्वारा वीडियों निगरानी टीम ली गई वीडियों सीडी रोज देखी जायेगी। वे उसी दिन या अधिक से अधिक अगले दिन तक व्यय से संबंधित अपनी रिपोर्ट लेखा टीम/सहायक व्यय प्रेक्षक को देंगे। व्यय से संबंधित रिपोर्ट में टीम सभी वाहनों की रजिस्ट्रेशन संख्या और उनका प्रकार मंच का आकार, कुर्सियों की संख्या पोस्टर/बैनर में उदहरण का आकार, कट आउट की संख्या और वीडियों में की गई व्यय की अन्य सभी मदों को डालेगी। यह टीम आदर्श आचार संहिता से संबंधित रिपोर्टों/अवलोकन को साधारण प्रेक्षक/रिटर्निंग अधिकारी को प्रस्तुत करेगी। लेखा टीम और सहायक व्यय प्रेक्षक, व्यय की दर प्रस्तुत करेंगे, वीडियो साक्ष्य के आधार पर कुल व्यय की गणना करेंगे और संबंधित अभ्यर्थी के छाया प्रेक्षण रजिस्टर में प्रविष्टि करेंगे। जब इसे जॉच के लिए व्यय प्रेक्षक के समक्ष प्रस्तुत किया जाएगा, तब अभ्यर्थी के रजिस्टर के साथ इसकी तुलना की जाएगी।

1 फरवरी को महामहिम राज्यपाल का जौनपुर आगमन

Image result for इमेज ऑफ़ राज्यपाल राम नाईक जौनपुर। नगर मजिस्ट्रेट/प्रभारी अधिकारी प्रोटोकाल रत्नाकर मिश्र ने बताया कि महामहिम राज्यपाल उ0प्र0 रामनाइक जी 1 फरवरी को 9-45 बजे राजभवन से हेलीपैड के लिए प्रस्थान करेंगे। 9-50 बजे राजकीय हेलीकाप्टर द्वारा हेलीपैड-वीर बहादुर सिंह पूर्वांचल विश्वविद्यालय जौनपुर के लिए प्रस्थानकर 10-50 बजे हेलीपैड-पूर्वांचल विश्वविद्यालय पहुचेंगे तथा समय 10-55 बजे कार द्वारा वीर बहादुर पूर्वांचल विश्वविद्यालय द्वारा आयोजित कार्यक्रम स्थल के लिए प्रस्थान करेंगे। 11 बजे से अपरान्ह 1-45 बजे तक दीक्षान्त समारोह कार्यक्रम के लिए सुरक्षित। 1-50 बजे कार्यक्रम स्थल से हेलीपैड के लिए प्रस्थान करेंगे। 1-55 बजे हेलीपैड पर पहुचेंगे। 2 बजे राजकीय हेलीकाप्टर द्वारा राजभवन लखनऊ के लिए प्रस्थान करेंगे।

मत प्राप्त करने के लिए जातिगत या साम्प्रदायिक भावनाओं की अपील नहीं की जायेगी - डीएम

जौनपुर। जिला मजिस्ट्रेट/जिला निर्वाचन अधिकारी भानुचन्द्र गोस्वामी ने बताया कि राजनैतिक दलों और उम्मीदवारों के मार्गदर्शन के लिए आदर्श आचार संहिता में सामान्य आचरण में कोई दल या उम्मीदवार ऐसे किसी क्रियाकलाप में सम्मिलित नहीं होगा जिससे विद्यमान अन्तर्विरोधों में वृद्धि होने या पारस्परिक घृणा उत्पन्न होने या विभिन्न धार्मिक या भाषायी जातियों और सम्प्रदायों के मध्य तनाव उत्पन्न होने की सम्भावना हो, जब भी अन्य राजनैतिक दलों की आलोचना की जाय, तब उक्त आलोचना उनकी नीतियों तथा कार्यक्रमों, पूर्व अभिलेखों और कार्यों तक सीमित रहे। राजनैतिक दलों और उम्मीदवारों को अन्य राजनैतिक दलों के नेताओं या कार्यकर्ताओं के सार्वजनिक क्रियाकलापों से असम्बद्ध निजी जीवन के समस्त पहलुओं पर आलोचना करने से बचना होगा। मिथ्या आरोपों या मिथ्या वर्णन पर आधारित अन्य दलों या उनके कार्यकताओं की आलोचना करने से बचना होगा, मत प्राप्त करने के लिए जातिगत या साम्प्रदायिक भावनाओं की अपील नहीं की जायेगी। मस्जिदों, गिरजाघरों, मन्दिरों या अन्य पूजा स्थलों का प्रयोग निर्वाचन अभियान के मंच के रूप में नहीं किया जायेगा, समस्त राजनैतिक दल और उम्मीदवार कर्तव्यनिष्ठापूर्वक ऐसे समस्त क्रियाकलापों से दूर रहेंगे जो निर्वाचन विधि के अधीन भ्रष्ट प्रथायें और अपराध है, यथा मतदाताओं को रिश्वत देना, मतदाताओं को डराना-धमकाना, मतदाताओं का प्रतिरूपण, मतदान केन्द्रों से 100 मीटर के भीतर मत देने की संयाचना करना, शान्तिपूर्ण और विघ्नरहित घरेलू जीवन-यापन के लिए प्रत्येक व्यक्ति के अधिकार का समादर किया जायेगा, तथापि चाहे राजनैतिक दल या उम्मीदवार उसके राजनैतिक विचारों या क्रियाकलापों के कितने ही विरूद्ध क्यों न हों। व्यक्तियों के विचारों या क्रियाकलापों के विरूद्ध आक्रोश प्रकट करके उनके घरों के समझ धरना या प्रदर्शन का आश्रय किसी भी परिस्थिति में नहीं लिया जायेगा, कोई भी राजनैतिक दल या उम्मीदवार, अपने अनुयायियों को किसी व्यक्ति की भूमि, भवन, अहाते आदि में उस व्यक्ति की अनुमति के बिना ध्वज दण्ड खड़ा करने, बैनर टांगने, सूचना चिपकाने, नारे आदि लिखने की अनुमति नहीं देगा, राजनैतिक दल और उम्मीदवार, यह सुनिश्चित करेंगे कि अन्य दलों द्वारा आयोजित सभाओं और जुलूसों में उनके समर्थक कोई व्यवधान या विघ्न नहीं डालेंगे। किसी राजनैतिक दल के कार्यकर्ता या शुभचिन्तक अन्य राजनैतिक दल द्वारा आयोजित सार्वजनिक सभाओं में मौखिक या लिखित रूप में प्रश्न पूॅछ कर अथवा अपने दल के पर्चे वितरित करके शांति भंग नहीं करेंगे। किसी दल द्वारा जुलूस उन स्थानों से होकर नहीं ले जाया जायेगा। जिन स्थानों पर अन्य दल द्वारा सभायें की जा रही हों, किसी दल द्वारा निर्गत किये पोस्टरों को अन्य दल के कार्यकर्ताओं द्वारा हटाया नहीं जायेगा। सभाये - दल या उम्मीदवार किसी प्रस्तावित सभा के स्थान और समय के सम्बन्ध में स्थानीय पुलिस प्राधिकारियों को सही समय पर सूचित करेंगे जिससे कि पुलिस, यातायात को नियंत्रित करने और शांति तथा व्यवस्था बनाये रखने के लिए आवश्यक प्रबन्ध कर सके। किसी दल या उम्मीदवार को यह पहले ही अभिनिश्चित कर लेना चाहिए कि क्या सभा के लिए प्रस्तावित स्थल पर कोई निबन्धात्मक या निषेधात्मक आदेश प्रवृत्त है, यदि ऐसे आदेश विद्यामान हैं तो उनका कड़ाई से अनुपालन किया जाना चाहिए। ऐसे आदेशों से कोई छूट अपेक्षित हों तो उनके लिए समय से आवेदन किया जायेगा और छूट प्राप्त किया जायेगा, यदि किसी प्रस्तावित सभा के सम्बन्ध में लाउडस्पीकरों के उपयोग या किसी अन्य सुविधा के लिए अनुमति या अनुज्ञप्ति प्राप्त करनी हो तो दल या उम्मीदवार को सम्बन्धित प्राधिकारी के पास समय से पहले आवेदन करना होगा और तत्सम्बन्ध में ऐसी अनुमति या अनुज्ञप्ति प्राप्त करनी होगी। किसी सभा के आयोजकगण, सभा में व्यवधान डालने वाले या अन्यथा अव्यवस्था फैलाने का प्रयत्न करने वाले व्यक्तियों से निपटने के लिए ड्यूटी पर तैनात पुलिस की अनिवार्य रूप से सहायता प्राप्त कर सकते हैं आयोजक स्वयं ऐसे व्यक्तियों के विरूद्ध कोई कार्यवाही नहीं करेंगे। जुलूस - जुलूस का आयोजन करने वाले किसी दल या उम्मीदवार को इस बात का पहले ही विनिश्चय करना होगा कि जुलूस किस समय और किस स्थान से प्रारम्भ होगा, किस मार्ग से होकर जायेगा और किस समय तथा स्थान पर समाप्त होगा। सामान्यतः कार्यक्रम में किसी प्रकार का फेर बदल नही किया जायेग। आयोजको को कार्यक्रम के सम्बन्ध में स्थानीय पुलिस प्राधिकारियों को समय से पहले सूचित करना होगा जिससे कि वो आवश्यक प्रबन्ध कर सकें। आयोजको को यह अभिनिश्चित करना होगा कि क्या जिन क्षेत्रो से होकर जुलूस निकलता है उनमें कोइ निर्बन्धात्मक आदेश प्रवृत और जब तक कोई सक्षम अधिकारी द्वारा विनिर्दिष्ट रूप से छुट न दे दी जाय, तब तक उन निर्बन्धनो का भी सावधानीपूर्वक पालन किया जायेगा। आयोजकों को जुलूस को गुजरने की व्यवस्था करने के लिए आवश्यक उपाय करना होगा जिससे कि यातायात में कोई व्यवधान या रूकावट उत्पन्न न हो। यदि जुलूस बहुत लम्बा न हो तो उसे उपयुक्त लम्बाई वाले टुकडो में सगंठित करना होगा जिससे कि सुगम अन्तरालों पर विशेष रूप से उन स्थानोे पर जहां जुलूस को चौराहे से होकर गुजरना है, रूके हुए यातायात के लिए चरणबद्व तरीके से रास्ता दिया जा सके। जुलूसों का विनियमन इस प्रकार किया जायेगा कि यथासम्भव जुलूसो को सडक के दायीं ओर रखा जाय और ड्यूटी पर तैनात पुलिस के निर्देश तथा परामर्श का कड़ाई के साथ अनुपालन किया जाय, यदि दो या दो से अधिक राजनीतिक दलों या उम्मीदवारों ने लगभग उसी समय पर उसी रास्ते या उसके आंशिक भागों से जुलूस निकालने को प्रस्ताव किया हो तो आयोजको को समय से पूर्व सम्पर्क स्थापित करना होगा और यह उपाय करने के लिए विनिश्चय करना होगा कि जुलूस में टकराव न हो अथवा यातायात में व्यवधान न उत्पन्न न हो सन्तोषजनक व्यवस्था सुनिश्चित करने के लिए स्थानीय पुलिस की सहायता प्राप्त करनी होगी इस प्रयोजन के लिए राजनैतिक दलों को यथा शीघ्र पुलिस से सम्पर्क करना होगा। जुलूस में सम्मिलित व्यक्तियों द्वारा ऐसी चीजे लेकर चलने के सम्बन्ध में जिसका अवांछनीय तत्वो द्वारा विशेष रूप से उत्तेजना के क्षणो में दुरूपयोग किया जा सकता है। राजनैतिक दलों या उम्मीदवारों को अधिकतम सीमा तक निय़़ंत्रण रखना होगा। किसी रातनैतिक दलों या उम्मीदवारों द्वारा अन्य राजनैतिक दलों के सदस्यों या उनके नेताओं का प्रतिनिधित्व करनें के आशय से पुतले लेकर चलने, ऐसे पुतलों को सार्वजनिक स्थानों में जलाने और इसी प्रकार से अन्य प्रदर्शनों का समर्थन नही किया जायेगा।

सरकार का लक्ष्‍य सबका साथ, सबका विकास है-राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी

Image result for इमेज ऑफ़ प्रणव मुखर्जीनई दिल्ली। राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने मंगलवार को संसद के संयुक्त सत्र को संबोधित किया। इसी के साथ बजट सत्र की शुरुआत हुई। राष्ट्रपति ने अपने अभिभाषण में पीएम नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाली केंद्र सरकार की योजनाओं की खूब तारीफ की। उन्होंने कहा कि सरकार का लक्ष्‍य सबका साथ, सबका विकास है।
राष्ट्रपति ने सर्जिकल स्ट्राइक, कालाधन के खिलाफ कार्रवाई, किसानों, युवाओं, महिलाओं के लिए चलाई गयी योजनाओं की तारीफ की। इससे पहले राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी पारंपरिक शाही बग्घी में बैठकर राष्ट्रपति भवन से संसद भवन पहुंचे। मुखर्जी ने राष्ट्रपति भवन से बग्घी में बैठकर संसद भवन पहुंचने की पुरानी परंपरा का निर्वाह किया। वह संसद भवन के सेंट्रल हॉल में उपराष्ट्रपति हामिद अंसारी, लोकसभा अध्यक्ष सुमित्रा महाजन और पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह के साथ पहुंचे।
इस दौरान राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने कहा कि -1. राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने कहा कि संसद का यह बजट सत्र ऐतिहासिक है क्योंकि पहली बार आम बजट के साथ रेलवे बजट भी पेश किया जाएगा। मुखर्जी ने कहा, 'हम लोकतंत्र और अपने मूल्यों और संस्कृति का जश्न मनाने के लिए एक बार फिर एकत्र हुए हैं, जो हमारे देश के लंबे इतिहास का हिस्सा रहा है। यह संस्कृति मेरी सरकार को 'सबका साथ सबका विकास' करने के लिए प्रेरित करती है।'
2. उन्होंने कहा, 'देश 40 सालों से आतंकवाद से जूझ रहा है, आतंक को हराने के लिए दुनिया के साथ हैं।' उन्होंने कहा कि जम्मू कश्मीर प्रायोजित आतंक का शिकार है। राष्ट्रपति ने कहा कि सरकार ने सफल सर्जिकल स्ट्राइक की।
3. राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने कहा कि सरकार ने प्रधानमंत्री मुद्रा योजना के तहत दो लाख करोड़ रुपये की राशि अनुमोदित की है। इसके तहत 5.6 करोड़ रुपये के ऋण आवंटित करने को मंजूरी दी गई है। उन्होंने कहा कि सरकार की नीतियों का मूल गरीबों, दलितों, किसानों, श्रमिकों और युवाओं का कल्याण करना है। मुखर्जी ने कहा, 'मेरी सरकार जनशक्ति की ताकत को सलाम करती है और इसे रचनात्मक रूप से राष्ट्र निर्माण में इस्तेमाल करने की प्रतिबद्धता जताती है।'
4. मुखर्जी ने संसद के संयुक्त सत्र को संबोधित करते हुए कहा कि सरकार ने सभी के लिए स्वास्थ्य सेवा उपलब्ध कराने के लिए कई कदम उठाए हैं। इसमें 55 लाख बच्चों का टीकाकरण शामिल है। मुखर्जी ने सरकार की प्रधानमंत्री सुरक्षित मातृत्व अभियान (पीएमएसएमए) का उल्लेख करते हुए कहा, 'इस तरह की योजनाएं गर्भवती महिलाओं की देखरेख को सुनिश्चित करती है।'
5. उन्होंने कहा कि दीनदयान उपाध्‍याय योजना के तहत गांवों को रिकॉर्ड समय में रोशन किया गया। उज्‍जवला योजना के तहत 29 करोड़ एलईडी बल्‍ब बांटे गए। उन्होंने 'वन रैंक, वन पेंशन' योजना की भी तारीफ की। राष्ट्रपति ने कहा कि सरकार का लक्ष्‍य 2022 तक सभी को आवास उपलब्‍ध करवाने का है।
6. प्रणब मुखर्जी ने कहा कि वरिष्‍ठ नागरिकों के लिए 8 प्रतिशत ब्‍याज दर तय की गई। एससी/एसटी और महिला उद्यमियों के लिए कदम उठाए गए। भारतीय क्रिकेट टीम और पैरालिंपिक में सफलता नए आयामों को प्रतिबंबित करती है। साक्षी मलिक और दीपा करमाकर भारत की नारी शक्ति है।
7. राष्ट्रपति ने कहा कि सरकार ने नॉर्थ ईस्‍ट राज्‍यों पर भी विशेष ध्‍यान दिया। नॉर्थ ईस्ट के राज्य अष्ट लक्ष्मी है। नॉर्थ ईस्‍ट में कई जगहों पर मीटर गेज ट्रैकों को ब्रॉड ग्रेज में परिवर्तित किया गया। वहां टूरिज्‍म को भी बढ़ावा दिया जा रहा है।
8. संयुक्त सत्र को संबोधित करते हुए राष्ट्रपति ने कहा कि हर हाथ को हुनर के तहत युवाओं का स्किल डेवलपमेंट प्रशिक्षण दिया गया। 20 लाख युवाओं को को अप्रेंटिस योजना का फायदा मिला। उन्होंने कहा, "मेरी सरकार ने 'हर हाथ को हुनर' के नारे के साथ युवाओं को कुशल बनाने के लिए कई कदम उठाए हैं ताकि उन्हें रोजगार के अवसर उपलब्ध हो सकें।" उन्होंने कहा, 'राष्ट्रीय प्रशिक्षु संवर्धन योजना 10,000 करोड़ रुपये के बजट के साथ शुरू हुई।'

Monday, January 30, 2017

अनुष्का शर्मा अब लोगों को पीएम मोदी के स्वच्छ भारत अभियान के तहत स्वच्छता के लिए करेंगी जागरूक

नई दिल्ली। पीएम मोदी के स्वच्छ भारत अभियान के तहत अनुष्का शर्मा अब लोगों को स्वच्छता के लिए जागरुक करती नजर आयेंगी। महिलाओं को स्वच्छता अभियान में जागरुक करने और अधिक से अधिक भागीदारी निभाने के लिए शहरी विकास मंत्रालय ने यह एक और पहल की है, स्वच्छता का पाठ पढ़ाने के लिए मंत्रालय ने अनुष्का को अपना नया चेहरा चुना है।
सूत्रों के मुताबिक शहरी विकास मंत्रालय ने अनुष्का को स्वच्छ भारत अभियान के लिए चुना है। अनुष्का को चुनने का मकसद ग्रामीण इलाकों में रह रही महिलाओं को जागरुक करना है और ज्यादा से ज्यादा महिलाओं तक यह संदेश पहुंचाना है।
अनुष्का को इस जागरुकता अभियान में जोड़ने का मकसद साफ सफाई को लेकर महिलाओं से जुड़े पहलुओं को उजागर करना है, साथ ही सेहत से जुड़ी जानकारियां भी हर महिला तक पहुंचा सकें। 
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी स्वच्छता अभियान के प्रमुख चेहरों में अमिताभ बच्चन के साथ अब अनुष्का शर्मा भी शामिल हो गई हैं। खबर के अनुसार अनुष्का ने दो वीडियो शूट भी रिकॉर्ड कर लिये हैं।
इस खबर से जुड़ी जानकारी के बारें में एक सूत्र ने बताया गांव आदि इलाकों में पुरुष टॉयलेट बनवाने से बचते हैं। जबकि महिलाओं को इसकी जरूरत होती है, यह उनकी सेहत और सुरक्षा दोनों के लिए बहुत जरूरी होता है। अपनी फिल्मों के जरिए अनुष्का ने हमेशा महिलाओं को प्रेरणा दी है, ऐसे में सरकार को लगता है उनकी आवाज महिलाओं की आवाज को बल देगी।

दिल्ली पुलिस के नए आयुक्त अमूल्य कुमार पटनायक

अमूल्य कुमार पटनायक नई दिल्ली। दिल्ली पुलिस को 11 दिनों के इंतजार के बाद अमूल्य कुमार पटनायक के रूप में नए आयुक्त मिल गए हैं। 
सूत्रों के मुताबिक अमूल्य कुमार पटनायक आलोक कुमार वर्मा की जगह लेंगे। 
गौरतलब हो कि वर्मा को 19 जनवरी को सीबीआई का प्रमुख बनाया गया था। पटनायक की नियुक्ति के संबंध में गृह मंत्रालय ने सोमवार को घोषणा की।
बता दें कि पटनायक 1985 बैच के अरुणाचल प्रदेश-गोवा-मिजोरम एवं केंद्र शासित प्रदेश कैडर के भारतीय पुलिस सेवा (आईपीएस) के अधिकारी हैं।
वह अब तक विशेष आयुक्त (प्रशासन) के पद पर कार्यरत थे। दिल्ली पुलिस आयुक्त पद की दौड़ में पटनायक, दीपक मिश्रा और धर्मेद्र कुमार के नाम सुर्खियों में थे। ओडिशा के रहने वाले पटनायक हालांकि दीपक मिश्रा और धर्मेंद्र कुमार से एक बैच जूनियर अधिकारी हैं।
हालाँकि मिश्रा अब केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ) में अतिरिक्त महानिदेशक के पद पर हैं, जबकि कुमार केंद्रीय औद्योगिक सुरक्षा बल (सीआईएसएफ) में अतिरिक्त महानिदेशक हैं। दोनों 1984 बैच के आईपीएस अधिकारी हैं।

चंदवक पुलिस ने भारी मात्रा में मादक पदार्थों के साथ दो युवकों को किया गिरफ्तार

जौनपुर। जनपद के चंदवक थाने की पुलिस ने आज भारी मात्रा में अवैध देशी शराब और 20 किलो गांजा के साथ दो युवकों को गिरफ्तार कर लिया है। पकड़े गये बरामद मादक पदार्थों की कीमत 48 लाख रूपये बतायी गयी है। चंदवक थाने की पुलिस को मुखवीर से सूचना मिला कि एक ट्रक में मिस इण्डिया नामक देशी शराब केराकत इलाके में बेचने के लिए लायी जा रही है। जिस पर पुलिस ने घेराबंदी करके ट्रक को पकड़ लिया।
ट्रक की तलाशी लेने पर 1500 पेटी शराब और बीस किलो गांजा बरामद हुआ है। शराब की कीमत 46 लाख रूपये और गाजा का मूल्य दो लाख रूपये बताया गया है।

बिग बॉस 10 के ग्रैंड फिनाले के विजेता की नाम का हुआ ऐलान

नई दिल्ली। बिग बॉस 10 के ग्रैंड फिनाले के विजेता के नाम का ऐलान हो गया है। जी हां इस बार बिग बॉस का खिताब मनवीर गुर्जर ने अपने नाम कर लिया है। घर में कॉमनर्स की टीम की तरफ आए मनवीर को विजेता के रूप में एक ट्राफी और 40 लाख की ईनामी राशि मिली है।
विजेता मनवीर गुर्जर ने ईनामी राशि में से 20 लाख रुपए सलमान खान की चैरिटी ऑर्गेनाइजेशन बीइंग ह्यूमेन को दान कर दिया। वहीं शो की पॉप्यूलर सेलेब्रिटी कंटेस्टेंट बानी जे बिग बॉस की फर्स्ट रनर अप रही, जबकि लोपामुद्रा राउत सेकंड रनर अप रहीं।
सलमान खान ने बिग बॉस 10 के ग्रैंड फिनाले का शानदार आगाज डांस किया। स्वामी ओम और प्रियंका जग्गा को छोड़कर ग्रैंड फिनाले में सभी कंटेस्टेंट्स मौजूद रहे। इसके साथ ही चारों फाइनालिस्ट्स के परिवार वाले भी शो में मेहमान बने।
शो मेें रितिक रोशन ने शो में सलमान खान के साथ रंग जमाया, वहीं मौनी रॉय ने भी शानदार परफॉर्मेंस दी। विजेता की घोषणा होने से पहले चारों कंटेस्टेंट्स को बिग बॉस ने रेस से बाहर होने का मौका दिया, जिसमें मनु पंजाबी ने बजर राउंड में 10 लाख रुपए लेकर शो छोड़ दिया। मनु की विदाई से मनवीर काफी इमोशनल नजर आए। मनु के जाने के बाद लोपामुद्रा, बानी जे और मनवीर शो में बाकी रहे, लेकिन वोटों के आधार पर लोपा बाहर हो गईं। फाइनल में जाने का मौका बानी और मनवीर को मिला। वोटों की गिनती के आधार पर विजेता का सेहरा मनवीर सिंह गुर्जर ​के सिर बंधा।

अब एटीएम से कैश निकालने की सीमा हुई ख़त्म -आरबीआई

नई दिल्ली। नोटबंदी की वजह से कैश की किल्लत झेल रहे लोगों को आरबीआई ने राहत दी है। एटीएम से अब एक दिन में 24 हजार रुपये निकाल सकेंगे। 
सोमवार को आरबीआई ने एटीएम से निकाली जाने वाली नकदी पर तय की गई सीमा को हटा लिया। आरबीआई का यह फैसला 1 फरवरी से शुरू होगा।
इससे पहले यह एक दिन में केवल 10 हजार निकालने की सुविधा दी गई थी। आरबीआई के नए आदेश के मुताबिक हफ्ते में नकदी निकासी की सीमा अब भी वही है, यानी 24 हजार रुपये आप चाहें तो एक हफ्ते में निकाले या एक दिन में।
बता दें कि चालू खाते से नकदी निकासी की सीमा हटा दी गई है। इससे पहले चालू खाते से एक दिन में एक लाख रुपये निकालने तक का प्रावधान रखा गया था।
नोटबंदी के फैसले के बाद से देश के एटीएमों ने एतिहासिक भीड़ देखी। नोटबंदी के शुरू में दिन में केवल 2000 रुपये निकालने की सीमा रखी गई, बाद ढाई हजार रुपये और फिर इसे बढ़ा कर साढ़े चार हजार रुपये किया गया।

सहायक व्यय प्रेक्षक को व्यय अनुवीक्षण तंत्र के अन्तर्गत दिया गया द्वितीय प्रशिक्षण

VPITSजौनपुर। जिला निर्वाचन अधिकारी भानुचन्द्र गोस्वामी के निर्देशानुसार नोडल अधिकारी व्यय अनुवीक्षण तंत्र राकेश सिंह ने बताया कि विधान सभा सामान्य निर्वाचन-2017 के दृष्टिगत व्यय अनुवीक्षण तंत्र के अन्तर्गत सहायक व्यय प्रेक्षक को द्वितीय प्रशिक्षण दिया गया। सर्वप्रथम विधान सभा सामान्य निर्वाचन 2017 हेतु निर्वाचन व्यय अनुवीक्षण तन्त्र के अन्तर्गत उपस्थित उपरोक्त समस्त पदाधिकारियो व सहायक व्यय प्रेक्षकों को विधान सभावार उनके कार्य एवं दायित्व के सम्बन्ध में प्रशिक्षण में विस्तार से अवगत कराया गया। सहायक व्यय प्रेक्षकों को जिला निर्वाचन अधिकारी एवं नोडल अधिकारी, व्यय अनुवीक्षण तन्त्र/मुख्य कोषाधिकारी स्तर से व्यय अनुवीक्षण की विभिन्न टीमों उड़नदस्ता एवं लेखा टीम व व्यय प्रेक्षक के आगमन पर उनसे सम्बन्धित कार्यो एवं भूमिका पर विस्तार से अवगत कराया गया। सहायक व्यय प्रेक्षकांे को विधानसभावार क्षेत्र में निरन्तर अपनी उपस्थिति बनाये रखते हुए आर.ओ. स्तर से प्राप्त समस्त अनुमति पत्रों, आम जन, विभिन्न कन्ट्रोल रूम व काल सेन्टर से प्राप्त सूचनाओं के आधार पर विभिन्न टीमो के बीच समन्वय स्थापित करते हुये रैली/घटना को अनुवीक्षण टीमों के माध्यम से कवर करते हुए लेखा टीम के माध्यम से लेखाकंन व फोल्डर आफ एविडेन्स तैयार करने के सम्बन्ध में विस्तार से अवगत कराया गया। 
उन्होंने बताया कि प्रथम प्रशिक्षण बैठक में दो सहायक व्यय प्रेक्षक अनुपस्थित रहे। आज के द्वितीय प्रशिक्षण तीन सहायक व्यय प्रेक्षक में जेविअर फैसिस सोरेग, इल्तिफात अली, सचिन जर्नाधन मोगिल यूनियन बैंक के अनुपस्थित रहने पर अप्रशन्ता व्यक्त किया।  उक्त तीनों सहायक व्यय प्रेक्षकों से जिला निर्वाचन अधिकारी के स्तर से स्पष्टीकरण मॉगा गया है। स्पष्टीकरण से संतुष्ट न होने पर कठोर कार्यवाही की जायेगी। इस अवसर पर एपी पाठक प्रभारी अधिकारी व्यय अनुवीक्षण तंत्र/डीएफओ, मीनाक्षी वर्मा प्रभारी अधिकारी शिकायत अनुवीक्षण नियत्रंण कक्ष एवं काल सेन्टर, नन्दराम कुरील सहायक व्यय प्रभारी/वित्त एवं लेखाधिकारी (बेसिक शिक्षा), सुभाष सिंह, सहायक व्यय प्रभारी/वित्त एवं लेखाधिकारी, (मा0शिक्षा), ओंकार सिंह सहायक सदस्य एम.सी.एम.सी., के.के. त्रिपाठी सदस्य एम.सी.एम.सी. उपस्थित रहे।

वकील की नकाबपोश बदमाशों ने की गोली मारकर हत्या

कानपुर देहात। जनपद के अमौर गांव घाटमपुर में कुछ नकाबपोश बदमाशों द्वारा एक वकील की घर में घुसकर हत्या कर देने का मामला प्रकाश में आया है। 
सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार डकैती के मकसद से आए बदमाशों ने वकील को गोली मारकर हत्या की, जबकि विरोध करने पर वकील की पत्नी पर कुल्हाड़ी से हमला कर दिया और नकदी समेत कुछ अहम कागजात लेकर फरार हो गए। वकील की पत्नी को इलाज हेतु अस्पताल में भर्ती करा दिया गया है। 
सूचना मिलने के कई घंटों बाद पहुंची पुलिस मामले की जांच में जुट गयी है। वकील की हत्या के बाद पूरे कानपुर के वकील भड़क उठे और बड़ी संख्या में वकीलों ने हैलेट हॉस्पिटल के सामने चक्काजाम कर दिया। 
हालांकि बाद में पुलिस ने आरोपियों की जल्द गिरफ्तारी का आश्वासन देकर जाम खुलवाया।

अब जीपीएफ के लिए नहीं लगाने पड़ेंगे बैंकों और कार्यालयों के चक्कर

नई दिल्ली। केंद्र सरकार ने रिटायर हुए सरकारी कर्मियों के लिए बजट से पहले खुशखबरी दे दी है। अब सरकारी कर्मियों को रिटायरमेंट के बाद ग्रॉस प्रोविडेंट फंड (जीपीएफ) को लेने के लिए भटकना नहीं पड़ेगा, अब ऐसे कर्मियों को रिटायर हो जाने के बाद उनको जीपीएफ लेने के लिए बैंकों और कार्यालयों के चक्कर नहीं लगाने पड़ेंगे।
सरकार ने सख्त आदेश जारी करते हुए कहा है कि, ऐसे भुगतान में देरी होने के मामले में संबंधित अधिकारियों के खिलाफ कारवाई की जाएगी।
सरकार को पिछले कई महीनों से ऐसे आधिकारियों के खिलाफ शिकायतें आ रही थीं, जिनमें अधिकारी जीपीएफ का भुगतान करने में देरी कर रहे थे। नियमों के अनुसार अगर जीपीएफ का भुगतान सेवानिवृत्ति के बाद नहीं किया जाता है तो उस पर ब्याज देना होता है। ऐसे में देरी से भुगतान होन से सरकार पर ब्याज का बोझ बढ़ता है।

शिकायत अनुवीक्षण नियंत्रण कक्ष/काल सेन्टर कि की गयी स्थापना - डीएम

जौनपुर। जिला निर्वाचन अधिकारी भानुचन्द्र गोस्वामी ने बताया कि विधानसभा सामान्य निर्वाचन- 2017 केे दृष्टिगत भारत निर्वाचन आयोग के निर्देशानुसार जिले स्तर पर व्यय अनुवीक्षण में लगे हुए विभिन्न कार्यकताओं के मध्य सम्पर्क के लिए शिकायत अनुवीक्षण नियंत्रण कक्ष एवं काल सेन्टर की स्थापना की गयी  है जिला समाज कल्याण अधिकारी सुश्री मीनाक्षी वर्मा को प्रभारी नियुक्त किया गया है।
जिला समाज कल्याण कार्यालय में लगे दूरभाष नम्बर 05452-261413 का उपयोग करते हुए कार्यालय के कर्मचारी सुश्री शिवानी आर्या कनिष्ठ सहायक, श्रीमती नीता श्रीवास्तव छात्रावास सहायक को प्रातः 6 बजे से अपरान्ह 2 बजे तक सुरेन्द्र प्रताप मौर्य व0स0, पुनीत कुमार, कनि0स0, 2 बजे से रात्रि 10 बजे तक तथा राजेश कुमार सिंह यादव, अर्जुन सोनकर सुपरवाइजर को रात्रि 10 बजे से प्रातः 6 बजे तक तीन सिफ्टवार काल सेन्टर में तैनात किया गया है। तैनात कर्मचारियों को व्यय से सम्बन्धित किसी भी प्रकार की शिकायत यथा प्रलोभन (रूपया, दारू, गिफ्ट आदि) के बारें में आमजन जानकारी दे सकते है। यह सेन्टर 24 गुणे 7 क्रियाशील है।

प्रशिक्षण में अनुपस्थित मतदान कार्मिक के विरुद्ध होगी प्राथमिकी दर्ज - जिला निर्वाचन अधिकारी

जौनपुर। जिला निर्वाचन अधिकारी भानुचन्द्र गोस्वामी ने बताया कि मतदान कार्मिकों के प्रशिक्षण में कोई मतदान कार्मिक यदि अनुपस्थित पाया जायेगा तो उसके विरूद्ध प्राथमिकी के साथ ही विभागीय कार्यवाही भी की जायेगी। उन्होंने बताया कि प्रशिक्षण में यदि किसी मतदान कार्मिक को कोई अपरिहार्य स्थित में प्रशिक्षण में भाग लेने में असुविधा है तो प्रशिक्षण से पूर्व विभागाध्यक्ष की स्पष्ट संस्तृति से प्रभारी अधिकारी मतदान कार्मिक/सीडीओ से अवकाश स्वीकृति कराना होगा। जिला निर्वाचन अधिकारी ने बताया कि मतदान ड्यूटी कटवाने वाले मतदान कार्मिकों के विरुद्ध कठोर कार्यवाही की जायेंगी। उन्होंने बताया कि टीडी इण्टर कालेज में पीठासीन अधिकारी तथा मतदान अधिकारी प्रथम का प्रशिक्षण दो पालियों में 6 फरवरी 2017 को प्रथम पाली 9-30 से 12-30 बजे तक कोड संख्या 1 से लेकर 1000 तक द्वितीय पाली अपरान्ह 1-30 बजे से 4-30 बजे तक कोड संख्या 1001 से 2000 तक, 7 फरवरी 2017 को प्रथम पाली में कोड संख्या 2001 से लेकर 3000 तक द्वितीय पाली अपरान्ह में कोड संख्या 3001 से 4000 तक, 8 फरवरी 2017 को प्रथम पाली में कोड संख्या 4001 से लेकर 5000 तक द्वितीय पाली में कोड संख्या 5001 से 6000 तक, 9 फरवरी 2017 को प्रथम पाली में कोड संख्या 6001 से लेकर 7000 तक द्वितीय पाली में कोड संख्या 7001 से 8000 तक, 10 फरवरी 2017 को प्रथम पाली में कोड संख्या 8001 से लेकर 9048 तक के मतदान कार्मिकों को प्रशिक्षण दिया जायेगा।   

डीएम के शख्त निर्देश कार्मिकों को प्रशिक्षण से दो दिन पूर्व नियुक्ति पत्र अवश्य उपलब्ध हो जाय

जौनपुर। आज पूर्वान्ह एनआईसी में जिला निर्वाचन अधिकारी भानुचन्द्र गोस्वामी ने विधानसभा सामान्य निर्वाचन 2017 को सकुशल, निष्पक्ष, शान्तिपूर्ण सम्पन्न कराने के लिए मतदान कार्मिकों की ड्यूटी रेडमाइजेशन के द्वारा किया तथा प्रभारी अधिकारी मतदान कार्मिक शीतला प्रसाद श्रीवास्तव को कार्मिकों की नियुक्ति पत्र तद्नुसार निर्गत करने का निर्देश दिया साथ ही यह भी सुनिश्चित करने का निर्देश दिया कि कार्मिकों को प्रशिक्षण से दो दिन पूर्व नियुक्ति पत्र अवश्य उपलब्ध हो जाय। 
उन्होंने बताया कि टीडी इण्टर कालेज में 6 फरवरी से दो पालियों में पीठासीन अधिकारी एवं मतदान अधिकारी प्रथम का प्रशिक्षण दिया जायेगा। इस अवसर पर उपजिला निर्वाचन अधिकारी उमाकान्त त्रिपाठी, सहा. प्रभारी अधिकारी मतदान कार्मिक दयाराम, उमाशंकर वर्मा, सहा. निर्वाचन अधिकारी रमाकान्त राम उपस्थित रहे।  

कलेक्ट्रेट सभागार में राष्ट्रपिता महात्मागांधी की पुण्यतिथि पर दी गयी श्रद्धांजलि

जौनपुर। आज पूर्वान्ह 11 बजे कलेक्ट्रेट सभागार में जिलाधिकारी भानुचन्द्र गोस्वामी की अध्यक्षता में राष्ट्रपिता महात्मागांधी की पुण्यतिथि पर दो मिनट का मौन रखकर श्रद्धांजलि अर्पित की गयी। 
इस अवसर पर सीडीओ शीतला प्रसाद श्रीवास्तव, अपर जिलाधिकारी उमाकान्त त्रिपाठी, नगर मजिस्ट्रेट रत्नाकर मिश्र, डिप्टी कलेक्टर डा. केएस पाण्डेय, कलेक्ट्रेट कर्मचारी संघ के अध्यक्ष विजय प्रताप सिंह, मंत्री यतेन्द्र कुमार यादव, चन्द्रशेखर सिंह, राधेश्याम यादव, सुनील कुमार सिंह, रमेश श्रीवास्तव, आशीष त्रिपाठी सहित अन्य कर्मचारीगण भी उपस्थित रहे।

सपा से अलग बना नया संगठन : 'मुलायम के लोग'

इटावा। अपने गढ़ में ही समाजवादी पार्टी दो फाड़ हो गयी है। मुलायम और शिवपाल के नाम से, सपा से अलग नया संगठन बना है। जिसका नाम 'मुलायम के लोग' नाम से नया संगठन बनाया गया है। 
बता दें कि इस समय अखिलेश के मंत्री भी बागी हो गए हैं। शारदा प्रताप निर्दली चुनाव लड़ेंगे। उन्होंने कहा कि अखिलेश ने मेरा नाम नहीं दिया लेकिन मेरे पास नेता जी का पूरा साथ है, मेरे लिए नेता जी प्रचार करेंगे।

साईकिल छोड़ हाथी पर सवार हुए अखिलेश सरकार में कैबिनेट मंत्री रहे नारद राय

 नारद राय बीएसपी में शामिल
नई दिल्ली। यूपी विधानसभा चुनाव से पहले समाजवादी पार्टी को बड़ा झटका लगा है।
सूत्रों के मुताबिक अखिलेश सरकार में कैबिनेट मंत्री रहे नारद राय अब साईकिल छोड़ हाथी पर सवार हो गये हैं ,यानि की बीएसपी में शामिल हो गए हैं। नारद राय को बलिया सदर से टिकट दिया गया है।
गौरतलब है कि हाल ही में बीएसपी में शामिल हुए विधान परिषद सदस्य अम्बिका चौधरी ने इस बात की पुष्टि की है कि नारद राय बीएसपी में शामिल हो गए हैं। उन्होंने बताया कि नारद राय को बसपा ने बलिया सदर से उम्मीदवार बनाया है।
आपको बता दें कि नारद राय अखिलेश सरकार में खादी ग्रामोद्योग, खेलकूद व विज्ञान व तकनीकी विभाग में कैबिनेट मंत्री थे। नारद राय मौजूदा शिवपाल सिंह यादव के बेहद नजदीकी माने जाते हैं।
हालाँकि चुनाव की तारीख घोषित होने से पहले मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने नारद राय को मंत्रिपरिषद से बर्खास्त कर दिया था।

आसाराम बापू की जमानत याचिका ख़ारिज -सुप्रीम कोर्ट

Image result for आसाराम जमानतनई दिल्ली। रेप केस में सजा काट रहे आसाराम बापू की जमानत याचिका सुप्रीम कोर्ट ने खारिज कर दी है। साथ ही कोर्ट ने उन पर 1 लाख रुपये का जुर्माना भी लगाया है। 
सूत्रों के मुताबिक स्वास्थ्य के आधार पर आसाराम बापू ने कोर्ट में जमानत की अपील की थी लेकिन सर्वोच्च न्यायलय ने उनकी जमानत याचिका रद्द करते हुए कहा कि अभी ऐसी कोई जरूरत नहीं है कि उनको जमानत दी जाये। 
साथ ही सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि इस तरह की गलत मेडिकल याचिका की अपील करने पर आसाराम बापू पर एक नई एफआईआर दर्ज की जाये और 1 लाख रुपये का जुर्माना भी लगाया जाये। 
बता दें कि आसाराम बापू की ये सातवीं याचिका थी जिसको सुप्रीम कोर्ट ने रद्द किया है।

बस और ट्रक की भि‍ड़ंत में 8 की मौत, 32 लोग जख्मी

Image result for इमेज ऑफ़ गोरखपुर बस और ट्रक में भिडंतगोरखपुर। जनपद के NH-28 पर बस और ट्रक की जोरदार भि‍ड़ंत से बस में सवार 8 लोगों की मौत हो गई जबकि 32 लोग गंभीर रूप से घायल हो गए हैं, जिन्हें इलाज हेतु अस्पातल में भर्ती करा दिया गया है। 
सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार हादसे के समय सड़क पर घना कोहरा था, सोमवार सुबह करीब 8 बजे घने कोहरे के कारण ड्राइवर को सामने से आ रहा ट्रक नहीं दि‍खा और बस की स्‍पीड ज्यादा थी जिससे ड्राइवर ने जब ट्रक को देखा तो बस को कंट्रोल नहीं कर पाया और उसकी ट्रक से टक्कर हो गई।
सूत्रों के मुताबिक गोरखपुर जनपद के खजनी थाना क्षेत्र से बच्‍चे के मुंडन संस्‍कार में शामि‍ल होने करीब 45 लोग बस से अयोध्‍या जा रहे थे। 
सूचना मिलते ही मौके पर पहुंची पुलि‍स और आला अधि‍कारी घायलों को इलाज के लि‍ए अस्‍पताल भि‍जवाये। संत कबीर नगर के डीएम की मानें तो इस हादसे में 8 लोगों की मौत हुई है, जबकि 32 लोग घायल हो गए हैं जिनका इलाज अस्पताल में चल रहा है।

Sunday, January 29, 2017

आज है बापू की 69वीं पुण्यतिथि,जानिए नाथूराम गोडसे ने कैसे की हत्या ?

Related imageनई दिल्ली। भारत के राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की 30 जनवरी 1948 में गोली मार कर हत्या कर दी गई थी। गांधी जी को आदर्श मानने वाले नाथूराम गोडसे ने पाकिस्तान के विभाजन के फैसले के विरोध में इस कदम को उठाया था।
गोडसे ने गांधी जी पर एक के बाद एक करके तीन गोलियां दाग दीं जब तक किसी को कुछ समझ आता बापू की मौत हो चुकी थी। गांधी जी की हत्या करने के बाद गोडसे ने आत्मसमर्पण कर दिया था। गोडसे समेत 17 दोषियों पर गांधी की हत्या का मुकदमा चलाया गया था। l
पाकिस्तान को दी जाने वाली 55 करोड़ की आर्थिक मदद के लिए गांधी जी सहमति के बाद ही गोडसे को हत्या करने की योजना बनाई। इस योजना में उसके साथ नारायण आप्टे और विष्णु रामकृष्ण करकरे भी शामिल थे।
Image result for इमेज ऑफ़ बापू की पुण्यतिथि योजना के अनुसार करकरे ने पहले ही दिल्ली पहुंचकर माहौल का जायजा लिया। फिर 27 जनवरी को आप्टे और गोडसे दिल्ली पहुंचे। हालांकि दिल्ली पहुंचने के बाद गोडसे को मालूम चला कि रिवाल्वर का इंतजाम नहीं हो पाया है। इसके बाद एक तरकीब के तहत भोपाल से एक सेमी-ऑटोमैटिक रिवाल्वर का इंतजाम किया गया।
30 जनवरी को दोपहर करीब 3 बजे गोडसे, आप्टे और करकरे बिड़ला हाउस के लिए निकले। गोडसे ने आप्टे और करकरे से कहा कि पहले वो हाउस में घुसेगा, बाद में वो दोनों आएंगे। गोडसे जब बिड़ला हाउस पहुंचा तो वहां कुछ खास तलाशी नहीं हो रही थी, जिस कारण वह आराम से पिस्तौल लेकर अंदर घुस गया।
प्रार्थना सभा की ओर जा रहे गांधी जी के करीब पहुंचते ही गोडसे ने उन्हें तीन गोलियां मार दी। गांधी जी ने तीन अक्षर... हे राम के साथ दुनिया को अलविदा कह दिया।
गांधी जी की हत्या करने का यह पहला प्रयास नहीं था। इससे पहले 20 जनवरी 1948 को ही प्रार्थना सभा से करीब 75 फीट दूर एक बम फेंका गया था। इस कांड के दौरान मदनलाल पाहवा नाम का एक व्यक्ति गिरफ्तार किया गया था, जबकि 6 अन्य लोग टैक्सी से भाग गए थे।
गांधी जी को मारने की 1934 से यह पांचवीं कोशिश थी।

इंफोसिस के महिला इंजीनियर की कंप्यूटर केबल से गला घोंट कर हत्या

engineer
नई दिल्ली। पुणे हिंजवाडी इलाके के राजीव गांधी इंफोटेक पार्क के फेज 2 में स्थित मल्टीनेशनल कंपनी इंफोसिस के ऑफिस के अंदर एक महिला सॉफ्टवेयर इंजीनियर की हत्या कर दिए जाने का मामला प्रकाश में आया है। 
सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार मूल रुप से केरल की रहने वाली 25 साल की के. रासिला की ऑफिस के भीतर कंप्यूटर के तार से गला घोंट कर हत्या कर दी गई, ये घटना बिल्डिंग की नौवीं मंजिल पर हुई।
सूचना मिलते ही मौके पर पहुंची पुलिस ने आरोपी सेक्युरिटी गार्ड को मुबंई से गिरफ्तार कर लिया है।
सहायक पुलिस आयुक्त वैशाली जाधव की मानें तो यह घटना रविवार शाम में पांच बजे के आसपास घटित हुई होगी, लेकिन हमें देर शाम करीब आठ बजे इसकी जानकारी मिली।
पुलिस के अनुसार रविवार को रासिला काम कर रही थी जबकि बेंगलुरु में उसके दो सहकर्मी ऑनलाइन थे। रासिला को उसके मैनेजर ने कई फोन किए थे, लेकिन जवाब नहीं मिलने पर उसने सेक्योरिटी गार्ड को देखकर आने को कहा था। सेक्योरिटी गार्ड ने केबिन में रासिला को जमीन पर गिरे हुए पाया।
इस घटना पर कंपनी ने बयान जारी कर कहा कि हम इस अपने साथी की मौत की खबर से दुखी और चकित है। अपने साथी के परिवार और दोस्तों के साथ हमारी सांत्वना है। हम पुलिस और जांच में पूरी तरह से मदद कर रहे है।

2000 के आधे छपे हुए नोट के साथ एक शख्स गिरफ्तार

Image result for इमेज ऑफ़ नकली नोट 2000 नई दिल्ली। दिल्ली पुलिस ने 2000 के आधे छपे हुए नोट के साथ एक शख्स को गिरफ्तार किया है। साथ में नोट छापने का सामान जैसे प्रिंटर,स्कैनर,कटर बरामद हुआ है।
सूत्रों के मुताबिक बीते शनिवार को इसी गया गैंग के 3 लोगों को पुलिस ने गिरफ्तार किया था जिनके पास से 18 लाख के 2000 रूपये के नकली नोट बरामद हुए थे।आरोपी युवक का नाम सुमित बताया जा रहा है। 
सूत्रों की मानें तो स्कैनिंग के जरिए 2000 के असली नोट को प्रिंट कर आसानी से नकली नोट बनाए जा रहे थे और दिल्ली के हवाला कारोबारी और सटोरियों को ये नोट सप्लाई हो रहे थे। 
दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल के मुताबिक जैसे ही ये पता चला कि दिल्ली में नकली नोट बन रहे है और उन्हे आगे भेजा जा  रहा है, दिल्ली पुलिस ने नरेला इलाके से आजाद मनोज और सुनील को गिरफ्तार किया औऱ उसके बाद खुलासा हुआ कि कैसे नोटबंदी के बाद 2000 के असली नोट को स्कैनिंग के जरिये प्रिंट कर 2000 का नकली नोट तैयार किया जा रहा था।
विश्वसनीय सूत्रों के मुताबिक नकली नोट तैयार करने के लिए पश्चिमी दिल्ली के एक घऱ में एक प्रिटिंग मशीन लगाई गई थी औऱ उम्दा क्वालिटी के पेपर के जरिए 2000 के असली नोट को स्कैन कर प्रिंट किया जाता था उसके बाद उसे बड़ी ही बारीकी से कटिंग कर असली नोट की ग़डडी के बीच नकली नोट रखकर आगे सप्लाई किया जा रहा था।
फ़िलहाल पुलिस ने गिरफ्तार आरोपियों से पूछताछ के जरिये नोट छापने वाले गिरोह के अन्य लोगों की खोजबीन में जुट गयी है।

चित्रगुप्त धर्मशाला के अध्यक्ष के माता के निधन पर कायस्थ महासभा ने शोक संवेदना प्रकट किया

जौनपुर। धनपत सहाय चित्रगुप्त धर्मशाला के रुहट्टा के अध्यक्ष अशोक कुमार श्रीवास्तव जी के माता जी मुन्नी देवी का आज्ञ शाम निधन हो गया। उनके निधन की सूचना मिलते ही उनके आवास पर शोक संवेदना व्यक्त करने वालों का तांता लग गया। 
निधन की सूचना मिलते ही अखिल भारतीय कायस्थ महासभा के अध्यक्ष डा० कृष्ण कुमार श्रीवास्तव की अध्यक्षता में एक शोक सभा उनके आवास पर किया गया। दो मिनट मौन रखकर मृत आत्मा की शांति के लिए ईश्वर से प्रार्थना किया गया। 
इस दुःख की घडी में पूरा कायस्थ परिवार उनके साथ है। 
उनका अंतिम संस्कार कल दोपहर वाराणसी के मणिकर्णिका घाट पर किया जाएगा। शोक सभा में प्रमुख रूप से संजय श्रीवास्तव एडवोकेट, राजेश श्रीवास्तव बच्चा भईया, विश्वप्रकाश श्रीवास्तव (दीपक), नीलमणि श्रीवास्तव, राकेश श्रीवास्तव, साधु मयंक श्रीवास्तव, राजेश किशोर , प्रदीप , विजय कुँवर अष्ठाना, अमित श्रीवास्तव, गौरव श्रीवास्तव, आदि लोग उपस्थित रहे। राज्यसभा सांसद आर के सिन्हा ने फोन से वार्ताकर शोक संवेदना प्रकट किया साथ ही मनीष श्रीवास्तव राष्ट्रीय संयोजक अखिल भारतीय कायस्थ महासभा ने भी शोक संवेदना व्यक्त किया। 

भारत-पाक सीमा पर पाकिस्तानी और चीनी हथियार बरामद

pakistani and chinese weapons found on in indo pak border in amritsar of punjab बीएसएफ अफसरों में हड़कंप
नई दिल्ली। विधानसभा चुनाव 2017 की सरगर्मियों के बीच चौंका देने वाली घटना प्रकाश में आई है। भारत पाक सीमा पर पाकिस्तानी और चीनी हथियार बरामद हुए हैं। 
सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार अमृतसर सेक्टर की बीओपी दाऊके के पास मिले इन हथियारों को देखकर बीएसएफ अफसरों के होश उड़ गए, पूरे विभाग में हड़कंप मच गया। आनन फानन में बॉर्डर पर सिक्योरिटी बढ़ाई गई, साथ ही सर्च अभियान भी चलाया गया। 
बीएसएफ अधिकारियों की मानें तो उन्हें पाकिस्तान से असलहा आने की गुप्त सूचना मिली थी, जिसके चलते पहले से ही बॉर्डर पर सतर्कता बढ़ा दी गई थी।
सूत्रों के मुताबिक विधानसभा चुनाव के चलते पंजाब से सटी भारत-पाकिस्तान की सीमा पर चौकसी बढ़ाई हुई है। बीएसएफ को गुप्त सूचना मिली थी कि पाक से हथियारों की खेप भारत में आ चुकी है, जिसे सरहद पर ही किसी गुप्त जगह पर छिपाया है।